वो जहां खड़े हो जाते हैं लाइन वहीं से शुरू हो जाती है, जानें- अमिताभ बच्चन की 75 कहांनियां

वो जहां खड़े हो जाते हैं लाइन वहीं से शुरू हो जाती है, जानें- अमिताभ बच्चन की 75 कहांनियां

आप नाम गिनते गिनते थक जाएंगे, गिनती खत्म हो जाएगी लेकिन वो किरदार नहीं, जिन्हें अमिताभ ने पर्दे पर ना सिर्फ निभाया है बल्कि जिया है. इसलिए तो उन्हें कहा जाता है सदी का महानायक. आज 75 साल के हो गए हैं अमिताभ बच्चन जिनमें से लगभग 48 साल से वो फिल्मों में काम कर रहे हैं.

By: | Updated: 11 Oct 2017 12:58 PM

बॉलीवुड के शंहशाह आज अपना 75वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं. करीब 48 साल से इंडस्ट्री में काम कर रहे बिग बी को उनके फैंस लगातार जन्मदिन की शुभकामनाएं भेज रहे हैं. ट्विटर पर कल रात से ही #Happy75thBirthdayABSir ट्रेंड कर रहा है. बिग बी के 75वें बर्थडे पर आपको बता रहे हैं उनकी 75 कहांनियां....


1. आप नाम गिनते गिनते थक जाएंगे, गिनती खत्म हो जाएगी लेकिन वो किरदार नहीं,  जिन्हें अमिताभ ने पर्दे पर ना सिर्फ निभाया है बल्कि जिया है. इसलिए तो उन्हें कहा जाता है सदी का महानायक. आज 75 साल के हो गए हैं अमिताभ बच्चन जिनमें से लगभग 48 साल से वो फिल्मों में काम कर रहे हैं.


2. आजकल उनके टीवी शो ‘केबीसी’ का नौवां सीज़न चल रहा है, यानि ये कोई नया शो नहीं है सालों से लोग इसे देख रहे हैं, लेकिन कमाल की बात है कि नौंवें सीजन में भी ये शो नंबर वन शो बन गया, ये है अमिताभ बच्चन का जादू.
11


3. इस जादू के पीछे कई कहानियां, कई विवाद, कई रंग, कई उतार चढ़ाव रहे हैं, जिन्हें हम आपके लिए लेकर आए हैं 75 कहानियों में, वो कहानियां जो अमिताभ को अमिताभ बनाती हैं, तो शुरू करते हैं...शुरू से.


4. अमिताभ बच्चन का जन्म 11 अक्टूबर 1942 को इलाहाबाद मे हुआ था. अमिताभ के पिता हरिवंश राय बच्चन अमिताभ का नाम इंकलाब रखना चाहते थे. लेकिन उनके पिता के दोस्त और हिंदी के मशहूर कवि सुमित्रानंदन पंत के कहने पर उन्होंने अपने बेटे का नाम रखा अमिताभ रखा.


अमिताभ का सरनेम श्रीवास्तव हुआ करता था, लेकिन उनके पिता- बेहद प्रसिद्ध कवि और लेखक हरिवंश राय ने अपना पेन नेम बच्चन चुना था, इसलिए अमिताभ ने भी अपने नाम के आगे बच्चन लगा लिया. इस तरह से अमिताभ श्रीवास्तव से वे अमिताभ बच्चन बन गए.
5. आपको ये जानकर हैरानी होगी कि अमिताभ के बचपन में किसी समय ऐसे दिन भी आए थे जब अमिताभ को 2 रुपये के लिए भी तरसना पड़ा था.


6. अमिताभ ने अपनी स्कूल की पढ़ाई नैनीताल के मशहूर शेरवुड स्कूल से की और इसके बाद दिल्ली विश्वविद्धालय के किरोड़ीमल कॉलेज से बीएससी की, पढ़ाई के दौरान वो थिएटर से जुड़े रहे.


7. अमिताभ इंजिनीयर बनना चाहते थे. भारतीय वायु सेना में काम करने की भी उनकी ख्वाहिश थी, लेकिन कॉलेज के बाद पहली नौकरी उन्हें कोलकता की एक शिपिंग फर्म बर्ड एंड कंपनी में मिली.


8. अमिताभ नौकरी में अच्छा पैसा तो कमा रहे थे लेकिन उनका मन कहीं और था. वो कुछ क्रिएटिव करना चाहते थे. उन्होंने अपने छोटे भाई अजिताभ को मन की बात बताई.


9. अजिताभ ने बड़े भाई अमिताभ के लिए फिल्मफेयर ‘माधुरी टेलेंट हंट’ का फर्म भरा जिसमें नए एक्टर्स से आवेदन मांगे गए थे, मगर अमिताभ को इसमें रिजेक्ट कर दिया गया.


10. दिलचस्प है कि अमिताभ एक बार ऑल इंडिया रेडियो में नौकरी के लिए गए थे. लेकिन उनसे कहा गया कि उनकी आवाज रेडियो के लिए फिट नहीं है, जबकि आज इसी आवाज के करोड़ों दीवाने हैं.
DLBwpBFXUAEL5ig11. ऑल इंडिया रेडियो ने भले ही उनकी आवाज़ रिजेक्ट कर दी लेकिन अमिताभ बच्चन ने फिल्मों में अपनी शुरुआत बतौर नैरेटर, अपनी आवाज़ देकर ही की थी. 1969 में निर्देशक मृणाल सेन भुवन शोम की फिल्म में अमिताभ ने अपनी आवाज दी थी और इसी फिल्म से अमिताभ ने हिंदी फिल्मों में एंट्री की थी. 1977 में सत्यजीत रे की फिल्म ‘शतरंज’ के खिलाड़ी में भी अमिताभ ने आवाज दी थी.


12. अमिताभ आज फिल्मों के लिए करोड़ों लेते हैं. लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि अमिताभ की पहली कमाई मात्र 300 रुपए थी.


13. अमिताभ ने बतौर अभिनेता अपनी शुरुआत के ए अब्बास की फिल्म ‘सात हिंदुस्तानी’ से की जिसमें उन्होंने एक शायर का किरदार निभाया था. ये अमिताभ की इकलौती ब्लैक एंड व्हाइट फिल्म थी.


14.‘सात हिंदुस्तानी’ फ्लॉप रही मगर अमिताभ को अपनी पहली ही फिल्म के लिए सर्वश्रेष्ठ नए अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार मिला.


15. मशहूर अभिनेता महमूद ने अमिताभ की शुरुआती संघर्ष के दिनों में काफी मदद की महमूद ने अमिताभ को अपने घर में रहने की इजाजत दी थी.


16. इसके बाद महमूद ने अमिताभ को अपनी फिल्म बॉम्बे टू गोवा का हीरो भी बनाया और जब अमिताभ बहुत कोशिश करके भी डांस नहीं कर पा रहे थे तो महमूद ने अमिताभ को डांस करना सिखाया.


17. फिल्मों में अमिताभ ने नकली आंसू तो कई बार बहाए हैं लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फिल्म ‘बॉम्बे टू गोवा’ की शूटिंग के दौरान उनकी आंखों से असली आंसू छलके थे.
18. जी नहीं ऐसा नहीं है कि अमिताभ को इस सीन के दौरान चोट लग गई थी बल्कि हुआ ये था कि अमिताभ की वजह से शत्रुघ्न सिन्हा को चोट लग गई थी और उनके मुंह से खून निकलने लगा और अपने दोस्त के मुंह से खून निकलता देख ही अमिताभ के आंसू निकल गए थे.


19. अमिताभ ने एक के बाद एक 16 ऐसी फिल्में दी थीं जो कि फ्लॉप रही थीं, उन्होंने तो बॉलीवुड छोड़कर जाने का मन बना लिया लेकिन फिर लेखक सलीम-जावेद ने उनकी फिल्म ‘बॉम्बे टू गोवा’ देखी और अपनी नई फिल्म में उनका नाम आगे कर दिया.


20. ये फिल्म थी प्रकाश मेहरा की ‘जंजीर’ जिसे कई बड़े एक्टर ठुकरा चुके थे. इस फिल्म ने अमिताभ की किस्मत बदल दी, जंजीर ने इंडस्ट्री को दिया एंग्री यंग मैन.
zazeer


21. जंजीर के बाद अमिताभ कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ते गए और उस दौर के सुपरस्टार राजेश खन्ना की कुर्सी हिलने लगी. अमिताभ ने शुरुआत दौर में राजेश खन्ना के साथ फिल्म आनंद में काम किया था. तब राजेश खन्ना बहुत बड़े स्टार हुआ करते थे.


22. लेकिन फिर कुछ साल बाद इन दोनों ने फिल्म ‘नमक हराम’ में साथ काम किया इस वक्त तक दौर बदल चुका था. फिल्म ‘नमक हराम’ का जिक्र करते हुए राजेश खन्ना ने एक इंटरव्यू में कहा था, जब मैंने लिबर्टी सिनेमा में फिल्म ‘नमक हराम’ का ट्रायल शो देखा तो मुझे पता लग गया था कि मेरा दौर खत्म हो गया है. मैंने कहा था ये रहा कल का सुपरस्टार.


23. विजय दीनानाथ चौहान- ये नाम यानि ‘विजय’ अमिताभ की पहचान बन गया था. यूं तो अमिताभ ने पर्दे पर कई किरदार निभाए लेकिन ‘विजय’ नाम का किरदार पर्दे पर 20 बार निभाया.


24. अमिताभ बच्चन ने लगभग 12 फिल्मों में डबल रोल किया है. इतना ही नहीं एक फिल्म निर्देशक एस. रामानाथन की 'महान' में उन्होंने तिहरी भूमिका यानी ट्रिपल रोल किया है, हालांकि महान फ्लॉप रही.


25. अमिताभ बच्चन और जया भादुड़ी की पहली मुलाकात पुणे के फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टीट्यूट में हुई थी, दूसरी बार वे ऋषिकेश मुखर्जी की फिल्म 'गुड्डी' के सेट पर मिले, जया उनसे पहले स्टार बन गयी थीं.


26. कहा जाता है ऋषिकेश मुखर्जी ने 'गुड्डी' में नायक के तौर पर पहले अमिताभ बच्चन को चुना था लेकिन बाद में अमिताभ को यह कहकर फिल्म से हटा दिया गया, कि वह इस भूमिका में 'सूट' नहीं करते, इसके बाद फिल्म में नायक का किरदार समित बांजा को सौंपा गया.


27. अमिताभ फिल्म ‘गुड्डी’ से भले बाहर हो गए लेकिन जया भादुड़ी के दिल में बने रहे. जब जया राजेश खन्ना के साथ फिल्म ‘बावर्ची’ की शूटिंग कर रहे थे तो अमिताभ वहां उनसे मिलने आया करते थे.


28. रेडिफ डॉट कॉम में छपे एक लेख के मुताबिक एक दिन सेट पर अमिताभ को देखकर राजेश खन्ना ने जया भादुड़ी से कहा था, क्यों तुम इस आदमी के साथ घूमती हो, तुम्हारा कुछ नहीं होगा, ये आदमी कभी हीरो नहीं बन सकता ये मेरा चैलेंज है.


29. पत्रकार अली पीटर जॉन के मुताबिक साल 1972 में फिल्म ‘बावर्ची’ की शूटिंग के दौरान ही एक दिन जया भादुड़ी को राजेश खन्ना के इस बर्ताव से बेहद गुस्सा आ गया. अली पीटर जॉन के मुताबिक उनके सामने ही जया भादुड़ी ने एक बार राजेश खन्ना से कहा था, एक दिन देखना ये कहां होगा और तुम कहां होगे.


30. एक दौर ऐसा था जब अमिताभ को फिल्म ‘जंजीर’ के लिए हीरोइन नहीं मिल रही थी, ऐसे में जया भादुड़ी अमिताभ की हीरोइन बनने के लिए राजी हुई और फिर दुनिया जानती है कि जंजीर के बाद अमिताभ की जिंदगी कैसे बदल गई.
zanjeer-7591 (1)


31. फिल्म ‘जंजीर’ की कामयाबी के बाद अमिताभ और जया इस फिल्म की कामयाबी का जश्न मनाने के लिए लंदन जाना चाहते थे, लेकिन अमिताभ के माता-पिता को इस बात पर ऐतराज था.


32. माता पिता ने अमिताभ से कहा कि अगर जया को लंदन लेकर जाना है तो शादी करके लेकर जाओ. बस फिर क्या था, अमिताभ ने 3 जून 1973 को झटपट जया से शादी कर ली


33. जया से शादी के करीब तीन साल बाद अमिताभ की जिंदगी में रेखा की एंट्री हुई दोनों के अफेयर के चर्चे होने लगे.


34. रेखा अमिताभ की जोड़ी ने कई कामयाब फिल्मों जैसे ‘मुकद्दर का सिंकदर’, ‘खून पसीना’, ‘मिस्टर नटवरलाल’ में काम किया, ज्यादातर फिल्में बहुत हिट रहीं.
35. खबरें छपीं कि रेखा और अमिताभ के रिश्ते की खबर जब जया बच्चन को मिली तो उनके घर खूब हंगामा हुआ. जया ने रेखा को मिलने के लिए भी बुलाया.


36. लेकिन फिर खबर आयी ‘सिलसिला’ की अमिताभ, जया और रेखा एक साथ, एक फिल्म में, ये हैरान करने वाला फैसला था.
amitabh-bachchan-silsila


37. निर्देशक यश चोपड़ा ने ‘सिलसिला’ के लिए पहले परवीन बाबी और स्मिता पाटिल को साइन किया था, लेकिन यश चोपड़ा के मुताबिक फिर खुद अमिताभ ने जया और रेखा को इस फिल्म में काम करने के लिए मनाया. ऐसा क्यो किया गया इसका कोई जवाब नहीं है.


38. फिल्म ‘सिलसिला’ वो इकलौती फिल्म है जिसमें अमिताभ ने शशि कपूर के छोटे भाई का रोल किया है. बाकी सारी फिल्मों में अमिताभ शशि कपूर के बड़े भाई बने हैं.


39. बेहद प्रचार के बावजूद 1980 में रिलीज़ ‘सिलसिला’ फ्लॉप हो गयी. इसके बाद रेखा और अमिताभ ने साथ काम नहीं किया.


40. 1983 में फिल्म ‘कुली’ की शूटिंग के दौरान अमिताभ को चोट लगी और वो अस्पताल में मौत से लड़ रहे थे. रेखा के मुताबिक तब उन्हें अमिताभ से मिलने तक नहीं दिया गया. दोनों के रिश्ते का सिलसिला भी वहीं थम गया.


41. अमिताभ ने एक्टिंग के साथ साथ राजनीति में भी हाथ आजमाया था. 1984 में भूतपूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद अमिताभ बच्चन इंदिरा के बेटे और अपने मित्र राजीव गांधी के कहने पर राजनीति में शामिल हुए थे.


42. उन्होंने इलाहाबाद की लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा और जीता, लेकिन बोफोर्स विवाद में नाम आने के बाद में अमिताभ ने राजनीति छोड़ दी.


43. उन्होंने राजनीति से वापस फिल्मों में वापसी फिल्म ‘शहंशाह’ से की जो कि कामयाब रही. फिल्म का ये डायलॉग अमिताभ की पहचान बन गया, ‘रिश्ते में तो हम तुम्हारे बाप लगते हैं, नाम है शहंशाह.’
maxresdefault


44. मगर शहंशाह के बाद अमिताभ के करियर का पतन शुरू हो गया. ‘गंगा जमुना सरस्वती’, ‘तूफान’ , ‘जादूगर’ जैसी उनकी फिल्में बुरी तरह पिट गयीं.


45. 1990 की फिल्म ‘अग्निपथ’ में अमिताभ ने अपनी आवाज़ बदल कर नया प्रयोग किया. फिल्म के डायलॉग आज तक बहुत मशहूर हैं.


46. लेकिन 1990 में अमिताभ का ये आवाज़ बदलने वाला प्रयोग लोगों की समझ में नहीं आया और ‘अग्निपथ’ औंधे मुंह गिरी. इस फ्लॉप फिल्म के बाद लोग कहने लगे थे कि अमिताभ का जादू खत्म हो गया है.


47. ‘अग्निपथ’ के बाद ‘आज का अर्जुन’ और ‘हम’ की सफलता ने अमिताभ को वापस रेस में ला दिया था, लेकिन अमिताभ की उम्र बढ़ रही थी और वो समझ चुके थे कि उन्हें कुछ नया करना होगा.


48. उन्होंने फिल्मों से पांच साल का ब्रेक ले लिया इस दौरान उन्होंने ‘अमिताभ बच्चन कॉरपोरशन लिमिटेड’ यानि ‘एबीसीएल’ नाम की कंपनी की शुरुआत की. ये फिल्म निर्माण और इवेंट्स से जुड़े कामों में सक्रिय हो गई.


49. इसके साथ ही 1997 में फिल्म ‘मृत्युदाता’ के जरिए अमिताभ ने अभिनय में वापसी की. ‘मृत्युदाता’ बहुत बड़ी फ्लॉप साबित हुई.


50. वापसी नाकाम रही और इधर ‘एबीसीएल’ को भी शुरुआती सफलता के बाद 1999 में जबरदस्त नुकसान झेलना पड़ा. अमिताभ बच्चन बर्बादी की कगार पर पहुंच गए यहां तक कि अमिताभ को अपने घर ‘प्रतीक्षा’ को भी गिरवी रखना पड़ा.


51. अमिताभ बुरे दौर से गुज़र रहे थे, उनपर बहुत कर्जा था और काम भी नहीं था. ऐसे समय में अमिताभ बच्चन काम मांगने यश चोपड़ा के पास गए, यश चोपड़ा ने उन्हें अपनी फिल्म ‘मोहब्बतें’ में खास रोल दिया.


52. इसी दौरान अमिताभ ने टीवी पर ‘कौन बनेगा करोड़पति’ भी होस्ट किया. ये शो आया और इसने टेलीविजन का इतिहास ही बदलकर रख दिया. अमिताभ ने छोटे पर्दे को बड़ा कर दिया था.


53.‘मोहब्बते’ भी खूब हिट रही और फिल्मों में भी अमिताभ की एक नई पारी शुरु हुई जो पहले से भी ज्यादा दमदार और कामयाब रही.


sZskPu8xypYo0e5s


54. अमिताभ बच्चन के साथ मीडिया के रिश्ते भी उतार-चढ़ाव भरे रहे हैं. 1970 के दशक में मीडिया ने अमिताभ को बैन कर दिया था. हुआ यूं था कि स्टारडस्ट मैगजीन ने अमिताभ के निजी जीवन से जुड़ी कुछ चीजों को छाप दिया था जिसके बाद तो अमिताभ का पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया और खबरें थी कि अमिताभ मैग्जीन को बंद करवाने की जदोजहद में लग गए थे.


55. अमिताभ के इस बर्ताव को देखते हुए मैग्जीन्स के एक समूह ने अमिताभ को बैन करने का फैसला लिया, यह सिलसिला लगभग 17 सालों तक चला लेकिन फिर बाद में सब ठीक ठाक हो गया.


56. अमिताभ के पसंदीदा एक्टर दिलीप कुमार रहे हैं, कॉलेज के जमाने में अमिताभ ने उनकी फिल्म ‘गंगा जमुना’ 20 बार देखी थी.


57. दिलीप कुमार के साथ काम करने का मौका अमिताभ को फिल्म ‘शक्ति’ में मिला. दोनों ने बाप बेटे की भूमिका निभाई.


58.‘शक्ति’ बॉक्स ऑफिस पर ज्यादा तो नहीं चली पर फिल्म के लिए दिलीप कुमार को बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड मिला लेकिन अमिताभ फिर भी इसे करियर की बड़ी उपलब्धि मानते हैं


59. उनकी मनपसंद अभिनेत्री वहीदा रहमान हैं जिनके साथ उन्होंने ‘कभी कभी’, ‘अदालत’ और ‘महान’ जैसी फिल्मों में काम किया है.


60. वहीदा रहमान, राखी और नूतन वो सीनियर अभिनेत्रियां हैं जिन्होंने अलग-अलग फिल्मों में अमिताभ की पत्नी और मां दोनों रोल निभाए हैं.


61. अपनी दूसरी पारी में अमिताभ ने ‘खाकी’ ‘बागबान’ और ‘सरकार’ जैसी कामयाब फिल्में दीं. ‘एंग्री यंग मैन’ के बाद उहें ‘एंग्री ओल्ड मैन’ का खिताब भी दे दिया गया.
amitabh-bachchan-sarkar-7659

62. अमिताभ के बचपन में उनका हाथ पटाखे से जल गया था जिसका निशान उनके हाथ पर आज भी है. फिल्म ‘अग्निपथ’ में उन्होंने इस निशान से जुड़ा एक डायलॉग तक रखा था.


63. संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘ब्लैक’ में शानदार अभिनय के लिए अमिताभ को राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया.


64. फिल्म ‘शोले’ में अमिताभ पहले डाकू गब्बर सिंह का किरदार निभाना चाहते थे. ये मौका उन्हें ‘शोले’ की रीमेक, रामगोपाल वर्मा की ‘आग’ में मिला, लेकिन इस खराब फिल्म ने नाकामी का इतिहास बना दिया.


65. फिल्म ‘पा’ के लिए अमिताभ ने प्रोजीरिया से ग्रस्त एक बच्चे की भमिका निभाई, हैरानी की बात थी कि फिल्म में उनके बेटे अभिषेक, उनके पिता की भूमिका में थे. भूमिकाओं के इस उलट-पुलट के लिए इन दोनों का नाम गिनीज़ बुक में दर्ज है. फिल्म के लिए अमिताभ को फिर नेशनल अवॉर्ड मिला.


66. यूं तो ‘सिलसिला’ के बाद अमिताभ रेखा के साथ स्क्रीन पर कभी नज़र नहीं आए, लेकिन अमिताभ की कई फिल्में जैसे ‘याराना’ और ‘आखिरी रास्ता’ में नीतू सिंह और श्रीदेवी जैसी अमिताभ की हीरोइनों को रेखा ने अपनी आवाज़ दी.


67. खास बात ये रही कि 2015 की फिल्म ‘शमिताभ’ में रेखा मेहमान भूमिका में दिखीं. फिल्म के एक सीन में रेखा फिल्म के हीरो अमिताभ बच्चन की आवाज़ की तारीफ करती नज़र आती हैं.


68. 2015 में ही अमिताभ ने फिल्म ‘पीकू’ में शानदार अभिनय किया फिल्म हिट रही और एक बार फिर अमिताभ ने राष्ट्रीय पुरस्कार जीता. अमिताभ की दूसरी पारी उनकी पहली पारी से कहीं ज्यादा सफल रही.


piku


69. अमिताभ को ‘पद्म श्री’, ‘पद्म भूषण’ और ‘पद्म विभूषण’ से नवाजा जा चुका है. 2007 में फ्रांस की सरकार ने उन्हें सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘Knight of the Legion of Honour’ से सम्मानित किया था.


70. अमिताभ बच्चन ने 2013 की मशहूर हॉलीवुड फिल्म ‘The Great Gatsby’ में एक छोटा मगर अहम रोल निभाया था. फिल्म के हीरो सुपरस्टार लिओनार्डो द कैप्रियों थे.
71. अमिताभ के बेटे अभिषेक और बहू ऐशवर्या ने 2005 की फिल्म ‘बंटी और बबली में साथ में डांस किया था जो ब्लॉकबस्टर रहा था. ये अकेला गाना है जिसमें ये तीनों साथ नज़र आए हैं.


72. पहले गांधी परिवार और कॉन्ग्रेस पार्टी के करीबी माने जाने वाले अमिताभ बच्चन की गांधी परिवार से दूरियां हो गयी थीं. बाद में मोदी सरकार में गुजरात टूरिज्म के ब्रांड एंबैस्डर होने के साथ-साथ अमिताभ ने कई सरकारी योजनाओं के लिए प्रचार भी किया.


73. अमिताभ के बेटे अभिषेक भले ही उनकी तरह कामयाबी की ऊंचाइयां ना छू पाए हों मगर अमिताभ आज भी कई फिल्मों में व्यस्त हैं. आजकल वो आमिर खान के साथ यशराज बैनर की फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तान’ में काम कर रहे हैं.


74. आपको शायद पता ना हो कि ‘कुली’ की दुर्घटना के बाद अमिताभ बच्चन का सिर्फ 25 फीसदी लीवर ही काम करता है. एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अमिताभ ने बताया था कि एक बार जब उनकी तबीयत बिगड़ी थी तो उन्हें 200 बोतल खून चढ़ाया गया था, जिसमें किसी एक यूनिट ब्लड में हेपाटाइटस बी का वायरस मौजूद था जिसकी वजह से बिग बी भी उस वायरस से इन्फेक्टेड हो गए और उनके लीवर का 75% हिस्सा खराब हो गया.


75. ज़रा सोचिए सिर्फ 25 फीसदी लीवर के साथ भी आज 75 साल का ये शख्स जिस ऊंचाई पर पहुंचा जहां किसी के लिए पहुंचना अब नामुमकिन सा लगता है. आज भी अमिताभ फिल्मों में अपनी शानदार अदायगी से इतिहास लिख रहे हैं. हमारी तरफ से अमिताभ को एक बार फिर से हैप्पी बर्थडे.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Bollywood News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story विराट ने अनुष्का को पहनाई बेशकीमती हीरे की अंगूठी, कीमत जान रह जाएंगे हैरान