निहलानी ने किया दावा, फिल्में पास कराने के लिए निर्देशकों ने मुझे रिश्वत देने का प्रयास भी किया था

By: | Last Updated: Friday, 4 March 2016 6:58 PM
Directors have tried to bribe me to pass films: P Nihalani

मुंबई: सेंसर बोर्ड के प्रमुख पहलाज निहलानी ने कहा है कि ऐसी कई घटनाएं हुई हैं जब निर्देशकों ने अपनी फिल्म में कुछ सीन रहने देने के लिए उन्हें रिश्वत देने की कोशिश की.

निहलानी ने दावा किया है कि कुछ लोग रिश्वत देकर अपने काम को वैसा ही बनाए रखना चाहते हैं.

जब यह पूछा गया कि क्या किसी फिल्म-निर्माता ने विशेष सीन को फिल्म में रखने के लिए उन्हें रिश्वत देने का प्रयास किया है, निहलानी ने कहा, ‘‘हां, क्योंकि लोग अपनी आदतें कभी नहीं छोड़ते. वे किसी भी हालत में अपने काम को बनाए रखना चाहते हैं. किसी ने मुझे भी पेशकश (रिश्वत) की. लेकिन मैं नाम नहीं बता सकता.’’

उन्होंने कहा, ‘‘वे बस काम निकालना चाहते हैं, किसी की गलती नहीं है.. बाबुओं को दोष क्यों दें, एक बार जब हमें लगता है कि हमारा काम होना चाहिए हम पैसे देकर काम कराने से हिचकते नहीं हैं.. कुछ लोग हैं जिन्हें शर्म नहीं है और ऐसा करते हैं.’’ निहलानी ने कहा कि सीबीएफसी में उनके कर्मचारी किसी प्रकार का तोहफा नहीं लेते और बोर्ड में अब भ्रष्टाचार ‘‘शून्य’’ है.

उन्होंने कहा, ‘‘आज मैं आपसे कह सकता हूं कि मेरे कर्मचारी हमें मिलने वाला दीवाली का उपहार भी अस्वीकार कर देते हैं. मुझे उनपर गर्व है. बोर्ड में बिलकुल भ्रष्टाचार नहीं है.’’ वह सोसायटी मैगजीन के नए कवर लांच के अवसर पर बोल रहे थे.

हाल ही में विवादों में रहे सेंसर बोर्ड के कामकाज की समीक्षा और उसमें सुधारों के लिए फिल्म-निर्माता श्याम बेनेगल की अध्यक्षता में समिति गठित हुई है.

निहलानी ने कहा कि बेनेगल बुद्धिमान व्यक्ति हैं और वह वही करेंगे जो ‘‘सही’’ होगा.

उन्होंने कहा, ‘‘श्याम बेनेगल बहुत बुद्धिमान हैं, उन्हें सीबीएफसी के कामकाज के बारे में पता है और उन्होंने अपनी फिल्मों के समय भी परेशानियां झेली हैं.. मुझे लगता है कि वह सही जगह पर सही काम करेंगे.’’

कड़े सेंसरशिप नियमों के कारण हाल ही में सेंसर बोर्ड को ‘‘संस्कारी’’ कहा जाने लगा है. इसपर पहलाज निहलानी ने कहा कि वह इसे उपलब्धि मानते हैं, क्योंकि वह सिर्फ नियमों का पालन कर रहे हैं. निहलानी ने कहा, ‘‘मैं नियमों के अनुसार काम कर रहा हूं, मैं उनका पालन कर रहा हूं. यह मेरा काम है.. लोग मुझे जो भी पुकारें, मेरी उपलब्धि है. बेनेगल समिति गठित हो गयी है और वे नियम बनाएंगे, जो भी बनेगा, मैं उसका पालन करूंगा.’’ हाल ही में निहलानी ने ‘‘अलीगढ़’’ के निर्देशक हंसल मेहता की आलोचना करते हुए कहा कि वह फिल्म के ट्रेलर को मिले ‘ए’ प्रमाणपत्र को सिर्फ प्रचार पाने के लिए मुद्दा बना रहे हैं.

यह पूछने पर कि क्या उन्होंने फिल्म देखी है, निहलानी ने कहा, ‘‘मैंने फिल्म नहीं देखी है. बॉक्स ऑफिस और लोग तय करेंगे (फिल्म का भाग्य).. मेरा व्यक्तिगत विचार मायने नहीं रखता. मैं अध्यक्ष हूं, मेरे पैनल के सदस्य हैं और उन्होंने बिना किसी बदलाव के फिल्म पास कर दी. उसे ‘ए’ प्रमाणपत्र दिया, क्योंकि उन्होंने यही मांगा था.. फिल्म में कोई बदलाव नहीं किया गया.’’ सेंसर बोर्ड प्रमुख ने दावा किया कि कुछ फिल्मनिर्माता बोर्ड की आलोचना करके प्रचार पाना चाहते हैं.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Directors have tried to bribe me to pass films: P Nihalani
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Bollywood Nihalani
First Published:

Related Stories

नवाजुद्दीन ने 'बाबूमोशाय बंदूकबाज' को दिल्ली में किया प्रमोट
नवाजुद्दीन ने 'बाबूमोशाय बंदूकबाज' को दिल्ली में किया प्रमोट

नई दिल्ली : बॉलीवुड अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने अपनी आगामी फिल्म ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’...

लोगों को सामाज का मन समझने में समय लगता है : अक्षय कुमार
लोगों को सामाज का मन समझने में समय लगता है : अक्षय कुमार

मुंबई : सामाजिक संदेश देने वाली फिल्मों के लिए प्रसिद्ध अक्षय कुमार का मानना है कि लोगों को...

Box Office : जानें पहले दिन 'बरेली की बर्फी' ने की है कितनी कमाई?
Box Office : जानें पहले दिन 'बरेली की बर्फी' ने की है कितनी कमाई?

मुंबई : कृति सैनन, आयुष्मान खुराना और राजकुमार राव अभिनीत फिल्म ‘बरेली की बर्फी’ ने...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017