MSG 2: एक स्टाइलिश बाबा की फिल्मी हसरतें

By: | Last Updated: Wednesday, 9 September 2015 6:17 AM
film The Messenger of God 2: Stylish Baba Ram Rahim and his filmy passions

मुंबई: छाती पर सवार होकर मसल देने की कोशिश करते दुश्मन खेमे के हाथी के अगले दोनों पैरों को अपनी भुजाओं की ताकत से हवा में उछालकर उसे कई मीटर दूर पटक देने का कारनामा देखकर आप की आंखें हैरानी से खुली की खुली रह जाएंगी.

 

आप शायद सोचने लग जाएंगे कि आखिर इस कारनामे को दैवीय शक्ति रखने वाले किसी इंसान के अलावा रजनीकांत नामक अद्भुत फिल्मी प्राणी ही अंजाम दे सकता है. मगर बाबा-लोक से निकलकर फिल्म-लोक में उतरे संत गुरमीत बाबा रहीम जी इंसान के लिए ऐसे और भी हैरतअंगज कारनामों को आसनी से अंजाम देना बाएं और दाएं दोनों हाथों का खेल है.

 

जल्द रिलीज होने जा रही फिल्म ‘MSG 2: द मेसेंजर’  में ऐसे और भी कई अकल्पनीय फिल्म सीक्वेंस से जुड़े एबीपी न्यूज़ के सवाल पर मुस्कुराते हुए बाबा ने कहा. ‘फिल्म में सबकुछ पॉसिबल है’. बाबा राम रहीम बोले, ‘ये फिल्म राजस्थान के आदिवासियों में चली आ रही कुप्रथाओं से जुड़ी सच्ची घटनाओं पर आधारित है, मगर फिल्म में ऐसे (लार्जर देन लाइफ) स्टंट सीक्वेंस हमने अपनी तरफ से डाले हैं.’

 

एक संत, बाबा या फकीर की परंपरागत छवियों को धूमिल करता बाबा राम रहीम का चमकीला अवतार उनकी लंबी घनी दाढ़ी से कहीं मेल नहीं खाता. उनका पहनावा कईयों को हंसने और कईयों को उनकी आलोचना करने का मौका देता है. उनका अजीबो-गरीब फिल्मी अंदाज उन्हें नकारात्मक बहस-मुहाबिसों का हिस्सा बनाता है. मगर बाबा को कोई फर्क नहीं पड़ता.

 

‘आप बताइए कि किन वेदों में लिखा है कि किसी बाबा को ऐसे कपड़े नहीं पहनने चाहिए? इस तरह से नहीं जीना चाहिए? फिल्म में एक हीरो की लम्बी दाढ़ी नहीं होनी चाहिए?’,  जवाब रूपी सवालों के जरिए बाबा ने अपनी अपनी बात रख दी थी.

 

मुंबई के एक फाइव स्टार होटल में अपनी फिल्म के म्यूजिक लॉन्च के मौके पर बाबा राम रहीम से जब एबीपी न्यूज़ ने पूछा कि बॉलीवुड के एक आम हीरो का चेहरा तो उनके जैसे चेहरे से कतई मेले नहीं खाता तो उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा, ‘मैंने फिल्म लोगों की भलाई के लिए बनाई है… मुझे लगा कि मैं ही अच्छे ढंग से ये काम कर सकता हूं’. बाबा ने आगे भी यूं ही फिल्में बनाते रहने और बतौर हीरो काम करने की अपनी हसरतों को भी उजागर किया. 

 

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बाबा राम रहीम की तुलना जब बॉलीवुड के माचो मैन रितिक रोशन और उनकी सुपरहीरो वाली ‘क्रिश’ सीरिज की फिल्मों की तुलना ‘MSG 2’ की गई तो जवाब देने से पहले उनका चेहरा और खिल उठा. इस तारीफ और तुलना का कतई अंदाज बाबा को नहीं था. उनका कहना था, ‘मैंने ‘क्रिश’ फिल्म तो नहीं देखी है… मगर मैंने अपने ढंग से फिल्म बनाई है’.

 

रितिक और अक्षय कुमार की तरह 6-8 पैक ऐब्स बनाने का जिक्र छिड़ा तो बाबा राम रहीम ने अपनी पेट की चमड़ी की ढिलाई का जिम्मेदार बचपन से खेले गए अनगिनत खेलों और तपस्या के लिए सालों से लगातार 16-17 घंटे तक एक ही मुद्रा में बैठे रहने को ठहराया. बाबा के इस अटपटे-से जवाब की उम्मीद किसी को नहीं थी. ‘लेकिन अगर आपको लगता है कि मेरे भी 6 या 8 पैक ऐब्स होने चाहिए तो वो भी बना लेंगे हम’, पूछने वाले को एकदम गदगद होकर बाबा ने जवाब दिया.

 

राधे मां की पॉपुलैरिटी के प्रश्न ने भी बाबा राम रहीम को परेशान नहीं किया, मगर जवाब तो उन्होंने गोल-मोल ही दिया. एक मिसाल देने की कोशिश करते हुए भक्तों के भी शॉर्टकट रास्ता अपनाने की चाहत को बाबा ने जिम्मेदार ठहराया. कानून के शिकंजे में फंसकर हाल ही में बदनाम हुई राधा मां पर सीधा कमेंट करने से बचने की बाबा की कोशिश साफ नजर आई.

 

विवादों में घिरे और चुनिंदा लोकप्रिय चेहरों को आमंत्रण देनेवाले ‘बिग बॉस’ के नए घर में कैद होने की तैयारी के सवाल पर बाबा की हामी ने सबको चौंका दिया. फिर उन्होंने इसे विस्तार से समझाने की कोशिश करते हुए कहा, ‘हमारी कुछ शर्तें हैं… अगर वो लोग ये शर्तें मान लेते हैं हैं तो हम जरूर जाएंगे’.

 

मैंने बाबा को जब याद दिलाया कि पहली फिल्म बॉक्स ऑफिस पर नहीं चली थी और फिल्म को हिट बनाने के लिए टिकटें मुफ्त बांटी गईं थीं… तो ऐसे में सीक्वेल बनाने का फैसला किस कदर जायज माना जा सकता है? तो उन्होंने बिना वक्त गंवाए कहा, ‘हमारे फिल्म के प्रोड्यूसर को नहीं पता था कि फिल्में कैसे लगती और चलती हैं. धीरे धीरे समझ आ गया है सब… और टिकटें उन्हीं लोगों को बांटी गईं जो टिकट खरीदने की हालत में नहीं थे’. पार्ट 1 की नाकामी पर इस जवाब की अपेक्षा उनसे नहीं थी.

 

बाबा राम रहीम की जुबां पर हर सवाल का जवाब मौजूद था और किसी भी सवाल का जवाब देते वक्त उनके मुस्कुराते चेहरे के भावों में कोई तब्दीली नहीं आ रही थी. खैर, बाबा जिस सुनियोजित अंदाज में ढोल-नकाड़ों की धुन पर नाचते-झूमते लोगों के बीच से स्टेज पर आसीन हुए थे, उसी अंदाज में उनकी रवानगी भी हुई. बाबा राम रहीम के फिल्मी प्रमोशन के प्लान पर फिलहाल के लिए पर्दा गिर चुका था.

 

 

यहां क्लिक करके देखें राम रहीम की फिल्म का ट्रेलर