आप का दिल्ली में जलवा बरकरार, देश में केजरीवाल से कांग्रेस को ज्यादा नुकसान: सर्वे

By: | Last Updated: Tuesday, 21 January 2014 7:52 AM

नई दिल्ली: लोकसभा चुनावों में आधी दिल्ली की जनता आम आदमी पार्टी को वोट दे सकती है, बावजूद इसके ‘आप’ पूरे देश में दिल्ली जैसा महौल नहीं तैयार कर पायी है. चुनाव पोल के अनुसार अगर अभी आम चुनाव होते हैं तो आम आदमी पार्टी को पूरे देश में 4% वोट मिलेंगे.

 

सीएनएन-आईबीएन के लिए किए गए सर्वे में सीएसडीएस (सेंटर फॉर स्टडी ऑफ् डेवलपिंग सोसाईटीज) ने बताया है कि लोकसभा चुनावों में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीण पटनायक अपनी पार्टियों क्रमशः तृणमूल कांग्रेस और बीजू जनता दल को अपने-अपने राज्यों में भारी जीत दिलाने में सक्षम होंगे. वहीं सर्वे का बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार के बारे में कहना है कि लोकसभा चुनावों में वो अपने विकास पुरूष की छवि को लोकसभा सीटों में तब्दील करने में नाकाम रहेंगे. इसका कारण 2014 चुनावों के पहले बिहार में बीजेपी का उदय बताया जा रहा है.

 

सर्वे के अनुसार दिल्ली में 48% लोग ‘आप’ के समर्थन में है. हरियाणा में जहां 17% लोग आप को वोट दे सकते हैं वहीं पंजाब में वोटों का प्रतिशत 14% रहने की संभावना है. महाराष्ट्र, केरल, यूपी, झारखंड जैसे अन्य राज्यों में ‘आप’ लोगों का भरोसा को शायद नहीं जीत पायी है क्योंकि सर्वे के अनुसार ऐसे राज्यों में ‘आप’ का वोट प्रतिशत 4% रहने की संभावना है. वहीं सर्वे की मानें तो ‘आप’ के उदय से कांग्रेस को ज्यादा नुकसान हुआ है. एक तरफ जहां आप ने कांग्रेस को 18% वोटों का नुकसान किया है वहीं बीजेपी को 11% का नुकसान किया है.

 

सर्वे की मानें तो लेफ्ट पार्टियों के राज के लिए मशहूर पश्चिम बंगाल में तमाम उठा-पटक और विवादों के बाद भी ममता बनर्जी का जादू बरकरार है. यहां तक की उनको दोबारा मुख्यमंत्री के रूप में देखने वालों के फेहरिस्त में 1% का इजाफा हुआ है. 42 लोकसभा सीटों में से ममता की पार्टी तृणमूल कांग्रेस 20-28 सीटें जीतने की संभावना है. वहीं लेफ्ट पार्टियां 7-13 सीटें जीत सकती हैं. कांग्रेस को 5-9 सीटें मिलने की संभावना है वहीं बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के लिए 18% लोगों का समर्थन होने के बावजूद बीजेपी को निराश होना पड़ सकता है. सर्वे के अनुसार बीजेपी को 2 सीटें मिलने की संभावना है.

 

सर्वे के अनुसार बीजेपी को बिहार में 39% वोट मिल सकते है और पार्टी बिहार में 40 लोकसभा सीटों में 16-24 सीटें जीत सकती है. वहीं जेडीयू का वोट प्रतिशत 20% रहने की संभावना है, जिससे पार्टी को 7-13 सीटें मिल सकती हैं. लालू यादव की पार्टी आरजेडी जिसका की बिहार में लगभग सफाया हो चुका है, इस चुनाव में थोड़ा सुधार कर सकती है और पार्टी के सीटों की संख्या 6-10 रह सकती है. लालू और उनकी पार्टी इस बात से खुश हो सकती है कि बिहार ते 46% लोगों को लगता है कि लालू यादव को चारा घोटाले में जितने दिनों के लिए जेल जाना पड़ा वो सजा इस अपराध के लिए काफी है. इन तथ्यों को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस का लालू और रामविलास पासवान के साथ गठबंधन होता दिखता है और बिहार में बीजेपी को रोकने के लिए मुस्लिम वोटों की राजनीति को ये गठबंधन बढ़ावा दे सकती है.

 

वहीं सर्वे के अनुसार नीतिश आज भी मुख्यमंत्री के लिए बिहार की जनात की पहली पसंद हैं. 63% लोगों को लगता है की मुख्यमंत्री के तौर पर उन्होंने प्रभावशाली काम किया है. वहीं उनकी सरकरा को 55% लोगों ने सराहा है. ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीण पटनायक के लिए भी जनता की यही राय है.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: आप का दिल्ली में जलवा बरकरार, देश में केजरीवाल से कांग्रेस को ज्यादा नुकसान: सर्वे
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ?? ????? ?????? ????????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017