बिहार के नेताओं ने मनाया छठ का त्यौहार

By: | Last Updated: Friday, 8 November 2013 11:04 AM

<p style=”text-align: justify;”>
<b style=”line-height: 1.3em;”>पटना:</b><span
style=”line-height: 1.3em;”> बिहार में
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और
पूर्व केंद्रीय मंत्री राम
विलास पासवान सहित लगभग सभी
राजनेता अपने घर पर
सूर्योपासना का पर्व छठ
मनाने में व्यस्त हैं. पूर्व
मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और
पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील
कुमार मोदी ने शुक्रवार की
शाम डूबते हुए सूर्य को
अघ्र्य दिया. वे शनिवार की
सुबह उगते सूर्य को अघ्र्य
देकर प्रसाद ग्रहण करेंगे.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>दिवाली
के छठे दिन सूर्य की उपासना
का यह पर्व बिहार में आस्था
और उल्लास के साथ मनाया जाता
है. इस पर्व के दौरान व्रती
महिलाएं 36 घंटे का उपवास रखती
हैं. छठ से एक दिन पूर्व खरना
की शाम वे चावल, गुड़ और दूध से
बनी खीर खाने के बाद उपवास
करती हैं और अघ्र्य के रूप
में गेहूं के आटे और गुड़ से
बना पकवान ‘ठेकुआ’, केला, सेब,
ईख व अन्य फल तथा नारियल
सूर्य को अर्पित करती हैं.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>अघ्र्य
अर्पित करने के लिए व्रती
महिलाएं किसी नदी या तालाब
में पानी में खड़ी रहती हैं.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>बुधवार
को शुरू हुए चार दिनों के इस
पर्व पर राज्य के दर्जनों
मंत्री, विधायक और सांसद अपने
घर पहुंच गए हैं. एक चर्चित
नेता लालू प्रसाद हालांकि इस
बार छठ पर्व पर अपने घर से दूर
रांची की एक जेल में बंद हैं.
राष्ट्रीय जनता दल (राजद)
अध्यक्ष को चारा घोटाला के एक
मामले में पांच साल कैद की
सजा मिली हुई है.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>नीतीश
कुमार के सरकारी आवास पर इस
समय उत्सव जैसा माहौल है.
वहां उनके बड़े भाई सतीश
कुमार की पत्नी गीता देवी एवं
अन्य रिश्तेदार छठ पर्व
मानने के लिए पहुंचे हैं.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>मुख्यमंत्री
आवास के अधिकारियों ने बताया
कि नीतीश वर्ष 2007 में पत्नी
मंजू सिन्हा के निधन के बाद
से स्वयं छठ पर्व में
सक्रियता नहीं दिखाते हैं.
उनके बेटे निशांत हालांकि
पर्व में पूरी तरह सक्रिय
हैं.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>इस
बीच, लालू की गैरमौजूदगी में
उनकी पत्नी राबड़ी देवी
मुख्यमंत्री आवास के समीप ही
अपने आधिकारिक आवास में अपने
बच्चों के साथ छठ व्रत और
पूजा कर रही हैं. उन्होंने
कहा, “कई वर्षो बाद मैं लालू जी
के बगैर छठ मना रही हूं. उनका
इस समय घर में मौजूद नहीं
रहना कितना अखरता है, मैं
बयान नहीं कर सकती.”</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>ज्ञात हो कि
इससे पहले, वर्ष 1997 में भी छठ
पर्व पर लालू जेल में थे.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>पार्टी नेताओं
ने कहा कि राबड़ी गंगा घाट पर
नहीं जाएंगी, बल्कि आवास के
अहाते में ही बने छोटे से
तालाब में खड़ी होकर सूर्य को
अघ्र्य देंगी.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>वहीं, राम विलास
पासवान भी छठ मनाने के लिए
बेटे चिराग के साथ पटना में
रह रहे अपने भाइयों के घर
पहुंच गए हैं. वह गुरुवार की
रात खरना के मौके पर राबड़ी
से मिलने गए थे. उन्होंने
‘गुड़खीर’ और ‘दोस्ती सोहारी’
का प्रसाद ग्रहण किया.</span>
</p>
<div style=”text-align: justify;”>
<br />
</div>

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: बिहार के नेताओं ने मनाया छठ का त्यौहार
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017