विनोद कुमार बिन्नी पर पहली बार बोले केजरीवाल, कहा- पहले मंत्री बनना चाहते थे अब लोकसभा का टिकट मांगने आए थे

By: | Last Updated: Wednesday, 15 January 2014 5:54 AM
विनोद कुमार बिन्नी पर पहली बार बोले केजरीवाल, कहा- पहले मंत्री बनना चाहते थे अब लोकसभा का टिकट मांगने आए थे

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी आम आदमी पार्टी में बगावत के सुर बुलंद होने लगे हैं. पार्टी के तेज तर्रार और राजनीति के अनुभवी माने जाने वाले विधायक विनोद कुमार बिन्नी पार्टी से नाराज हैं.

 

विधायक विनोद कुमार बिन्नी की बगावत पर मुख्यमंत्री केजरीवाल की पहली प्रतिक्रिया आई है. केजरीवाल ने कहा है कि पहले बिन्नी मंत्री बनना चाहते थे और अब लोकसभा का टिकट मांगने आए थे. लेकिन आपको याद दिला दें कि जब पिछली बार मंत्री न बनाए जाने को लेकर बिन्नी की नाराजगी की खबर आई थी तब केजरीवाल ने कहा था कि मंत्री बनने को लेकर कोई झगड़ा नहीं है.

 

अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि कल विनोद कुमार बिन्नी मिले थे उन्होंने उस दौरान कहा कि मेरे को कोई पद नहीं चाहिए. उन्होंने कहा था कि मैं नाराज नहीं हूं. विनोद कुमार बिन्नी पहले मंत्री पद के लिए आए थे मैंने मना कर दिया. लोकसभा के लिए टिकट मांगने आए थे लेकिन पार्टी ने निर्णय लिया कि हम विधायकों को लोकसभा में टिकट नहीं देंगे.

 

दूसरी तरफ बिन्नी ने कहा है कि केजरीवाल झूठ बोल रहे हैं.

 

क्यों बागी हुए बिन्नी?

बिन्नी ने कहा है कि चुनाव में जनता से जो वादे किये गये थे पार्टी उन वादों के हिसाब से काम नहीं कर रही है. बिन्नी ने केजरीवाल सरकार पर कथनी और करनी में फर्क का आरोप लगाया है. बिन्नी कल सुबह प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे.

 

आपको बता दें कि इससे पहले भी बिन्नी लक्ष्मीनगर से विधायक बिन्नी मंत्रियों की लिस्ट से नाम कटने के बाद खासा नाराज थे और उस दौरान उन्होंने कहा था कि वह प्रेस कांफ्रेंस करके आम आदमी पार्टी के बारे में खुलासा करने वाले हैं. लेकिन रात ही रात पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह और कुमार विश्वास देर रात उनके घर गए और उन्हें मना लिया था.

 

कौन हैं बिन्नी?

विनोद कुमार बिन्नी ने लक्ष्मीनगर विधानसभा सीट से दिल्ली सरकार के नंबर दो हैसियत वाले स्वास्थ्य मंत्री एके वालिया को हराया है. विधायक बनने से पहले निर्दलीय से वे दो बार पार्षद रह चुके हैं. सबसे कम उम्र में पार्षद बनने का उनका रिकार्ड है. आम आदमी पार्टी के टिकट पर वह पहली बार विधायक बने हैं.