Happy Birthday: सिर्फ उम्दा अभिनेत्री ही नहीं, पेंटर और फोटोग्राफर भी हैं दीप्ति नवल

By: | Last Updated: Wednesday, 3 February 2016 1:40 PM
Happy Birthday Dipti naval

नई दिल्ली: मन को छू लेने वाली सादगी से भरपूर बॉलीवुड की दिग्गज अदाकारा दीप्ति नवल हर मायने में एक ‘कलाकार’ हैं.उन्होंने न केवल रूपहले पर्दे पर अभिनय की छाप छोड़कर एक उम्दा कलाकार के तौर पर अपने हुनर को साबित किया, बल्कि अपने मन के विचारों को खूबसूरती से कागज पर अल्फाजों के रूप में उतारा भी.

आज ही के दिन 3 फरवरी, 1957 को पंजाब के अमृतसर में जन्मी दीप्ति नवल ने अपनी शुरुआती स्कूली शिक्षा ‘सेक्रेड हार्ट कॉन्वेंट’ और उसके बाद हिमाचल प्रदेश में पालमपुर से की.उसके बाद उनके पिता को न्यूयॉर्क के सिटी यूनिवर्सिटी में नौकरी मिलने के बाद वह अमेरिका चली गईं.वहां उन्होंने न्यूयॉर्क की सिटी यूनिवर्सिटी से शिक्षा हासिल की और मैनहट्टन के हंटर कॉलेज से ललित कला में स्नातक डिग्री हासिल की.

स्नातक की पढ़ाई करने के बाद जब उन्होंने अपने माता-पिता के सामने एक्टिंग करने की इच्छा रखी तो उनके पिता ने समझाया कि अभिनय केवल एक उम्र तक ही उनका साथ देगा, जबकि पेंटिंग वह ताउम्र कर सकती हैं.समझाने के बाद पिता ने फैसला बेटी पर ही छोड़ दिया.

कला की गहराइयों में डूबीं दीप्ति ने तब अपने दोनों शौक पूरे करने का निर्णय लिया.खूबसूरत चेहरे-मोहरे के कारण उन्हें अभिनेत्री के रूप में सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली.

d

दीप्ति को अभिनय का कोई अनुभव नहीं था.’जुनून’ में केवल दो तीन दृश्यों में दिखीं, दीप्ति ने अपने अभिनय की वास्तविक शुरुआत 1979 में ‘एक बार फिर’ से की, जिसके लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार मिला.

दीप्ति ने अपने फिल्मी करियर में लगभग 60 फिल्मों में अपने स्वाभाविक अभिनय से हर किरदार को जीवंत कर दिया.

उन्होंने ‘चश्मे बद्दूर’, ‘मिर्च मसाला’, ‘अनकही’, ‘मैं जिंदा हूं’ और ‘कमला’ जैसी फिल्मों के अलावा हाल ही में ‘लीला’ और ‘फ्रीकी चक्र’ में काम किया है और फिल्म ‘भिंडी बाजार में’ नकारात्मक किरदार भी बखूबी निभाया.

शबाना आजमी, स्मिता पाटिल, मार्क जुबेर, सईद मिर्जा जैसे थिएटर के मंझे हुए कलाकारों के बीच उन्होंने अपनी अभिनय प्रतिभा साबित की और समानांतर सिनेमा के लिए भी शबाना आजमी और स्मिता पाटिल के समान ही निर्देशकों की पहली पसंद बन गईं.

chashme-3-april-1
‘लीला’, ‘फिराक’, ‘मेमरीज इन मार्च’ और ‘लिसन अमाया’ जैसी कई फिल्मों में अपनी भूमिकाओं के लिए उन्हें कई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोहों में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार दिया गया.

बतौर चित्रकार उन्होंने कई कला प्रदर्शनियों में उम्दा पेंटिंग्स बनाकर चित्रकारी के रंगों की छटा बिखेरी.कवयित्री के रूप में 1983 में उनका कविता संकलन ‘लम्हा-लम्हा’ प्रकाशित हुआ और 2004 में उनका एक कविता संग्रह ‘ब्लैक विंड एंड अदर पोयम्स’ प्रकाशित हुआ.वर्ष 2011 में उनकी लघु कथाओं का एक संग्रह प्रकाशित हुआ ‘द मैड तिब्बन स्टोरीज फ्रॉम देन एंड नाउ’.

इसके अलावा फोटाग्राफी के शौक को पूरा करते हुए उन्होंने ‘इन सर्च ऑफ स्काय’, ‘रोड बिल्डर्स’ और ‘शेड्स ऑफ रेड’ तस्वीर श्रृंखलाओं के माध्यम से अपनी फोटोग्राफी का हुनर दिखाया.

dpti 1

दीप्ति पहले फिल्मकार प्रकाश झा के साथ परिणय-सूत्र में बंधीं, बाद में तलाक हो गया.प्रकाश झा से उनके एक बेटा प्रियरंजन झा और एक बेटी दिशा झा है.तलाक के बाद वह प्रख्यात शास्त्रीय गायक पंडित जसराज के बेटे विनोद पंडित के करीब आईं.विवाह भी तय हो गया, लेकिन विवाह से पहले ही विनोद का देहांत हो गया.

कला के अलावा वह मानसिक रूप से बीमार लोगों के बारे में जागरूकता फैलाने के काम में भी लगी हैं और साथ ही वह लड़कियों की शिक्षा के लिए अपने दिवंगत मंगेतर विनोद पंडित की याद में स्थापित ‘विनोद पंडित चैरिटेबल ट्रस्ट’ भी चलाती हैं.

दीप्ति के अंदर इतने हुनर यकीकन उनकी बहुआयामी शख्सियत की झलक पेश करते हैं.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Happy Birthday Dipti naval
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

मनोज बाजपेयी ने की नीतीश से बाढ़ प्रभावितों की मदद की अपील
मनोज बाजपेयी ने की नीतीश से बाढ़ प्रभावितों की मदद की अपील

मुंबई : बॉलीवुड अभिनेता मनोज बाजपेयी ने बुधवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बाढ़...

पिता विनोद खन्ना की बायोपिक में भूमिका निभाने के सवाल पर देखिए क्या बोले अक्षय खन्ना
पिता विनोद खन्ना की बायोपिक में भूमिका निभाने के सवाल पर देखिए क्या बोले...

विनोद खन्ना का अप्रैल में लंबी बीमारी के बाद 70 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. यह पूछे जाने पर कि...

'भूमि' में श्लोकों का उच्चारण करते दिखेंगे संजय दत्त
'भूमि' में श्लोकों का उच्चारण करते दिखेंगे संजय दत्त

अभिनेता संजय दत्त अपनी आगामी फिल्म 'भूमि' में संस्कृत के कुछ श्लोकों का उच्चारण करते नजर आएंगे....

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017