सरपंच केस: ABP न्यूज़ की खबर का असर, ग्राम पंचायत सचिव सस्पेंड

By: | Last Updated: Saturday, 18 April 2015 4:34 PM

नई दिल्ली: देश में पचास प्रतिशत  महिला आरक्षण की बात बार बार दोहराई जाती रही है ऐसे में महिला आरक्षण की वास्तविक स्थिति को बताने वाला एक अनोखा घटनाक्रम सामने आया है हालांकि एबीपी न्यूज पर खबर चलने के बाद जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने सरपंच पद की शपथ दिलाने वाले ग्राम पंचायत सचिव को सस्पेंड करने का आदेश जारी कर दिया है.

एबीपी न्यूज  की खबर का असर हुआ है . खबर  चलने के बाद मध्य प्रदेश के शाजापुर जिला प्रशासन ने शपथ दिलाने वाले ग्राम पंचायत सचिव दुर्गा प्रसाद को सस्पेंड करने का आदेश जारी कर दिया है . वही सरपंच के पति नरेंद्र कुमार के खिलाफ कार्यवाही करने लिए आरटीओ विभाग को पत्र लिखा है. नरेंद्र कुमार उज्जैन के आरटीओ कार्यालय में गार्ड के पद पर कार्यरत है.

 

दरअसल शाजापुर जिले के शुजालपुर जनपद में हन्नूखेड़ी ग्राम पंचायत में सरपंच पद पर विजयी हुई महिला सरपंच के पति ने सरपंच पद  शपथ ली और विधिवत रूप ने पदभार ग्रहण किया. जिसका वीडियो वायरल हो गया है.

 

एबीपी न्यूज खबर चलने के बाद मध्य प्रदेश के शाहजहांपुर जिला का प्रशासन हरकत में आया और ताबड़ तोड़ कार्यवाही करते हुए जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी मुकेश शुक्ल ने महिला सरपंच के पति को सरपंच पद की शपथ दिलाने वाले ग्राम पंचायत सचिव दुर्गा प्रसाद धनगर को सस्पेंड करने का आदेश जारी कर दिया वही सरपंच पति नरेंद्र कुमार के खिलाफ कार्यवाही करने लिए आरटीओ विभाग को पत्र लिखा है. नरेंद्र कुमार उज्जैन के आरटीओ कार्यालय में आरक्षक के पद पर कार्यरत है. मामला २४ मार्च का है.

 

आपको बता दें कि हन्नूखेड़ी ग्राम पंचायत सरपंच पद महिला के लिए आरक्षित है जिस पर लक्ष्मी बाई पति नरेंद्र कुमार ३०० मतों से चुनाव में जीती लेकिन जब पद ग्रहण करने की बारी आई तो पति नरेंद्र कुमार ने खुद ही शपथ ले ली.

 

ग्राम पंचायत के सचिव दुर्गा प्रसाद धनगर ने विधिवत रूप से नरेंद्र कुमार को सरपंच का चार्ज भी दिलाया. अब दुर्गा प्रसाद का चौंकाने वाला बयान यह है की सब कुछ नियम के मुताबिक हुआ है.

 

गौरतलब है की नरेंद्र कुमार उज्जैन स्थित आर टी ओ कार्यालय में आरक्षक के पद पर पदस्थ है. एक सरकारी मुलाजिम होने के बावजूद नरेंद्र कुमार ने यह सब किया.

 

देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था को चुनौती देने वाला यह कृत्य कोई पहली बार नहीं हुआ. यह तो बस एक नमूना है जो सामने आ गया. घूँघट की आड़ में रहनी वाली महिला जनप्रतिनिधियो को हालत को बयान करने के लिए शब्द कम पड़ जाएंगे.

 

घटना का वीडियो जब उजागर हुआ तो जनपद के मुख्या कार्यपालन अधिकारी  अमित कुमार जिले के कलेक्टर को चिट्ठी लिख कर कार्यवाही की बात कर रहे है.

 

यहां देखें वीडियो:

सरपंच केस: ग्राम पंचायत सचिव सस्पेंड 

Ajab Gajzab News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Shajapur_sarpanch
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017