बांस के खोखले तने में प्रजनन करने वाला दुर्लभ मेंढ़क

By: | Last Updated: Sunday, 2 November 2014 6:06 AM
frog in stem

नई दिल्ली: लगभग एक सदी तक लुप्त समझे जाते रहे सफेद धब्बों वाले मेंढ़क के प्रजनन का तरीका बहुत विशिष्ट है . ये मेंढ़क बांस के खोखले तने में अंडे देने के बाद उन्हें सेते हैं. मेंढ़क की इस प्रजाति का कुछ साल पहले दोबारा पता चला है .

 

निजी शोध संस्थान गुब्बी लैब्स ने एक विज्ञप्ति में बताया कि नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर के पीएचडी छात्र शेषाद्रि के एस, उनके शोध सलाहकार डेविड बिकफोर्ड और सहयोगी बेंगलूरू स्थित भारतीय विज्ञान संस्थान के गुरूराजा केवी ने पश्चिमी घाट में स्थित कलाकड मुंडनथुराई बाघ अभयारण्य में इस मेंढक की अब तक अज्ञात रही इस प्रजनन संबंधी आदत का पता लगाया है.

 

नर मेंढ़क छोटी खुली जगहों से बांस के खोखले तने में घुसते हैं और फिर मादा मेंढ़क उनके पीछे वहां जाती हैं. मादा मेंढ़क फिर वहां अंडे देती हैं और उन्हें सेती हैं. नर मेंढ़क फिर अंडों और नवजात मेंढ़कों के साथ वहीं रहते हैं और उनकी देखभाल करते हैं.

 

इन मेंढ़कों (रैओरचेस्टेस कैलाजोडे) का रंग हरा होता है और इनकी लंबाई तीन सेंटीमीटर से कम होती है. ये ‘वृक्ष मेंढ़कों’ (रैकोफोरीडाई या रैओरचेस्टेस) के विविध समूह का हिस्सा हैं.

 

इन मेंढ़कों को एक सदी तक विलुप्त माना जाता रहा था लेकिन कुछ साल पहले इस अभयारण्य में दोबारा इनकी खोज हुई. इस समय ये मेंढ़क ‘‘लुप्तप्राय’ जीवों की श्रेणी में आते हैं.

Ajab Gajzab News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: frog in stem
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Frog Raorchestes
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017