मानसिक क्षमता बनाए रखने के लिए बढ़ाएं शब्दभंडार

By: | Last Updated: Friday, 24 October 2014 11:32 AM
word-bank-world

लंदन: एक अध्ययन में पता चला है कि शब्द भंडार बढ़ाना उम्र बढ़ने के साथ होने वाले संज्ञानात्मक ह्रास (डिमेंशिया) से सुरक्षा प्रदान करने में मददगार होता है. एक विशाल शब्दभंडार मस्तिष्क की संज्ञानात्मक क्षमता को बढ़ाने और खोए याददाश्त की क्षतिपूर्ति करने में मददगार हो सकता है. इसे कॉग्निटिव रिजर्व का नाम दिया गया है.

 

शोधकर्ताओं ने कहा, “समृद्ध शब्दभंडार बेहतर कॉग्निटिव रिजर्व का पैमाना मानी जाती है, जो मस्तिष्क की संज्ञानात्मक क्षति भरपाई कर देती है.”

 

स्पेन की यूनिवर्सिटी ऑफ सेनटियागो डे कॉम्पोस्टेला की क्रिस्टीना लोजो सिओनी ने कहा, “हमने व्यक्ति के शब्द ज्ञान के भंडार के स्तर पर ध्यान केंद्रित किया, क्योंकि इसे क्रिस्टलाइज्ड इंटेलीजेंस का सूचक माना जाता है, जिसका अर्थ अतीत का बौद्धिक कौशल है.”

 

इस अध्ययन में 50 से ऊपर की उम्र के 326 लोगों को शामिल किया गया, जिनमें 222 मानसिक रूप से स्वस्थ और हृष्ट-पुष्ट व्यक्तियों और 104 हल्के संज्ञानात्मक दोष वाले व्यक्तियों को लिया गया.

 

शोध में जिन प्रतिभागियों की शब्दावली कमजोर थी, उनमें संज्ञानात्मक दोष पाया गया. यह अध्ययन जर्नल एनालीस दे साइकोलोजिया (एनल्स ऑफ साइकोलॉजी) में प्रकाशित हुआ है.

Ajab Gajzab News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: word-bank-world
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP mental word bank
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017