'फंटरवल' से बदलेगा बच्चों का व्यवहार

By: | Last Updated: Sunday, 2 November 2014 1:05 PM
funterval-child-behavior

टोरंटो: प्राथमिक विद्यालयों के छात्रों में चार मिनट की शारीरिक चपलता कक्षा में उनके व्यवहार को बदल सकती है. यह बात एक शोध में सामने आई है.

 

कक्षा दो और चार के छात्रों के लिए एक बहुत छोटे अंतराल में उच्च तीव्रता के क्रियाकलाप या फिर फंटरवल (पढ़ाई के दौरान बच्चों को खेलने के लिए दिया गया समय) उनके कक्षा में चंचलता और आनाकानी जैसे व्यवहारों में कमी ला सकता है. फंटरवल में आप बच्चों से कोई भी छोटे-मोटे खेल खेलने के लिए कह सकते हैं.

 

कनाडा के क्वींस विश्वविद्यालय में मुख्य शोधकर्ता और प्राध्यापक ब्रेनडन गुर्ड ने कहा, “वर्तमान समय के स्कूल पाठ्यक्रम में समय की कमी होती है, इसीलिए हमने डेली फिजिकल एक्टिविटी (डीपीए) को इजाद किया, इसके मुताबिक शारीरिक क्रियाकलापों के लिए बहुत छोटे-छोटे अंतराल की छुट्टी मिलनी चाहिए जो बड़ा ही रुचिकर होगा.”

 

शोध के दौरान छात्रों को कक्षा में पढ़ाने के बाद फंटरवल के लिए छुट्टी दी गई. शोध में पाया गया कि जिन छात्रों को फंटरवल मिला था वो चार मिनट के बाद अगले 50 मिनट तक ध्यान लगाकर कक्षा में पढ़ते रहे वहीं जिन्हें फंटरवल नहीं मिला था उनका कक्षा में ध्यान लगातार टूटता रहा. यह शोध पत्रिका फिजियोलॉजी, न्यूट्रीशियन और उपापचय में छपा है.

Ajab Gajzab News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: funterval-child-behavior
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP behavior child funterval
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017