अक्षय ने मुझे 'आशीर्वाद' से निकाल दिया: अनीता

अक्षय ने मुझे 'आशीर्वाद' से निकाल दिया: अनीता

By: | Updated: 21 Jul 2012 05:40 AM

<p style="text-align: justify;">
<b>मुंबई:</b> खुद को राजेश
खन्ना की लिव इन पार्टनर
बताने वाली अनीता आडवाणी ने
एबीपी न्यूज़ संवाददाता
जोइता मित्रा से बातचीत की.
अपनी जेन एस्टिलो कार चलाते
हुए उन्होंने अपने और काका के
रिश्तों के बारे में बातचीत
की. हालांकि उन्होंने कैमरे
के सामने आने से इंकार कर
दिया.
</p>
<p style="text-align: justify;">
उन्होंने बताया कि," मैं और
मेरा परिवार जयपुर से है, मैं
वहीं पैदा और बड़ी हुई. हमारा
एक घर बांद्रा में भी है. मैं
राजेश खन्ना की बहुत बड़ी फैन
थी. एक बार मैं मुंबई आई तो
बांद्रा के महबूब स्टुडियो
में पहली बार राजेश खन्ना से
मिली. उस वक्त मैं सिर्फ 14 साल
की थी और स्कूल जाती थी."
</p>
<p style="text-align: justify;">
अनीता ने बताया कि,"बाद मैं
में मुंबई आ गई और बांद्रा
में रहना शुरू कर दिया. मैं
शेयर बाजार में काम करने के
अलावा सांता क्रूज़ में एक
स्टोर भी चलाती हूं."
</p>
<p style="text-align: justify;">
"मेरे काफी दोस्त बने, कुछ
फिल्मी दुनिया से भी थे. रीना
रॉय और अंजू महेंद्रू जैसे.
मैं हमेशा काका से मिलती रही
और 2001 में हमने स्वीकार किया
कि हम प्यार में थे."
</p>
<p style="text-align: justify;">
"काका मेरे लिए बेहद पज़ेसिव
थे. वे हमेशा मुझे बताते थे कि
मैं क्या पहनूं और किस सूट के
साथ कौन से इयर रिंग्स पहनने
चाहिए. उनके आसपास कोई नहीं
था. मैं ही उनके सारे मामले
देखती थी, उनके गिरते
स्वास्थय को भी. डिंपल और
बाकी उनकी तबियत के बारे में
मुझसे ही पूछते थे, वो भी
एसएमएस के माध्यम से."<br /><br />"मैं
काका के साथ कार में बांद्रा
के आसपास जाया करते थे. हम लोग
सड़क के किनारे लगी दुकानों
से एंटीक्स और पेंटिंग्स
खरीदते थे. काका गाड़ी में
बैठे रहते थे और मैं इन चीजों
को खरीदती थी. हम लोग
आशीर्वाद को दोबारा से सजाना
चाहते थे. आशिर्वाद को काका
के लिए म्यूजियम में तब्दील
करने का आईडिया मेरा था."<br /><br />"साल
गुजरते गए, उनकी सेहत लगातार
गिरती गई. उनके परिवार का कोई
सदस्य मदद करने के लिए नहीं
आता था, मैं ही उनकी देखरेख,
खाने आदि का ध्यान रखती थी.
आशीर्वाद काफी बड़ा था. बहुत
कम लोग वहां आते थे. उनके
परिवार के लोग कभी-कभी मुझसे
फोन या एसएमएस के जरिए उनके
बारे में पूछ लेते थे." <br /><br />अनीता
आडवाणी बताती हैं,"अचानक इस
साल जून में वे लोग आशीर्वाद
आए..दस साल बाद..जिम्मेदारी
लेने के लिए. उन्होंने मुझसे
वहां से चले जाने के लिए कहा.
अक्षय ने मुझे घर से बाहर
निकाल दिया. ट्विंकल व परिवार
के सभी सदस्यों ने मुझसे यही
कहा. उन्होंने मुझे तुरंत
निकल जाने को कहा. मैं उन
लोगों से पैसा नहीं चाहती थी.
मेरे साथ जो हुआ मैं उसके
योग्य नहीं थी." <br /><br />"गुरूवार
की सुबह जब परिवार उनको अंतिम
संस्कार के लिए ले जा रहा था
तो मैं भी जाना चाहती थी.
अक्षय मेरे पास आए और कहा कि
अनीता जी आप वहां जाने की
कोशिश मत करो. अंतिम यात्रा
वाला ट्रक सिर्फ परिवार के
लोगों के लिए है. मैं सदमे में
थी जब काका गए."<br />
</p>

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Bollywood News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ‘पद्मावत’ को लेकर सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी के खिलाफ अवमानना नोटिस जारी