सर्वप्रथम चीन ने मुर्गियों को बनाया पालतू

By: | Last Updated: Sunday, 30 November 2014 1:25 PM
hen pet in china

न्यूयार्क: मानव सभ्यता के इतिहास में मुर्गियों को सबसे पहले पालतू बनाए जाने के प्रमाण अब तक सिंधु घाटी की सभ्यता में मिलने की बात प्रचलित थी, लेकिन एक नए शोध के अनुसार, चीन ने सबसे पहले जंगली मुर्गियों को पालतू बनाया था.

 

अंतर्राष्ट्रीय वैज्ञानिकों के एक दल ने अपने ताजा शोध के बाद भारत और पाकिस्तान में फैली सिंधु घाटी की सभ्यता की बजाय चीन को मुर्गियों को सबसे पहले पालतू बनाए जाने का श्रेय दिया है.

 

शोधकर्ताओं ने चीन के उत्तरी हिस्से से मिले मुर्गी के 10,000 वर्ष पुराने जीवाश्म की डीएनए संरचना का अध्ययन करने के बाद पाया कि पृथ्वी पर पाई गई सबसे प्राचीन मुर्गी के जीवाश्म से भी यह कई हजार वर्ष पुरानी है.

 

शोध के लेखकों ने कहा कि हमारे शोध परिणाम से पता चलता है कि मुर्गी का अब तक पाया गया यह सबसे प्राचीन जीवाश्म पालतू मुर्गी का है.

 

विज्ञान पत्रिका स्मिथसोनियन के अनुसार, इस अध्ययन से पहली मिला पक्षी का सबसे प्राचीन अवशेष आज से लगभग 4,000 वर्ष पुराना था. बीजिंग स्थित चीन कृषि विश्वविद्यालय के शिंगबो झाओ इस शोध-पत्र के सह लेखक हैं.

 

शोध पत्रिका ‘प्रोसीडिंग्स ऑफ द नेशनल एकैडमी ऑफ साइंसेज’ के ताजा अंक में प्रकाशित शोध-पत्र में झाओ ने कहा, “हमारे विश्लेषण से यह भी पता चलता है कि उत्तरी चीन के इस इलाके में पृथ्वी पर सबसे पहले मुर्गियों को पालतू बनाया गया था. इसकी अवधि ईसा से 10,000 वर्ष पहले मानी जा सकती है.”

 

शोधकर्ताओं ने उत्तरी चीन में पीली नदी के तट से लगे तीन पुरातात्विक स्थलों और पूर्वी चीन के एक स्थल से मिले पक्षी की हड्डियों के 39 अवशेषों का अध्ययन किया.

Ajab Gajzab News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: hen pet in china
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP China hen pet
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017