असहिष्णुता पर बोले करन जौहर, 'फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन भारत में सबसे बड़ा मजाक'

Jaipur Literature Festival 2016: Karan Johar on Intolerance

नई दिल्ली: असहिष्णुता को लेकर बॉलीवुड के मशहूर डायरेक्टर- प्रोड्यूसर करन जौहर ने बड़ा बयान दे दिया है. करन ने कहा है कि मन की बात कहना भारत में सबसे मुश्किल है. उन्होंने कहा, ‘फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन भारत में सबसे बड़ा जोक है और डेमोक्रेसी उससे भी बड़ा मजाक है.’

 

करन जौहर ने ये बातें जयपुर में चल रहे साहित्य सम्मेलन में कही. करन ने कहा, ‘मुझे तो लगता है जैसे हमेशा कोई लीगल नोटिस मेरा पीछा करता रहता है. किसी को पता नहीं कब उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज हो जाए.’
करन जौहर ने यहां अपनी जीवनी ‘एन अनस्यूटेबल ब्वॉय’ के बारे में लेखिका शोभा डे और जीवनी लिखने वाली पूनम सक्सेना से बातचीत की. उन्होंने समलैंगिकता से लेकर बोलने की आजादी, फिल्मों और शाहरुख खान के साथ अपने संबंधों को लेकर कई अलग-अलग विषयों पर अपने विचार रखे.

karan3
बता दें कि गुरुवार को जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का पहला दिन था. इस लिटरेचर फेस्टिवल में इन्टॉलरेंस के मुद्दे पर अवॉर्ड लौटाने वाले लेखकों ने एक बार फिर विरोध में आवाज बुलंद की तो उनके सपोर्ट में कई और लेखक भी खड़े दिखे. इस मुद्दे पर सीनियर राइटर रस्किन बॉन्ड ने लेखकों के विरोध का जवाब देते हुए कहा कि इस तरह के व्यवहार से इन्टॉलरेंस ही बढ़ेगी.

 

आपको बताते चलें कि असहिष्णुता का मुद्दा यूपी के दादरी में अखलाक की हत्या के बाद शुरू हुई थी. अखलाक के घर में गोमांस रखने के शक में लोगों ने उसे पीट-पीट कर मार डाला. इसके बाद से ही देश भर में ‘अवॉर्ड वापसी’ की शुरूआत हुई. कई बड़े और सम्मानित लोगों ने अपने अवॉर्ड लौटाए. बॉलीवुड भी इस बहस में शामिल हुआ. शाहरूख और आमिर खान ने जब इस पर बयान दिया तो खूब बवाल हुआ. शाहरूख की फिल्म दिलवाले पर भी इसका असर दिखाई दिया.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Jaipur Literature Festival 2016: Karan Johar on Intolerance
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017