मोदी के करीबी अमित शाह ने अपनी गिरफ्तारी रुकवाने वाली अर्जी वापस ली

मोदी के करीबी अमित शाह ने अपनी गिरफ्तारी रुकवाने वाली अर्जी वापस ली

By: | Updated: 10 Apr 2014 07:23 AM

लखनऊ: बीजेपी के महासचिव और नरेंद्र मोदी के विश्वासपात्र अमित शाह ने इलाहाबाद हाईकोर्ट से अपनी उस अर्जी को वापस ले लिया, जिसमें उन्होंने  अपनी गिराफ्तारी पर रोक लगाने और भड़ाऊ भाषण को लेकर दर्ज एफआईआर को क्वैश करने की अपील की थी.

 

अमित शाह ने बुधवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट  के लखनऊ बेंच में अर्जी लगाई थी, जिसपर कोर्ट ने 24 घंटे के भीतर यूपी सरकार और चुनाव आयोग से अमित शाह के भड़काऊ भाषण की सीडी मुहैया कराने की मांग की थी.

 

अमित शाह की उस अर्जी पर इलाहाबाद हाईकोर्ट की कोर्ट नंबर दस में जस्टिस अरुण टंडन की बेंच आज दोपहर दो बजे से सुनवाई करने वाली थी.

 

एबीपी न्यूज़ के संवाददाता पंकज झा का कहना है कि कि ऐसा लगता है कि अमित शाह ने राहत नहीं मिलने के अंदेशे की वजह से अपनी अर्जी वापस ले ली है.

 

आपको बता दें कि अदालत ने बुधवार को अमित शाह मामले की सुनवाई करते हुए लोकसभा चुनाव के दौरान नेताओं द्वारा भड़काऊ और आपत्तिजनक बयानबाजी किए जाने पर नाराजगी जताते हुए इसे गलत करार दिया.

 

याद रहे कि अमित शाह ने दंगा प्रभावित मुजफ्फरनगर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए भड़काऊ भाषण दिया था.  इसके बाद अमित शाह के खिलाफ यूपी के बिजनौर और शामली में छह अप्रैल को IPC की धारा 153 और पीपुल्स रिप्रेजेंटेशन एक्ट की धारा 125 के तहत केस दर्ज किये गए थे.

 

मुजफ्फरनगर में अमित शाह ने कहा था कि यह बदला लेने का समय है और हमें बदला लेना चाहिए.

 

अमित शाह के इस बयान के बाद कांग्रेस ने चुनाव आयोग से शिकायत की थी.  एफआईआर दर्ज होने के बाद सियासी पार्टियों की तरफ से मांग होती रही है कि अमित शाह को गिरफ्तार किया जाए.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Bollywood News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story सिंगर पापोन के खिलाफ शिकायत दर्ज, फेसबुक लाइव में नाबालिग को किया था किस