आजकल हिट हैं खेल और खिलाड़ियों पर बनी फिल्में

By: | Last Updated: Tuesday, 30 July 2013 5:27 AM
आजकल हिट हैं खेल और खिलाड़ियों पर बनी फिल्में

<p style=”text-align: justify;”>
<b>आजकल खेल और खिलाड़ियों पर
काफी फिल्में बनने लगी हैं.
जनता इन फिल्मों को न केवल
पसंद करती है बल्कि समीक्षक
भी इन फिल्मों को सराहते हैं.
बॉक्स ऑफिस पर भी ये फिल्में
अच्छी कमाई कर ले जाती हैं.
जानिए कुछ ऐसी ही फिल्मों के
बारे में.</b><br /><br /><b>भाग
मिल्खा भाग: </b>भारत के
प्रसिद्ध एथलीट और फ्लाइंग
सिख के नाम से मशहूर मिल्खा
सिंह के जीवन पर आधारित है
‘भाग मिल्खा भाग’.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
फिल्म में अभिनेता फरहान
अखतर ने मिल्खा सिंह के
किरदार को पर्दे पर यादगार
बना दिया. कई समीक्षकों ने तो
यहां तक कहा कि फिल्म देखकर
लगता है कि मानो मिल्खा सिंह
पर्दे पर खुद दौड़ रहे हों.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
पूरी दुनिया में भारत का झंडा
फहराने बाले मिल्खा सिंह को
यह फिल्म एक रियल ट्रिब्यूट
है. फिल्म के डायरेक्टर थे
राकेश ओम प्रकाश मेहरा.<br /><br /><b>चक
दे इंडिया: </b>भारत के
राष्ट्रीय खेल हॉकी पर
आधारित फिल्म ‘चक दे इंडिया’
एक ऐसे हॉकी खिलाड़ी की कहानी
है जिसे जिसे विरोधी खेमे से
हाथ मिलाने का झूठा आरोप
लगाकर टीम से निकाल दिया जाता
है. फिर उसे हौसले और हिम्मत
से कमजोर लग रही महिला हॉकी
टीम का कोच बना दिया जाता है.
इस बार वह खुद को सही साबित
करने के लिए टीम को वर्ल्ड कप
जिताने का सपना देखता है.
अपनी कड़ी मेहनत से वह टीम को
जीत दिलाने में कामयाब हो
जाता है. फिल्म में हॉकी कोच
का किरदार शाहरुख खान ने
निभाया है. यह फिल्म शाहरुख
के जीवन की श्रेष्ठ फिल्मों
में से एक है. फिल्म को यशराज
कैंम्प ने प्रोड्यूज किया था
और इसके निर्देशक शीमित अमीन
हैं.<br /><br /><b>दना दन गोल:</b> फिल्म
विश्व प्रसिद्ध खेल फुटवाल
पर आधारित है. फिल्म में
मुख्य किरदार में जॉन
अब्राहम, अरशद वारसी, विपासा
बासु और वोमन इरानी हैं.
फिल्म एक ऐसी फुटवाल टीम
साउथहाल यूनाइटेड फुटवाल
क्लब की कहानी है जो ब्रिटेन
में साउथ एशिअन खिलाड़ियों
के साथ मिलकर कई चैम्पियनशिप
जीतती है. फिल्म में दक्षिण
भारतियों के खिलाफ होने बाले
जातिवाद तक भी दिखाया गया है.
फिल्म के निर्देशक विवेक
अग्निहोत्री और निर्माता
रॉनी स्क्रूवाला हैं.<br /><br /><b>पटियाला
हाउस:</b> ‘पटियाला हाउस’
इंगलैंड में रह रहे क्रिकेट
का शौक रखने बाले एक ऐसे
भारतीय युवक गट्टू की कहानी
है जिसे अपने पिता के आदर्शों
के चलते क्रिकेट छोड़ना
पड़ता है, लेकिन उसके दोस्त
और परिवार उसकी खेलने की
इच्छा पूरी करने के लिए एक
ड्रामा करते हैं. फिल्म में
गट्टू की भूमिका अक्षय कुमार
ने निभाई है. इसके अलावा
फिल्म में अनुष्का शर्मा और
ऋषि कपूर मुख्य भूमिका में
हैं. कहा जाता है कि यह फिल्म
इंगलैंड के खिलाड़ी माँटी
पनेसर के जीवन पर आधारित है.<br /><br /><b>लगान:</b>
‘लगान’ बॉलिवुड की एक यादगार
फिल्म है. फिल्म में कुछ गांव
बाले अपना लगान माफ कराने के
लिए अंग्रेज अधिकारियों के
विरुध क्रिकेट का खेल खेलते
हैं और एक रोमांचक मुकाबले
में अंग्रेज अधिकारियों को
हरा देते हैं. फिल्म में
मुख्य भूमिका में आमिर खान,
ग्रेसी सिंह, और रशैल शैली
हैं. यह फिल्म भारत की ओर से
ऑस्कर अवार्ड के लिए नॉमिनेट
की गई थी.<br /><br /><b>पान
सिंह तोमर:</b> यह फिल्म एक
खिलाड़ी के बागी बनने की
कहानी है. इस फिल्म में भारत
के एथलीट पान सिंह तोमर के
जीवन को दर्शाया गया है.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
पान सिंह ने भारत के लिए बाधा
हौड़ में कई मेडल जीते, लेकिन
हालात से हारकार पान सिंह
चंबल में कूद जाते हैं और
आखिर में पुलिस मुठभेड़ में
मारे जाते हैं.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
पान सिंह तोमर के जीवन पर बनी
इस फिल्म को नेशनल अवार्ड से
सम्मानित किया गया है. इसमें
पान सिहं तोमर का किरदार
निभाने बाले अभिनेता इरफान
खान को भी सर्वश्रेष्ठ
अभिनेता का नेशनल अवार्ड
दिया गया. इस फिल्म को
तिग्माशु धूलिया ने
निर्देशित किया था.<br /><br /><b>इकबाल:
</b>नागेश कुक्नूर द्वारा
निर्देशित ‘इकबाल’ एक ऐसे
युवक इकबाल की कहानी है जो ना
तो सुन सकता है और ना ही बोल
सकता है लेकिन उसे क्रिकेट
खेलने का जुनून है और उसका
सपना भारतीय टीम के लिए खेलने
का है. उसके इस सपने को पूरा
करने में मदद करते हैं कोच की
भूमिका निभा रहे नसीरुद्दीन
शाह. एक सामाजिक मुद्दे को
पर्दे पर लाने के लिए फिल्म
को नेशनल अवार्ड से भी
सम्मानित किया गया था. यह
अभिनेता श्रयेष तलपड़े की
डेब्यू फिल्म थी.<br /><br /><b>से सलाम
इंडिया:</b> ‘से सलाम इंडिया’ एक
स्कूल में पड़ने वाले चार
क्रिकेट के दीवाने लड़कों की
कहानी है. उनके क्रिकेट कोच
हरी साडू का मानना है कि गली
क्रिकेट को भी महत्व मिलना
चहिए. हरी साडू इन्ही लड़कों
और की टीम के साथ एक अंतर
स्कूल चैमपियनशिप जीतते हैं.
हरी साडू की भूमिका में
अभिनेता संजय सूरी हैं.फिल्म
के डायरेक्टर हैं सुभाष कपूर.<br /><br /><b>चैन
कुली की मैन कुली: </b>’चैन कुली
की मैन कुली’ 13 साल के एक ऐसे
लड़के की कहानी है जिसे एक
बैट मिलता है जिसे वह जादुई
बैट समझता है. इस बैट और अपने
खेल की बदौलत लड़का भारतीय
टीम में शामिल हो जाता है,
लेकिन एक अहम मुकाबले में बैट
की जादुई शक्ती खतम हो जाती
है. बावजूद इसके लड़का अपने
खेल के दम पर मैच जिता देता है.
फिल्म का मुख्य उद्देशय
सेल्फ कॉन्फीडेंस की ताकत को
बताना था. फिल्म ने बॉक्स
आफिस पर कुछ खास कमाल नहीं
दिखाया.<br /><br /><b>फरारी की सवारी:</b>
‘फरारी की सवारी’ एक ऐसे पिता
की कहानी है जिसके बेटे को
क्रिकेट का शौक है. उसका
स्कूल अपने बच्चों को लंदन के
लॉर्ल्ड्स में ट्रेनिंग के
लिए ले जा रहा है लेकिन उसके
लिए फीस के रूप में बहुत बड़ी
रकम की मांग करता है. लड़के का
पिता अपने लड़के की खुशी के
लिए सचिन तेंदुलकर की फरारी
को चुरा कर किराए पर देता है.
फिल्म का सारा ड्रामा यहीं
शुरू होता है.पिता की भूमिका
में शरमन जोशी है. अन्य
भामिकाओं में वोमन इरानी,
ऋत्वित सहोरे हैं. फिल्म के
निर्माता विधु विनोद चोपड़ा
हैं.<br />
</p>

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: आजकल हिट हैं खेल और खिलाड़ियों पर बनी फिल्में
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017