शराब गर्भस्थ शिशु का दिमाग कुंद कर सकता है

By: | Last Updated: Tuesday, 5 August 2014 2:32 PM

न्यूयार्क: यदि आप गर्भवती हैं, गर्भस्थ शिशु के स्वास्थ्य के लिए आपको कुछ समय के लिए शराब को अलविदा कह देना चाहिए. शोधकर्ताओं का कहना है कि गर्भवती महिलाओं द्वारा शराब का सेवन गर्भस्थ शिशु के मस्तिष्क विकास को प्रभावित करता है.

फीटल एल्कोहल स्पेक्ट्रम डिसॉर्डर (एफएएसडी) के शिकार बच्चों में विशिष्ट संज्ञानात्मक कार्यो के दौरान दिमागी कमजोरी देखी गई.

शोध में पाया गया कि गर्भावस्था के दौरान मां द्वारा शराब का सेवन भ्रूण के विकास को प्रभावित करता है और बच्चे के जन्म के बाद भी बचपन और किशोरावस्था में बच्चे के मस्तिष्क का विकास बाधित होता है.

अमेरिका के द सेबन रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ चिल्ड्रेन हॉस्पीटल लॉस एंजेलिस की शोधकर्ता प्राप्ति गौतम ने कहा, “एफएएसडी के शिकार बच्चों में मानसिक कार्य अभ्यास के दौरान फंक्शनल मैग्नेटिक रेजोनेंस इमेजिन (एफएमआरआई) की सहायता से मस्तिष्कीय गतिविधियों पर नजर रखी गई. लेकिन इस तकनीक की सहायता से दिमाग की गतिविधियों की निगरानी इससे पहले नहीं की गई है.”

शोधकर्ताओं ने एफएएसडी के शिकार बच्चों और सामान्य बच्चों के अलग अलग समूहों को एक साथ कुछ विशिष्ट संज्ञानात्मक कार्यो में शामिल किया.

सेबान रिसर्च इंस्टीट्यूट की एलीजाबेथ सोवेल ने कहा, “शोध में हमने पाया कि दोनों समूहों के बच्चों की दिमागी सक्रियता में खासा अंतर है.”

यह शोध जर्नल सेरेब्रल कॉर्टेक्स में प्रकाशित होगा.

 

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: health_pregnancy precautions_alcohol
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017