एक नजर: कम बजट की फिल्मों को 'कमतर' ना आंके

By: | Last Updated: Thursday, 27 February 2014 7:16 AM

मुंबई: बेहतरीन पटकथा और जबर्दस्त अभिनय से लबरेज होने के बावजूद कम बजट वाली हिंदी फिल्मों से बॉक्स ऑफिस पर सौतेला व्यवहार होता है. फिर चाहे इन्हें अन्य फिल्मों के साथ प्रदर्शित किया गया हो या अनुपयुक्त समय में या चाहे उनके लिए पूरा वक्त हो तब भी.

 

कुछ समय पहले प्रदर्शित हुई फेसबुक पर फिल्म ‘प्यार का पंचनामा’ की झलक कुछ लोगों को प्रभावित कर पाई थी. उसके कुछ दृश्यों और संवादों से से यह फिल्म लघु बजट की सर्वश्रेष्ठ और सबसे मनोरंजक फिल्म जान पड़ी.

 

लेकिन वर्ष 2011 में प्रदर्शित हुई लव रंजन निर्देशित इस फिल्म को दर्शकों से अच्छी प्रतिक्रिया नहीं मिली. नवोदित कलाकार कार्तिक आर्यन, रायो बखीरथा, नुसरत भरुचा, पदम भोला, सोनाली सहगल, दिव्यांदु शर्मा और इशिता शर्मा अभिनीत फिल्म कोई छाप नहीं छोड़ पाई. लेकिन फिल्म यूट्यूब पर आश्चर्यजनक ढंग से सफल हुई.

 

यह ऐसी इकलौती फिल्म नहीं है. ऐसी कई फिल्में हैं जो दर्शकों की जागरूकता की कमी, प्रदर्शन के लिए तारीखों की कमी और वितरकों की उन्हें प्रदर्शित करने में दिलचस्पी न होने की वजह से नहीं चल पाईं.

 

फिल्मों के प्रदर्शन के लिए दीपावली, नववर्ष या ग्रीष्मकालीन छुट्टियों जैसा समय बड़ी बजट वाली फिल्में हथिया लेती हैं. हालांकि, उनमें से सभी बॉक्स ऑफिस पर कमाई नहीं कर पातीं, लेकिन इसके बावजूद लघु बजट फिल्मों के आगे उन्हें प्राथमिकता दी जाती है.

 

उदाहरण के लिए, इस साल माधुरी दीक्षित अभिनीत ‘डेढ़ इश्किया’ ने सभी वर्गो को आकर्षित किया लेकिन जनता के दिलों तक नहीं पहुंची. वहीं, 17 जनवरी को ‘मिस लवली’, ‘करले प्यार करले’ और ‘परांठे वाली गली’ सरीखी लघु बजट फिल्में एक साथ प्रदर्शित हुईं.

 

इन फिल्मों को बॉक्स ऑफिस पर कमाल दिखाने का मौका मिला, लेकिन नवाजुद्दीन सिद्दीकी अभिनीत ‘मिस लवली’ को छोड़कर दर्शकों को अन्य के बारे में जानकारी ही नही थीं. वे दर्शकों को सिनेमाघरों तक लाने में असफल रहीं.

 

फिल्म व्यापार समीक्षक तरुण आदर्श ने कहा कि ऐसे हालात प्रदर्शन की तारीखों की कमी की वजह से होते हैं.

 

उन्होंने कहा, “त्योहारी समय में बड़े बजट वाली इतनी फिल्में आती हैं कि अन्य के लिए कोई जगह ही नहीं होती. एक बार फिल्म बना लेने के बाद आप प्रदर्शन के लिए कितना इंतजार कर सकते हैं?”

 

पिछले साल अक्टूबर में पहले से ही 31 तारीख ऋतिक रोशन अभिनीत ‘क्रिश 3’ के प्रदर्शन के लिए तय हो गई थी. जबकि अक्टूबर में ही सात फिल्में-‘मिकी वायरस’, ‘इश्क ऐक्चुली’, ‘सुपर से ऊपर’, ‘सत्या 2’, ‘वेकअप इंडिया’, ‘अहमदाबाद जंक्शन’ और ‘बुल बुलबुल बंदूक’ प्रदर्शित हुईं.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: एक नजर: कम बजट की फिल्मों को ‘कमतर’ ना आंके
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

मनोज बाजपेयी ने की नीतीश से बाढ़ प्रभावितों की मदद की अपील
मनोज बाजपेयी ने की नीतीश से बाढ़ प्रभावितों की मदद की अपील

मुंबई : बॉलीवुड अभिनेता मनोज बाजपेयी ने बुधवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बाढ़...

पिता विनोद खन्ना की बायोपिक में भूमिका निभाने के सवाल पर देखिए क्या बोले अक्षय खन्ना
पिता विनोद खन्ना की बायोपिक में भूमिका निभाने के सवाल पर देखिए क्या बोले...

विनोद खन्ना का अप्रैल में लंबी बीमारी के बाद 70 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. यह पूछे जाने पर कि...

'भूमि' में श्लोकों का उच्चारण करते दिखेंगे संजय दत्त
'भूमि' में श्लोकों का उच्चारण करते दिखेंगे संजय दत्त

अभिनेता संजय दत्त अपनी आगामी फिल्म 'भूमि' में संस्कृत के कुछ श्लोकों का उच्चारण करते नजर आएंगे....

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017