योगी के ‘गुलाब’ गुल मोहम्मद खान

Monday, 20 March 2017 4:08 PM | Comments (0)
योगी के ‘गुलाब’ गुल मोहम्मद खान

ब्रजेश सिंह

एडिटर, एबीपी अस्मिता

देश के सबसे बड़े राज्य की कमान बतौर मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने कल संभाल ली. लेकिन मुख्यमंत्री बनने के पहले ही उनके आलोचक ये सवाल खड़ा करने में लग गये हैं कि आखिर योगी राज में मुस्लिम कैसे सुरक्षित महसूस कर सकते हैं, जिनके खिलाफ वो ज़हर उगलते रहे हैं. सवाल पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर भी खड़ा किया जा रहा है कि आखिर क्या सोचकर आदित्यनाथ योगी को यूपी का मुख्यमंत्री बनाया गया, वो भी तब जब चुनाव में मोदी ने उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने के वादे के साथ लोगों से वोट मांगे थे.

आलोचक तो ये तक कहने में लग गये हैं कि योगी की बतौर सीएम नियुक्ति के साथ ही मोदी का विकास वाला मुखौटा उतर गया है और मोदी सिर्फ कट्टर हिंदू राजनीति को प्रोत्साहन देने में लगे हैं देश के सबसे बड़े राज्य में. आलोचना के इस दौर में जब योगी आदित्यनाथ को मुस्लिम समाज के लिए सबसे बड़े खलनायक के तौर पर पेश किया जा रहा है, योगी के जीवन की एक कहानी ऐसी है, जो इससे उलट तस्वीर पेश करती है. ये कहानी शुरू होती है विसनगर से, जहां के एक कॉलेज से खुद मोदी ने बारहवीं की पढ़ाई की थी.

इस कहानी के केंद्र में रहे हैं गुलाबनाथ महाराज, जिनकी योगी आदित्यनाथ काफी इज्जत किया करते थे. गुलाबनाथ महाराज का मूल नाम गुल मोहम्मद खान था. गुल मोहम्मद खान बगल के बनासकांठा जिले के वडगाम तालुका के पसवादर गांव में एक मुस्लिम परिवार में जन्मे थे. गुल मोहम्मद के पूर्वज पठान थे और अफगानिस्तान से आकर गुजरात के इस हिस्से में बसे थे.

गुल मोहम्मद खान बचपन से ही हिंदू दर्शन और अध्यात्म में रुचि दिखाने लगे थे. उनके पिता असीम खान भी नाथ संप्रदाय के संतों की इज्जत किया करते थे. ऐसे में किशोरवस्था पूरी होते-होते गुल मोहम्मद नाथ संप्रदाय के संत बालकनाथजी के काफी करीब आ गये और आगे चलकर बालकनाथ जी से दीक्षा लेकर ही नये अवतार में आये, बन गये गुलाबनाथ. यही गुलाबनाथ आगे चलकर नाथ संप्रदाय के विसनगर मंदिर के गादीपति भी बने और साठ साल तक इस जिम्मेदारी को निभाते रहे.

yogi guj 2

इस दौरान गुलाबनाथ के प्रति लोगों की श्रद्धा बढ़ती चली गई. न सिर्फ चौधरी, पटेल या फिर पांचाल समुदाय के लोगों में गुलाबनाथ महाराज का प्रभाव बढ़ा, बल्कि मुंबई ही नहीं, बाद के वर्षों में विदेश में भी उनके भक्तों की संख्या बढ़ती चली गई. एक मोटे अनुमान के मुताबिक करीब दस लाख लोग गुलाबनाथ महाराज के प्रभाव में थे और उनके प्रति श्रद्धा रखते थे.

सवाल ये उठता है कि गुलाबनाथ और योगी आदित्यनाथ के बीच नजदीकी कैसे बढ़ी. दरअसल उम्र में योगी आदित्यनाथ और गुलाबनाथ के बीच काफी अंतर था, लेकिन साझा संबंध ये था कि दोनों ही महंत अवैद्यनाथ के करीबी थे. गोरक्ष पीठाधीश्वर के तौर पर महंत अवैद्यनाथ ने एक तरफ जहां पौडी गढ़वाल जिले के निवासी अजय सिंह बिष्ट को दीक्षा देकर योगी आदित्यनाथ के तौर पर अपना उत्तराधिकारी बनाया था, तो दूसरी तरफ गुलाबनाथ को नाथ संप्रदाय का प्रमुख चेहरा बनाया था, उनके उपदेश गुरू भी थे वो. इसी वजह से आदित्यनाथ और गुलाबनाथ के बीच गुरुभाई का रिश्ता बना. महंत अवैद्यनाथ की वजह से ही योगी आदित्यनाथ गुलाबनाथ महाराज के करीब आते गये, क्योंकि गुलाबनाथ महाराज भी काफी करीब थे अवैद्यनाथ के.

yogi guj 5

उम्र बढ़ने और सेहत ठीक नहीं रहने के कारण जब महंत अवैद्यनाथ का प्रवास कम हो गया, तो योगी आदित्यनाथ के जिम्मे ही देश भर में मौजूद नाथ संप्रदाय से जुड़े करीब डेढ़ हजार आश्रमों के दौरे करने और संबंधित संतों से मुलाकात करने का काम आया. इसी सिलसिले में योगी आदित्यनाथ नियमित अंतराल पर गुजरात आया करते थे, जहां नाथ संप्रदाय से जुड़े छोटे-बड़े चौदह आश्रम हैं. इन आश्रमों में से ही एक महत्वपूर्ण आश्रम था विसनगर का आश्रम, जहां के गादीपति थे गुलाबनाथ जी.

योगी आदित्यनाथ और गुलाबनाथ महाराज के बीच पहली मुलाकात के बाद ही संबंध प्रगाढ़ होते चले गये. महंत अवैद्यनाथ भी गुलाबनाथ महाराज से काफी प्रेम करते थे. कारण बहुत साफ था. गुलाबनाथ महाराज, जो मुस्लिम परिवार में जन्मे थे, सनातम धर्म को न सिर्फ सहजता से अपनाया था, बल्कि उसका प्रचार-प्रसार भी बड़े पैमाने पर कर रहे थे. आठवीं तक पढ़े गुलाबनाथ महाराज व्यक्तिगत अभ्यास से न सिर्फ वेद-पुराण के अच्छे ज्ञाता बन चुके थे, बल्कि अंग्रेजी भाषा पर भी उनका नियंत्रण आ चुका था. वो साल में करीब तीन महीने विदेश अपने शिष्यों से मिलने जाते थे, उस वक्त वो धारा प्रवाह अंग्रेजी भी बोला करते थे.

आदित्यनाथ और गुलाबनाथ के बीच संबंधों की प्रगाढ़ता का आलम ये था कि अपनी व्यस्त दिनचर्या से समय निकालकर आदित्यनाथ गुलाबनाथ से मुलाकात के लिए आते रहते थे. विसनगर आश्रम का दौरा योगी आदित्यनाथ के गुजरात प्रवास का अनिवार्य हिस्सा होता था. योगी आदित्यनाथ का आखिरी गुजरात दौरा भी गुलाबनाथ के सिलसिले में ही हुआ था.

yogi guj 4

दरअसल 6 दिसंबर 2016 के दिन करीब 86 वर्ष की उम्र में गुलाबनाथ महाराज ब्रह्मलीन हो गये थे. ऐसे में उसी दिन शाम को योगी आदित्यनाथ भागे-भागे विसनगर आए और लगातार तीन दिन तक रुके. गुलाबनाथ महाराज को समाधि देने का काम भी योगी आदित्यनाथ ने ही किया, जो वर्ष 2014 में महंत अवैद्यनाथ के देहांत के बाद गोरक्ष पीठाधीश्वर भी बन चुके थे. योगी आदित्यनाथ ने ही अपने गुरुभाई गुलाबनाथ महाराज के देहांत के बाद उनके शिष्य शंकरनाथजी को चादर देकर उन्हें विसनगर पीठ का गादीपति भी नियुक्त किया.

योगी आदित्यनाथ और गुलाबनाथ महाराज के प्रगाढ़ रिश्ते की इस कहानी का एक पहलू नरेंद्र मोदी से भी जुड़ा है. दरअसल गुलाबनाथ महाराज और नरेंद्र मोदी के रिश्ते भी काफी अच्छे थे. एक तो विसनगर आश्रम मोदी के गृहजिले महेसाणा का हिस्सा है, दूसरा कारण ये कि बतौर संगठन महामंत्री जब मोदी गुजरात में थे या फिर उससे पहले आरएसएस के प्रचारक के तौर पर काम कर रहे थे, धार्मिक संतों के साथ संपर्क बनाने की जिम्मेदारी उनके पास थी. ऐसे में गुलाबनाथ महाराज के साथ भी उनके करीबी रिश्ते बनते चले गये. यहां तक कि जब मोदी करीब तेरह वर्ष तक गुजरात के सीएम रहे, वो हर तीन-चार महीने पर एक बार गुलाबनाथ महाराज को फोन कर उनका हाल-चाल जान लेते थे, ये बात खुद गुलाबनाथ महाराज अपने शिष्यों को बताते थे.

बहुत कम लोगों को ध्यान में होगा कि मोदी को बीजेपी ने वर्ष 2013 के सितंबर महीने में पीएम उम्मीदवार के तौर पर पेश किया, लेकिन देश के संत समाज ने अपनी तरफ से ये काम दो साल पहले 2011 में ही कर दिया था.

भारतीय संत सभा की बैठक 2011 में अहमदाबाद में आयोजित की गई थी, जिसमें योगी आदित्यनाथ के साथ ही गुलाबनाथ महाराज भी मौजूद थे. इसी बैठक में तमाम संतों ने मोदी को देश के प्रधानमंत्री पद के लिए सबसे सुयोग्य करार दिया था और आखिरकार वर्ष 2014 में मोदी देश के प्रधानमंत्री भी बने. ये भी एक संयोग है कि वर्ष 2016 में गोरखपुर में हुई संत सभा की एक बैठक के दौरान योगी आदित्यनाथ को यूपी का मुख्यमंत्री बनाने की मांग संतों की तरफ से की गई और आज यूपी में सत्ता की बागडोर योगी आदित्यनाथ के हाथ में आ चुकी है बतौर मुख्यमंत्री.

yogi guj 1

ये भी एक संयोग ही है कि जुलाई 2016 में गोरखनाथ मंदिर में ही योगी आदित्यनाथ, गुलाबनाथजी महाराज और नरेंद्र मोदी एक साथ मिले थे. उस समय प्रधानमंत्री मोदी न सिर्फ संतों की बैठक में शरीक हुए थे, बल्कि महंत अवैद्यनाथ की प्रतिमा का अनावरण भी किया था, जिनके उत्तराधिकारी बने योगी आज यूपी के मुख्यमंत्री बन चुके हैं.

खास बात तो ये भी है कि खुद गुलाबनाथ महाराज अपने साथी संतों के साथ मिलकर 2014 के लोकसभा चुनावों में यूपी में मोदी के लिए प्रचार करने पहुंचे थे. यूपी में 2014 के उस लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 71 सीटें जीती, जिसमें वाराणसी से नरेंद्र मोदी की रिकॉर्ड जीत भी शामिल थी. मोदी के पीएम बनने की खुशी गुलाबनाथ महाराज ने मनाई थी और आज उनके परिवार के लोगों को योगी आदित्यनाथ की नई भूमिका को लेकर खुशी है. गुलाबनाथ महाराज के बड़े भाई जुमा खान, जो अब 93 वर्ष के हो चुके हैं, उन्हें अपने भाई और योगी आदित्यनाथ के करीबी संबंधों की पूरी जानकारी है. यहां तक कि जुमाखान का बेटा दिलावर, जो पत्थर तोड़ने वाली मशीनें बनाने की फैक्ट्री चलाता है, उसे भी इस बात की खुशी है कि उसके चाचा जिस नाथ संप्रदाय के संत थे, उसी नाथ संप्रदाय के सबसे प्रमुख संत के पास अब देश के सबसे बड़े राज्य की कमान है.

उत्तर प्रदेश में भले ही विपक्षी दल योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने के बाद मुस्लिम समुदाय में डर फैलने की बात कर रहे हों, लेकिन करीब हजार किलोमीटर दूर गुजरात में एक मुस्लिम परिवार ऐसा है, जो इसकी खुशी मना रहा है, योगी आदित्यनाथ से अपने को जुड़ा महसूस कर रहा है. आखिर हो भी क्यों ना, परिवार के सदस्य गुल मोहम्मद भले ही गुलाबनाथ के रुप में नाथ संप्रदाय के साधु बन गये, लेकिन परिवार का संपर्क उनसे बना रहा और उन्हीं के जरिये योगी आदित्यनाथ से भी, जो उनके लिए डर नहीं, प्रेम के प्रतीक हैं.

ALL BLOG POST

BLOG:  रवींद्र जडेजा के वो आंकड़े और कामयाबी जो जानकर आप चौंक जाएंगे
BLOG: रवींद्र जडेजा के वो आंकड़े और कामयाबी जो जानकर आप चौंक जाएंगे

क्या आप जानते हैं कि इस सीजन में पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा गेंदबाजी किस गेंदबाज ने…

Tags: Austraian Cricket Team BCCI cricket australia praveen kumar Ravindra Jadeja shivendra kumar singh Team India

ये चिट्ठी हर उन IIT-ians के लिए जिन्होंने कभी ना कभी अपनी जिंदगी में ऐसा महसूस किया होगा
ये चिट्ठी हर उन IIT-ians के लिए जिन्होंने कभी ना कभी अपनी जिंदगी में ऐसा महसूस किया होगा

इंटैलिजेंट IIT-ians,   मैं तुम्हारी वो दोस्त हूं जिसने कभी आईआईटी, आईआईएम, एम्स के क्लासरुम नहीं देखे, जिसे  sin2(x) + cos2(x)…

Tags: 10th student IIT IIT Delhi student sucide

ब्लॉग: शिवसेना सांसद महोदय! आप भी इंसान हैं, भगवान नहीं!!
ब्लॉग: शिवसेना सांसद महोदय! आप भी इंसान हैं, भगवान नहीं!!

‘हम कहें सो कायदा’ की नीति शिवसेना ने स्वर्गीय बालासाहेब ठाकरे के उदयकाल से ही अपना रखी…

Tags: blog Ravindra Gaikwad Shiv Sena vijayshankar chaturvedi

BLOG: क्या है शुक्रवार रात की पार्टी से लेकर शनिवार सुबह तक का सबसे बड़ा सस्पेंस?
BLOG: क्या है शुक्रवार रात की पार्टी से लेकर शनिवार सुबह तक का सबसे बड़ा सस्पेंस?

शुक्रवार की शाम जब पूरे देश के क्रिकेट प्रेमी अगले दो दिन की छुट्टियों की खुमारी में…

Tags: anil kumble cricket australia shivendra kumar singh Steve Smith Team India Virat Kohli

योगी बनाम त्रिवेंद्र की होड़ से उत्तराखंड दौड़ेगा!
योगी बनाम त्रिवेंद्र की होड़ से उत्तराखंड दौड़ेगा!

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में सरकार बदलने में उत्तराखंड के इलाकों में ज्यादा चर्चा यूपी के मुख्यमंत्री…

Tags: adityanath yogi Cm Adityanath Yogi Trivendra Singh Rawat

कब तक लगते रहेंगे जय श्रीराम के नारे...
कब तक लगते रहेंगे जय श्रीराम के नारे...

बीजेपी के नेता सुब्रहमण्यम स्वामी यूपी में कट्टर हिंदुवादी छवि वाले योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने से…

Tags: adityanath yogi Ayodhya Ram Mandir issue Babri-ram mandir dispute Narendra Modi Ram Mandir Ram Mandir case Supreme court on Ram Mandir

आदित्यनाथ योगी को यूपी का सीएम बनाने के मायने
आदित्यनाथ योगी को यूपी का सीएम बनाने के मायने

गोरखनाथ पीठ के महंत और गोरखपुर से पांच बार सांसद चुने गए आदित्यनाथ योगी को जब यूपी…

Tags: adityanath yogi

अयोध्या विवाद पर समझौताः वो घुमावदार सड़क जिसका अंत नहीं
अयोध्या विवाद पर समझौताः वो घुमावदार सड़क जिसका अंत नहीं

आज एक अभूतपूर्व घटनाक्रम में अयोध्या में विवादित भूमि पर दशकों तक चले कठिन न्यायिक सफर के बाद आज…

BLOG: कोई विराट के दिल से पूछे इस सीरीज का अफसाना
BLOG: कोई विराट के दिल से पूछे इस सीरीज का अफसाना

मौजूदा ऑस्ट्रेलिया सीरीज के बारे में आज से दस साल बाद विराट कोहली से सवाल पूछ कर…

Tags: australian cricket team sourav ganguly Steve Smith Team India Virat Kohli Virender Sehwag

योगी के ‘गुलाब’ गुल मोहम्मद खान
योगी के ‘गुलाब’ गुल मोहम्मद खान

देश के सबसे बड़े राज्य की कमान बतौर मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने कल संभाल ली. लेकिन मुख्यमंत्री…

BLOG: पर्रिकर ने रखा सेना का मनोबल ऊंचा, रक्षा सौदों को अंजाम तक पहुंचाया
BLOG: पर्रिकर ने रखा सेना का मनोबल ऊंचा, रक्षा सौदों को अंजाम तक पहुंचाया

नई दिल्ली: मनोहर पर्रिकर एक बार फिर गोवा के मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं. कल यानि मंगलवार…

Tags: Achievements blog Defence Minister Manohar Parrikar

BLOG: हिंदी में होली का ‘निराला’ रंग
BLOG: हिंदी में होली का ‘निराला’ रंग

प्रेम और मिलन का त्यौहार होली भारत की सांस्कृतिक धारा में विशेष महत्वपूर्ण स्थान रखता है. हिंदी…

Tags: Hindi literature Holi Suryakant Tripathi 'Nirala'

Blog: ई है ‘मोदी’ नगरिया, तू देख ‘बबुआ’
Blog: ई है ‘मोदी’ नगरिया, तू देख ‘बबुआ’

उत्तर प्रदेश में किसकी सरकार बनेगी और किसकी आस टूटेगी इसका इंतजार दो महीनों से चल रहा…

Tags: blog EXIT POLL uttar pradesh

BLOG: उह...आह...आउच छोड़िए, खेल भावना को मलिए और काम पर चलिए
BLOG: उह...आह...आउच छोड़िए, खेल भावना को मलिए और काम पर चलिए

2007-08 के ऑस्ट्रेलिया दौरे की बात है. सिडनी टेस्ट में ‘मंकीगेट एपीसोड’ हुआ था.  भारतीय स्पिनर हरभजन…

Tags: Andrew Symonds anil kumble Australain Cricket Team BCCI drs Harbhajan singh Monkey Gate shivendra kumar singh Steve Smith Team India Virat Kohli

Women's Day Special: रिश्तों के स्टेटस से बाहर निकलने की आजादी!
Women's Day Special: रिश्तों के स्टेटस से बाहर निकलने की आजादी!

महिलाओं के लिए साल का एक दिन तो आप नसीब कर ही देते हैं. किसी भी दूसरे…

Tags: blog patriarchal society Womes's Day

BLOG : पुराने 'टेरर रूट' से मिली है आईएस आतंकियों को मदद, खतरा अभी टला नहीं !
BLOG : पुराने 'टेरर रूट' से मिली है आईएस आतंकियों को मदद, खतरा अभी टला नहीं !

खतरनाक आतंकी संगठन आईएस ने भारत में अपने पहले हमले को अंजाम दे दिया है. हालांकि, पहली…

Tags: IS isis lucknow encounter madhya pradesh Pakistan terror attack Train Blast

#Womensday: भारतीय महिला क्रिकेट टीम की किन्हीं 5 खिलाड़ियों के नाम बताओ?
#Womensday: भारतीय महिला क्रिकेट टीम की किन्हीं 5 खिलाड़ियों के नाम बताओ?

भारतीय क्रिकेट टीम के किन्ही पांच खिलाड़ियों के नाम बताओ ? किसी ने नहीं पूछा पुरुष टीम के या…

Tags: BCCI Cricket ICC India women's cricket team India women's national cricket team women's cricket team Womens Cricket

BLOG : यूपी चुनाव मोदी के लिए कितना नुकसानदेह या फायदेमंद ?
BLOG : यूपी चुनाव मोदी के लिए कितना नुकसानदेह या फायदेमंद ?

उत्तरप्रदेश का विधानसभा चुनाव कितना महत्वपूर्ण हो गया है और क्यों देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र नरेन्द्र मोदी…

Tags: 2017 UP election Akhilesh yadav BJP blog BSP Congress Narendra Modi samajwadi party SP UP Assembly Elections up election 2017 UP Elections UP Elections 2017 UP polls UP Polls 2017

वाराणसी से ग्राउंड रिपोर्ट: 403 पर भारी पीएम मोदी के क्षेत्र की 5 सीटें
वाराणसी से ग्राउंड रिपोर्ट: 403 पर भारी पीएम मोदी के क्षेत्र की 5 सीटें

यूपी में आखिरी चरण में पीएम मोदी के लोकसभा क्षेत्र वाराणसी में भी वोट डाले जाने हैं….

Tags: BJP BSP Congress samajwadi party SP UP Assembly Elections UP Elections UP Elections 2017 UP polls UP Polls 2017

View More