VIDEO : ये हर लड़की की जिंदगी का हिस्सा है, इसे लोगों से छुपाना क्यों?

By: | Last Updated: Wednesday, 26 November 2014 3:01 PM
WHY WE ARE NOT READY TO ACCEPT OUR PREIOD PROBLEM

नई दिल्ली: भारतीय समाज में लड़कियों की हिस्सेदारी 49 प्रतिशत है, देश में महिलाओं के सशक्तिकरण की बात होती है फिर भी महिलाएं  अपनी जिंदगी की ऐसी चीजों के छुपाने की कोशिश करती हैं जो उनकी शारीरिक गतिविधियों का हिस्सा है.

 

हम बात कर रहे हैं महिलाओं को होने वाली पीरीयड (मासिक चक्र) की. जिसे लेकर महिलाएं ऐसा बर्ताव करती हैं जैसे मानों ये उनकी गलती का फलसफा है. पीरीयड में इस्तेमाल होने वाले सेनेट्री पैड को लड़किया ऐसे छिप-छिपा कर रखती हैं जैसे उनके पास बम हो.

 

वुमेन बॉडी स्ट्रक्चर के तहत होने वाले पीरीयड को समाज की नजरों से इस कदर छिपाना क्यों जैसे आप कोई गैर-कानूनी अवस्था में हैं?

 

ये वक्त है बदलने का! देश की सभी महिलाओं को 21वीं सदी में जीते हुए ये भी कबूल करना चाहिए की ये कौई ऐसी परेशानी नहीं है जिसे लोगों की नजरों से छुपाया जाय बल्कि ये भी महिलाओं की आम जिंदगी का हिस्सा है.

 

इस बात को समझाते हुए Whisper (सैनेट्री पैड्स कंपनी) ने एक 30 सेकेंड की वीडियो क्लिप जारी की है जिसे देख शायद हर लड़की इस बात से इत्तेफाक करेगी.