विश्व को जीत रहा मोतिहारी का फिल्मकार

By: | Last Updated: Saturday, 20 December 2014 4:35 PM
asi the lost river

मुंबई: विश्वजीत मुखर्जी द्वारा निर्देशित फिल्म “असि.. द लॉस्ट रिवर” (Asi …the lost river) का चयन दिल्ली अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के लिए किया गया है. इस फिल्म का प्रदर्शन आगामी 21 दिसंबर को राजधानी के कनॉट प्लेस स्थित एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में किया जाएगा. यह फिल्म बनारस में बे मौत मर रही असि नदी को बचाने की दिशा में एक पहल है.

 

काशी के पंचगंगा फाउंडेशन द्वारा निर्मित इस डॉक्युमेंट्री फिल्म के माध्यम से असि को पुनर्जीवन देने के लिए सरकार से ठोस व कारगर कदम उठाने की मांग की गई है. फिल्म में दूषित नदी की हालत और उस पर हो रहे अतिक्रमण की समस्या को उजागर किया गया है. इस फिल्म में साहित्यकारों, कलाकारों, संगीतज्ञों एवं बुद्धिजीवियों के विचारों का समावेश है. ज्ञात हो कि इसी 5 नवंबर को बनारस में “असि.. द लॉस्ट रिवर” फिल्म को जल संसाधन मंत्री, उमा भारती ने रिलीज़ किया था. 

 

 

पिछले 8 सालों से दिल्ली में रह रहे 25 वर्षीय लेखक व डॉक्युमेंट्री फिल्मकार का जन्म मोतिहारी में हुआ. दिल्ली विश्वविद्यालय से इतिहास और फिर भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) से अंग्रेज़ी पत्रकारिता की पढ़ाई करने के बाद विश्वजीत ने ज़ी न्यूज़ और एबीपी न्यूज़ जैसे चैनलों में प्रोडक्शन का काम किया. मगर अपने अंदर की प्रतिभा को जगाने के लिए उन्होंने नौकरी छोड़ कर कुछ नया करने की सोची. बतौर डॉक्युमेंट्री फिल्मकार, विश्वजीत मुखर्जी ने अपनी पहली फिल्म मोतिहारी में जॉर्ज ऑरवेल के जन्मस्थान पर बनाई.

 

रोटरी मोतिहारी लेक टाउन द्वारा प्रायोजित “ऑरवेल …बट वाई” नामक डॉक्युमेंट्री फिल्म को विश्व भर की मीडिया में सराहा गया. यह फिल्म यू ट्यूब पर भी उपलब्ध है. खुद ऑरवेल के बेटे ने इस फिल्म को देखने के बाद निर्देशक मुखर्जी को ईमेल कर बधाई दी थी. बतौर निर्देशक, “असि.. द लॉस्ट रिवर” विश्वजीत की दूसरी फिल्म है. “फिल्म बनाते वक्त मैंने सोचा भी नहीं था कि इसे इतनी सफलता मिलेगी, फिल्म का ऐसे लेवल पर स्क्रीन होना अपने आप में बहुत बड़ी बात है”.

 

इन दिनों विश्वजीत अपनी आने वाली फिल्म की पोस्ट प्रोडक्शन में व्यस्त हैं. “दक्षिण एशिया के सबसे पुराने गैरिसन चर्च पर फिल्म बना रहा हूं”. अपनी डॉक्युमेंट्री फिल्मों में निर्देशन के अलावा रिसर्च और स्क्रिप्ट का काम भी वह खुद ही करते हैं.  डॉक्युमेंट्री फिल्मकार के साथ ही विश्वजीत एक सफल टिप्पणीकार एवं कवी भी हैं.

 

हिंदी के प्रमुख अख़बारों में फिल्मों एवं सामाजिक विषयों पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं. एक क्रांतिकारी के घर पैदा हुए, क्रांतिकारी सोच के साथ विश्वजीत अपने क्षेत्र में एक अलग पहचान बना रहे हैं. अगले साल अपनी एक और फिल्म की शूटिंग के लिए वह मोतिहारी आएंगे. “मैं अपने दादाजी को अपना आदर्श मानता हूं और उन्हीं की तरह अपने देश और मोतिहारी के लिए कुछ करना चाहता हूं”. 

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: asi the lost river
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

Watch : रिलीज हुआ 'भूमि' का पहला गाना 'ट्रिप्पी ट्रिप्पी', दिखा सनी का बोल्ड अंदाज
Watch : रिलीज हुआ 'भूमि' का पहला गाना 'ट्रिप्पी ट्रिप्पी', दिखा सनी का बोल्ड अंदाज

नई दिल्ली : संजय दत्त की आने वाली फिल्म ‘भूमि’ का पहला गाना ‘ट्रिप्पी ट्रिप्पी’ रिलीज हो...

मूवी रिव्यू: फीकी है 'बरेली की बर्फी'
मूवी रिव्यू: फीकी है 'बरेली की बर्फी'

स्टार कास्ट: आयुष्मान खुराना, कृति सैनन और राजकुमार राव, पंकज त्रिपाठी, सीमा पाहवा डायरेक्टर:...

आज रिलीज हो रही है ‘बरेली की बर्फी’, ‘पार्टीशन 1947’ और 'वीआईपी 2'
आज रिलीज हो रही है ‘बरेली की बर्फी’, ‘पार्टीशन 1947’ और 'वीआईपी 2'

नई दिल्ली: ‘बरेली की बर्फी’, ‘पार्टीशन 1947’ और वीआईपी 2 (ललकार) तीन फिल्में आज सिनेमाघरों में...

कई सितारों वाली फिल्म में काम करने पर कम दबाव महसूस होता है: परिणीति
कई सितारों वाली फिल्म में काम करने पर कम दबाव महसूस होता है: परिणीति

हैदराबाद : अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा का कहना है कि उनको कई सितारों से भरी फिल्म ‘गोलमाल अगेन’...

केरल के कोच्चि में सड़क पर दिखा सनी लियोनी के फैंस का हुजूम
केरल के कोच्चि में सड़क पर दिखा सनी लियोनी के फैंस का हुजूम

नई दिल्ली: बॉलीवुड अभिनेत्री सनी लियोनी की दीवानगी लोगों में किस हद तक है, इसकी एक बानगी आज केरल...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017