लगातार 1000 हफ्ते चलने के बाद मराठा मंदिर से उतर जाएगी 'DDLJ'

By: | Last Updated: Monday, 6 October 2014 6:07 AM
dilwale-dulhania-le-jayenge-at-maratha-mandir

नई दिल्ली: बॉलीवुड में मील का पत्थर बन चुकी फिल्म दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे मुंबई के सिनेमा हॉल मराठ मंदिर में लगातार 20 साल चलने के बाद उतर जाएगी. यह सवाल शाहरुख औऱ  दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे के फैंस को परेशान करने वाली है.

 

दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे अक्टूबर 1995 में रिलीज़ हुई थी और तब से मुंबई के सिनेमा हॉल में लगातार 20 सालों से चल रही थी. अब कहा जा रहा है कि मराठा मंदिर का बॉक्स ऑफिस दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे के लिए हमेशा के लिए बंद किया जाएगा.

 

 

इस बारे जानकारी देते हुए मराठ मंदिर सिनेमा हॉल के मैनेजिंग डायरेक्टर मनोज देसाई ने बताया कि, ”फिल्म को 900 हफ्ते चलने के बाद हमने और यशराज प्रोडक्शन ने तय किया है कि इसे पूरे 1000 हफ्ते तक चलाएंगे, जो 12 दिसंबर 2014 को हो रहे हैं.”

 

इसी के साथ देसाई ने कहा ” हम उनके कॉल का इंतजार कर रहे हैं, ताकि हम इसे 1000 सप्ताहों से आगे ले जाने पर फैसला कर सकें. यदि हमें उनकी ओर से कोई खबर नहीं मिलती है, तो हम फिल्म को हमेशा के लिए उतार देंगे.”

 

अभी भी संडे होता है हाउसफुल

 

बॉलीवुड में हर शुक्रवार न जाने कितनी फिल्में रिलीज़ होतीं है. जिन्हें हिट और फ्लॉप की कसौटी से गुजरना पड़ता है. दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे ने इन सभी कहानियों को झुठलाते हुए लगातार 20 सालों से मुंबई के सिनेमा हॉल मराठ मंदिर चल रही थी.

 

यहां इस फिल्म को आज भी बहुत अच्छा रिस्पॉन्स मिलता है. मनोज देसाई बताते हैं,”रविवार को टिकट मिल पाना मुश्किल होता है. पिछले संडे की ही तो बात है, हमें टिकट खिड़की पर हाउसफुल का बोर्ड लगाना पड़ा था.”

 

शाहरुख और फिल्म के चाहने वाले यह चाहते हैं कि फिल्म और लंबी पारी खेले. अगर यशराज प्रोडक्शन की ओर से फिल्म को बंद करने का कंफर्मेशन  मिल जाता है हो 12 दिसंबर 2014 को फिल्म मराठा मंदिर में आखिरी बार दिखाई जाएगी.

 

15, 18 और 20 रुपए है टिकट

मराठा मंदिर की टिकट दर 15, 18 और 20 रुपए प्रति दर्शक है और सुबह 11:30 बजे ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ का शो शुरू होता है. इस फिल्म ने बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान को एक नई पहचान दिलाई. इस फिल्म के संवाद और गाने भी बहुत हिट हुए थे.

 

वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाना था लक्ष्य :

बहुत कम लोगों को ही पता होगा कि फिल्म को इतने लंबे समय तक चलाने के पीछे वर्ल्ड रिकार्ड बनाना था. मराठा मंदिर के मैनेजिंग डायरेक्टर मनोज देसाई ने बताया कि फिल्म को इतने सालों तक चलाने के पीछे वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का उद्देश्य छिपा हुआ था.

 

मनोज ने बताया कि “शुरुआत के 500 सप्ताह हमने इसे प्रॉफिट के लिए चलाया, जिसके लिए यशजी ने मुझे सक्सेसफुल स्क्रीनिंग के लिए गोल्डन ट्रॉफी से सम्मानित भी किया.

 

इसके बाद यशराज और मैंने तय किया कि फिल्म को कई सप्ताह तक चलाएंगे और इसके पीछे नीयत सिर्फ इतनी थी कि हमें गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में एंट्री मिल जाए. आने वाले 12 दिसंबर को फिल्म 1000 सप्ताह पूरे कर लेगी, जो एक रिकॉर्ड होगा.”

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: dilwale-dulhania-le-jayenge-at-maratha-mandir
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017