आमिर के समर्थन में बोले रहमान, 'मैं पहले ही हो चुका हूं असहिष्णुता का शिकार'

By: | Last Updated: Wednesday, 25 November 2015 5:35 AM
A R Rahman identifies with Aamir Khan, says he too faced similar situatio

नई दिल्ली: बॉलीवुड सुपरस्टार आमिर खान के असहिष्णुता के मुद्दे बहस जारी है. सोशल मीडिया, पॉलिटिकल पार्टीज से लेकर बॉलीवुड तक दो हिस्सों में बंटा नजर आ रहा है. कुछ लोगों ने आमिर के इस बयान का समर्थन किया तो कुछ इसके विरोध में आ गए. इन सबके बीच आमिर को संगीतकार ए आर रहमान का समर्थन मिला है.

रहमान ने आमिर का समर्थन करते हुए कहा कि उन्हें भी एक बार आमिर जैसे हालात का सामना करना पड़ा था. रहमान ने कहा कि कुछ महीने उन्हें भी वैसा ही लगता था जैसा आमिर की पत्नी किरण राव को लगता है. लेकिन रहमान ने अब के बारे में नहीं बताया.

 

ऑस्कर विजेता ए आर रहमान मंगलवार को पणजी में हो रहे 46वें इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया में मौजूद थे. उन्होंने बताया कि कुछ महीने पहले वह भी आमिर जैसे हालात से गुजरे हैं. मुंबई की रजा अकादमी द्वारा जारी किए गए एक फतवे के बारे बताते हुए उन्होंने कहा कि यह फतवा ईरानी फिल्म मोहम्मद (मैसेंजर ऑफ गॉड) में म्यूजिक देने के कारण दिया गया था. फतवे में कहा गया था कि ईरानी फिल्म ने इस्लाम का मजाक उड़ाया है. जो मुस्लिम मजीदी और रहमान इस फिल्म में काम कर रहे हैं वो नापाक हो गए हैं उन्हें फिर से कलमा पढ़ने की जरूरत है.

 

रहमान ने कहा कि कुछ भी हिंसक नहीं होना चाहिए. हमें दुनिया को यह दिखाना चाहिए कि भारत में बेस्ट सिविलाइजेशन है. हमें पूरी दुनिया को बताना चाहिए की हम महात्मा गांधी के देश से हैं. गांधीजी ने कहा था कि हिंसा के बिना भी हम कैसे बदलाव ला सकते हैं.

 

ऑस्कर और ग्रैमी पुरस्कार जीत चुके रहमान को लगता है कि किसी प्रकार के विरोध का स्वागत है, लेकिन वह उत्तम दर्जे का होना चाहिए और लोगों को एक-दूसरे के खिलाफ हिंसा नहीं करनी चाहिए.

 

रहमान का कहना है कि देश में बढ़ती असहिष्णुता के खिलाफ बुद्धिजीवियों का एक वर्ग जिस प्रकार से प्रदर्शन कर रहा है वह उन्हें काव्यात्मक लगते हैं क्योंकि उनकी प्रकृति अहिंसक है. एनएफडीसी फिल्म बाजार से इतर एक साक्षात्कार में रहमान ने कहा, ‘‘कोई भी काम उम्दा तरीके से किया जाना चाहिए, और किसी भी प्रकार का विरोध अच्छे तरीके से किया जाना चाहिए. मुझे लगता है कि एक दूसरे के खिलाफ हिंसा की बजाय, लोग जो कर रहे हैं वह बहुत काव्यात्मक है.’’

 

48 वर्षीय संगीतकार का कहना है कि भारत को उदाहरण पेश करना चाहिए क्योंकि वह महात्मा गांधी का देश है, जिन्होंने देश में अहिंसात्मक आंदोलन का नेतृत्व किया.

 

रहमान ने कहा, ‘‘हमें पूरी दुनिया के सामने उदाहरण पेश करना चाहिए क्योंकि हम महात्मा गांधी की धरती से आते हैं. उन्होंने पूरी दुनिया को दिखाया है कि कैसे अहिंसा के जरिए क्रांति की जा सकती है.’’ यह पूछने पर कि क्या मुसलमान देश में असुरक्षित हैं, उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस सवाल का जवाब देने की स्थिति में नहीं हूं.’’ उनसे जब आमिर खान की टिप्पणियों के बारे में सवाल किया गया तो, रहमान ने कहा, ‘‘मुझे परेशानी में न डालें.’’

 

 

आमिर खान को ए आर रहमान का समर्थन? 

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: A R Rahman identifies with Aamir Khan, says he too faced similar situatio
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: a r rahman Aamir Khan
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017