बिना प्रिस्क्रिप्शन के दवाओं का मकड़जाल, घर बैठे मिलती है वियाग्रा और नीद की गोली

By: | Last Updated: Saturday, 18 April 2015 12:58 PM
online_shopping

नई दिल्ली: खरीददारी का नया अड्डा बनते जा रहे ऑनलाइन सेल्लिंग पोर्टल नई चुनौतियां भी पेश कर रहे है. ऑनलाइन सेलिंग पोर्टल पर बिना डॉक्टर के पर्चे के दवाइया घर बैठे मिल रही है.

 

मुंबई में फूड और ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन विभाग ने स्नैपडील के दफ्तर पर छापेमारी कर कई दवाइयों को जब्त किया है जिन्हें बिना प्रिस्क्रिप्शन के ऑनलाइन बेचा जाता था.

 

एसकोरिल कफ सिरप और विगोरा जैसी सेक्स उत्तेजक दवा बिना डॉक्टरों और मेडिकल विशेषज्ञों के सलाह के बिना नहीं मिलती है, लेकिन वियाग्रा, नींद की गोली, कफ सिरफ और कई दवाइया स्नैपडील, अमेजन, फ्लिप कार्ट जैसे ऑनलाइन सेलिंग पोर्टल पर बुक कर घर बैठे फ्री डिलिवरी मिल रही थी.

 

बिना प्रिस्क्रिप्शन के ऑनलाइन दवाएं दिए जाने पर फूड ऐंड ड्रग अडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने  स्नैपडीलडॉटकॉम के गोरेगांव स्थित ऑफिस पर रेड डाली. शिकायतकर्ता के मुताबिक इस वेबसाइट के जरिए एसकोरिल कफ सिरप और विगोरा टैबलेट की सप्लाई की गई, जबकि ये दोनों प्रिस्क्रिप्शन ड्रग्स हैं.

 

कानून के मुताबिक  ड्रग ऐंड कॉस्मेटिक ऐक्ट, 1940 के सेक्शन 18(सी) के अनुसार केवल लाइसेंस प्राप्त रिटेलर ही, केवल डॉक्टर द्वारा जारी प्रिस्क्रिप्शन के आधार पर दवाएं दे सकते हैं.

 

ऐक्ट के अनुसार इस तरह दवाओं की ऑनलाइन बिक्री गैरकानूनी है. एफडीए ने सिर्फ प्रिस्क्रिप्शन के माध्यम से दी जाने वाली दवाओं के बेचे जाने पर स्नैपडील  ई-कॉमर्स वेबसाइट को गुरुवार को नोटिस जारी किया है. एफडीए को मिली शिकायत के अनुसार इस ई-कॉमर्स वेबसाइट के माध्यम से ऐसी दवाएं भी ग्राहकों को भेजी जा रही हैं, जिन्हें बिना प्रिस्क्रिप्शन के नहीं दिया जा सकता. 

 

दरअसल उत्तेजक दवाओ, कफ सिरफ़ जैसे कई दवाओ का उपयोग नशे के रूप में किया जाता है. आपको बताते है की किस तरह  स्नैपडील पर आसानी से बिना प्रिस्क्रिप्शन वाली दवाओ को खरीदकर घर बैठे फ्री डिलिवरी पाना आसान था .

 

डाक्टरों के मुताबिक बिना मान्यताप्राप्त डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के दवा लेना न केवल गुनाह है बल्कि अपने मनमुताबिक इलाज करना सेहत के लिए हानिकारक है. विशेषज्ञ डॉक्टर, मरीज की बीमारी, सेहत, उम्र को ध्यान में रखकर दवा और दवा खाने की अवधी तय करते है.

 

नीद की गोली, कई प्रकार के एंटीबायोटिक ,सेक्स उत्तेजक दवाई का इस्तेमाल और मात्रा डॉक्टर तय करते है इसलिए  ऑनलाइन बिना सुझाव  के दवाइयों की बिक्री सेहत से खिलवाड़ है . 

 

एफडीए ई-कॉमर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट और अमेजन के दफ्तरों पर भी कार्रवाई करेगा. इस घटना के बाद एफडीए ने इंटरनेट पर होने वाली दवाओं की बिक्री पर कड़े कदम उठाने की बात कही है.

Ajab Gajzab News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: online_shopping
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP India medicine online shopping
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017