दिलीप कुमार चेक बाउंस मामले से बरी

By: | Last Updated: Wednesday, 24 February 2016 9:09 AM
Dilip Kumar acquitted in the 18-year-old cheque bounce case

Mumbai: Union Home Minister Rajnath Singh presents Padma Vibhushan to Bollywood legend Dilip Kumar at his residence in Mumbai on Sunday. PTI Photo (PTI12_13_2015_000109B)

मुंबई: मशहूर बॉलीवुड अभिनेता दिलीप कुमार को मुंबई की एक अदालत ने 18 साल पुराने चेक बाउंस के मामले में बरी कर दिया है.  सुनवाई के लिए मामला जब लाया गया, तब 94 वर्षीय अभिनेता अदालत में उपस्थित नहीं थे.

मामला वर्ष 1998 का है, जब दिलीप कुमार कोलकाता स्थित ट्रेडिंग कंपनी जीके एक्जिम इंडिया लिमिटेड में डायरेक्टर थे. उस वक्त कंपनी में निवेश की गई रकम के बदले में लौटाए गए करीब 57 लाख रुपये का चेक बाउंस हो गया था, जिसके बाद निवेशक स्मिता श्रॉफ ने अदालत में धारा 138 के तहत चेक बाउंस का मुकदमा कर दिया. मामले में कुल 20 आरोपी थे, जिनमें से 16 पहले ही डिस्चार्ज हो चुके थे. मंगलवार को अदालत ने बाकी चार में से दिलीप कुमार और विमल कुमार राठी को बरी कर दिया.

दिलीप कुमार कंपनी के रोजाना की कार्यवाही से सीधे तौर पर जुड़े हुए नहीं थे, फिर भी उन्हें इससे संबंधित सभी मामले में लड़ाई लड़नी पड़ी और इस कड़ी में मंगलवार को आखिरी मामले में उन्हें बरी कर दिया गया.

निगोशिएबल इंस्ट्रमेंट्स एक्ट की धारा 141 के मुताबिक, शिकायतकर्ताओं को यह साबित करना होता है कि आरोपी कंपनी की रोजमर्रा की कार्यवाही से जुड़ा हुआ था. चूंकि यह साबित नहीं हो पाया, इसलिए दंडाधिकारी खराडे ने दिलीप कुमार को बरी कर दिया.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Dilip Kumar acquitted in the 18-year-old cheque bounce case
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: cheque bounce dilip kumar
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017