क्या आमिर खान के बयान को गलत समझा गया ?

By: | Last Updated: Wednesday, 25 November 2015 12:48 PM

नई दिल्ली: देश के माहौल पर फिल्म अभिनेता आमिर खान के बयान को लेकर हंगामा मचा हुआ है सरकार भी संसद में असहनशीलता पर बहस के लिए राजी हो गई है. उधर आमिर के समर्थन और खिलाफ में हस्तियां उतर रही हैं.

 

”…मैं अपने मुल्क को अपना घर समझता हूं और अपना घर बचाने के लिए मुझे किसी सलीम की जरूरत नहीं है…” सोशल मीडिया पर सरफरोश फिल्म का यह डायलॉग शेयर किया जा रहा है. देश के माहौल पर बयान देकर आमिर खान घिरे हुए हैं. प्रदर्शन सड़कों पर हो रहे हैं. लखनऊ में तो शवयात्रा तक निकाल दी गई.

 

इन सबपर पहली बार आमिर ने सफाई दी. आमिर खान ने अपनी सफाई में कहा, “‘सबसे पहले मैं एक बात साफ करना चाहूंगा कि ना मेरा, ना मेरी पत्नी का का कोई इरादा है ये देश छोड़ने का. ना हमारा ऐसा कोई इरादा था, ना है और ना ही रहेगा. इंटरव्यू के दौरान मैंने जो कहा है मैं उसपर अटल हूं.”

 

आमिर ने आगे कहा, ”जो लोग इस वक्त मुझे भद्दी गालियां दे रहे हैं क्योंकि मैंने अपने दिल की बात कही है उनसे मैं कहना चाहूंगा कि मुझे बड़ा दुख है कि मेरा कहा वो सच साबित कर रहे हैं.”

 

आमिर ने रामनाथ गोयनका पत्रकारिता सम्मान समारोह के दौरान कहा था कि इस माहौल में पहली बार किरन ने देश छोड़ने की बात कही थी. आमिर की सफाई से पहले ही विपक्ष सरकार पर हमलावर हो चुका था.  

 

राहुल गांधी से लेकर मुलायम सिंह यादव तक आमिर खान के समर्थन में आ गए. नतीजा ये हुआ कि सरकार संसद में असहनशीलता पर बहस के लिए राजी हो गई है. संसदीय कार्यमंत्री वेंकैया नायडू ने इस बात की जानकारी दी.

 

हालांकि कल ही आमिर पर बीजेपी ने चौतरफा हमला बोला था. कोई विदेश भेजने के लिए टिकट देने की बात कह रहा था तो किसी को काले धन की बू आ रही थी. बीजेपी की साथी शिवसेना आमिर को थ्री इडियट्स के रणछोड़दास का किरदार याद दिला रही है. 

 

शिवसेना ने सामना में लिखा है, “आमिर खान के इस बयान से उसके सत्यमेव जयते का मुखौटा उतर गया है और देशभक्ति का गुब्बारा भी फूट गया है. हिंदुस्तान यदि रहने लायक नहीं रहता तो यह इडियट रणछोड़दास किस देश जाने वाला है ? जिन्हें यह देश अपना नहीं लगता वे बेवजह देशभक्ति व ‘सत्यमेव जयते’ का राग नहीं अलापें.”

 

हमले बॉलीवुड से भी हुए हैं लेकिन आमिर के लिए रंग दे बसंती और लगान जैसी कई हिट फिल्मों में संगीत दे चुके ए आर रहमान आमिर के बचाव में हैं.

 

एआर रहमान के मुताबिक कुछ महीने पहले मुझे भी वैसा ही लगता था जैसा आमिर की पत्नी किरण राव को लगता है. मुझे ऐसा तब लगता था जब रजा अकादेमी ने मुहम्मद – द मैसेंजर ऑफ गॉड में संगीत देने के बाद मेरे खिलाफ फतवा जारी किया था.

 

हालांकि भारत में लंबे समय से रह रही बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन कह रही हैं कि 21 साल से यहां रहते हुए मुझे कभी नहीं लगा कि मैं बाहरी हूं 

 

आमिर के बयान पर उनके समर्थन और खिलाफ में बहुत लोग उतरे. लेकिन अब उनकी सफाई के बाद बड़ा सवाल ये है कि क्या आमिर को गलत समझा गया?

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Aamir Khan’s statement was misunderstood ?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Aamir Khan Intolerance
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017