फतवे पर रहमान ने कहा, 'म्यूजिक न देता तो अल्ला को क्या जवाब देता'

By: | Last Updated: Tuesday, 15 September 2015 5:06 AM
A R Rahman Reacts on Fatwa Controversy

नई दिल्ली: पैंगबर मोहम्मद पर बनी फिल्म ‘मोहम्मद: मैसेंजर ऑफ गॉड’ में संगीत देने पर मिले फतवे का जवाब संगीतकार रहमान ने अपने सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर दिया है. रहमान ने विरोध करने वाले लोगों के नाम एक खुला खत लिखा है. रहमान ने पत्र में लिखा है कि उन्होंने सिर्फ फिल्म में संगीत दिया है न कि फिल्म का निर्देशन किया है.

 

आपको बता दें कि मुसलमानों की एक संस्था रजा अकादमी ने इस फिल्म की कड़ी आलोचना की है और फिल्म पर प्रतिबंध की मांग करते हुए गृह मंत्री राजनाथ सिंह और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को पत्र भी लिखा है.

 

पढें- Gossip: रितिक से तलाक के बाद सुजैन करने वाली हैं दूसरी शादी

 

मुंबई के एक सुन्‍नी संगठन ने भी इस फिल्‍म में खुदा का मजाक बनाए जाने का आरोप लगाया है. साथ ही संगठन ने रहमान को इस फिल्म में म्यूजिक देने पर उन्हें नापाक करार दिया है. रहमान के साथ ही मजीदी के खिलाफ भी फतवा जारी किया गया है. संगठन ने मजीदी की फिल्म से मुस्लिमों की धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचाने का आरोप लगाया है.

 

इस संगठन का कहना है कि मोहम्मद साहब की तस्वीर बनाई या रखी नहीं जा सकती है. ये फिल्म इस्लाम का मजाक उड़ाती है. इनका कहना है कि ‘इस फिल्म में प्रोफेशनल एक्टर्स ने काम किया है, जिनमें से कुछ गैर-मुस्लिम भी हैं. इसमें काम करने वाले, विशेषकर मजीदी और रहमान, दोनों नापाक हो गए हैं और उन्हें दोबारा कलमा पढ़ना होगा.’

 

Box Office: कमाई के मामले में रणबीर-अनुष्का से आगे निकले सूरज-अथिया 

 

आपको बता दें कि इस फतवे की वजह से रहमान एक म्यूजिक शो भी कैंसिल करना पड़ा था. इसके बाद रहमान ने फतवा जारी करने वाली संस्था को जवाब देते हुए लिखा है, ‘मैंने अच्छी नियत के साथ इस फ़िल्म में संगीत देने का फ़ैसला किया था. इसका मक़सद किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाना नहीं था.’

 

रहमान का कहना है, ‘मैंने ‘मोहम्मद: मैसेंजर ऑफ गॉड’ को डायरेक्ट नहीं किया है. मैंने इस फिल्म में सिर्फ म्यूजिक दिया है.’ इस संगठन ने प्रोड्यूसर माजिद के खिलाफ भी फतवा जारी किया था. इस बारे में रहमान ने लिखा है, ‘मैं इस्लाम का ज्ञाता नहीं हूं. मैं बीच के रास्ते को मानता हूं, मेरा कुछ हिस्सा परंपरावादी है और थोड़ा हिस्सा तर्कवादी.’

 

इस संगठन ने पहले कहा था, ‘मुस्लिम होने के नाते हमें कुछ करना चाहिए. ताकि जब हम अल्लाह के सामने पेश हों तो वो ये न कहे कि तुमने इसे रोकने के लिए कुछ नहीं किया.’ इसी के जवाब में रहमान ने लिखा है, ‘फ़िल्म में संगीत देने का फ़ैसला भी उसी कारण से किया गया था कि अगर मैं भाग्यशाली रहा और मुझे अल्लाह से रूबरू होने का मौक़ा मिला और क़यामत के दिन अल्लाह ने मुझसे पूछा कि मैंने तुम्हें दौलत, शोहरत, सेहत सबकुछ दिया. तो फिर तुमने मेरे प्रिय मोहम्मद पर बनी फ़िल्म के लिए संगीत क्यों नहीं दिया. एक ऐसी फ़िल्म जिसका मक़सद मानव जाति में एकता पैदा करना, ग़लत धारणाओं को दूर करना है.?’

 

रहमान ने भारत की तारीफ़ करते हुए लिखा, ‘हम भाग्यशाली हैं कि भारत जैसे देश में रहते हैं, जहां धार्मिक आज़ादी है और सभी समुदायों के लोगों का मक़सद हिंसा और नफ़रत को नकारते हुए अमन चैन से रहना है.

 

VIDEO: अभिनेत्री पूजा मिश्रा की होटल स्टाफ के साथ मारपीट, दी गालियां 

 

253 करोड़ की लागत से बनी यह फिल्म 18 अगस्त को ईरान में रिलीज हो चुकी है. ईरान के माजिद मजीदी ने इस फ़िल्म का निर्देशन किया है. ईरान में बनी ये अब तक की सबसे मंहगी फ़िल्म है.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: A R Rahman Reacts on Fatwa Controversy
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017