क्यों नहीं हो सकी मधुबाला और दिलीप की शादी?

By: | Last Updated: Sunday, 15 June 2014 8:10 AM

नई दिल्ली: दिलीप कुमार और मधुबाला का रिश्ता शादी की गांठ से बंधा होता अगर मधुबाला के पिता इस बंधन के साथ व्यापारिक संबंधों को बढ़ाने के बारे में नहीं सोचते. ऐसा करना अभिनेता दिलीप कुमार के लिए न तो अच्छा ही होता और न ही उन्हें ये गवारा था कि कोई और उनके उभरते करियर की दिशा को निर्धारित करे.

 

हाल ही में जारी अपनी आत्मकथा ‘‘दिलीप कुमार : द सबस्टेंस एंड द शैडो’’ में 91 वर्षीय दिलीप ने अपने और मधुबाला के रिश्ते के बारे में ये बातें साझा की हैं जो आज भी सिनेमा के प्रशंसकों को रोमांचित करती हैं.

 

1951 में मधुबाला के साथ ‘तराना’ में काम करने वाले भारतीय चित्रपट के मुख्य स्तंभों में से एक दिलीप उनके बारे में यादें बांटते हुए उन्हें एक अच्छा कलाकार होने के साथ ही एक ‘‘बेहद जिंदादिल और जीवटता से भरपूर’’ इंसान बताते हैं.

 

हे हाउस द्वारा प्रकाशित अपनी किताब में उन्होंने लिखा, ‘‘मैं यह स्वीकार करता हूं कि मैं मधुबाला के साथी कलाकार और अच्छे इंसान दोनों रूपों के प्रति आकषर्ण में बंधा था. उसमें वे सभी गुण मौजूद थे जिसकी एक औरत में मैं उस समय होने की आशा रखता था. जैसा कि मैंने पहले कहा कि वो बहुत जिंदादिल और जीवंत थी जिसने मेरे शर्मीलेपन और संकोच को बिना किसी प्रयास के दूर किया.’’

 

के. आसिफ की ‘मुगल ए आजम’ में उनकी जोड़ी ने खूब सुखिर्यां बटोरी थी क्योंकि उनके भावनात्मक लगाव की अफवाहें जोरों पर थीं. इससे निर्देशक आसिफ बहुत खुश थे. मधुबाला ने आसिफ के सामने दिलीप के प्रति अपने लगाव के रहस्य को भी जाहिर किया था और आसिफ उन्हें इसके लिए प्रोत्साहित करते थे.

 

दिलीप कुमार को महसूस हो रहा था कि वे एक ऐसे रिश्ते में बंधते जा रहे हैं जो कि उनके लिए हितकारी नहीं होगा. इसलिए उन्होंने शादी का विचार त्याग दिया और दोनों को दुबारा सोचने का अवसर देने का मन बनाया. दिलीप कुमार कहते हैं कि उन्होंने मधु और उनके पिता से इस विषय में कई मर्तबा साफ दिली से बात की लेकिन वास्तव में वे उनकी दुविधा को समझने के लिए तैयार ही नहीं थे जिससे संभावनाएं बहुत दुर्भाग्यपूर्ण होती जा रही थीं और अंतत: उनके रिश्ते का एक दुखद अंत हुआ.

 

अपनी किताब में दिलीप ने कामिनी कौशल के साथ उनकी नजदीकियों का भी जिक्र किया है. कामिनी कौशल का असल नाम उमा कश्यप था और उस समय वे शादीशुदा थीं. दिलीप और कामिनी ने ‘शहीद’, ‘नदिया के पार’ और ‘शबनम’ में साथ काम किया था.

 

दिलीप यादें साझा करते हुए बताते हैं, ‘‘स्टारडम ने मुझे सुख देने से ज्यादा दु:ख ही दिया. उमा के साथ लंबे समय तक मेरा जुड़ाव भावनात्मक से ज्यादा बौद्धिक रहा. उसके साथ मैं अपने कामकाजी रिश्तों की सीमा से परे जाकर अपने पसंद के मुद्दों और विषयों पर बातचीत कर सकता था. अगर यह प्यार का ही रूप था तो हो सकता है कि ये प्यार ही हो. मैं नहीं जानता लेकिन अब यह बहुत महत्व नही रखता .’’

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: क्यों नहीं हो सकी मधुबाला और दिलीप की शादी?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017