मेरे लिए दूसरे लोगों की सोच मायने नहीं रखती: कंगना रनौत

By: | Last Updated: Monday, 1 June 2015 10:58 AM
kangna ranaut

मुंबई: ‘तनु वेड्स मनु रिट्नर्स’ की सफलता का लुत्फ उठा रही बॉलीवुड ‘क्वीन’ कंगना रनौत का कहना है कि उन्हें इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि दूसरे लोग उनके बारे में क्या सोचते हैं.

 

यह पूछे जाने पर कि क्या ‘क्वीन’ और ‘तनु वेड्स मनु रिट्नर्स’ से दर्शकों एवं फिल्म समीक्षकों का दिल जीतने के बाद अब दूसरे लोगों की सोच मायने रखती है? जवाब में उन्होंने कहा, “मेरे लिए दूसरे लोगों की सोच मायने नहीं रखती. अगर उनकी सोच मायने रखती, तो मैं अब तक नहीं टिकी होती.”

 

कंगना ने कहा, “अगर मैं प्रभावित होती, तो मुझमें ढेर सारे तर्कहीन गुमान होते. मेरे अंदर यह समझ है कि क्या पाया जा सकता है और क्या नहीं.”

कंगना पूर्व में ‘फैशन’ के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुकी हैं. वह कहती हैं कि उन्हें ‘क्वीन’ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का राष्ट्रीय पुरस्कार मिलने की कतई उम्मीद नहीं थी.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: kangna ranaut
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

किराया नहीं चुकाया तो मालिक ने रजनीकांत की Wife के स्कूल पर जड़ दिया ताला
किराया नहीं चुकाया तो मालिक ने रजनीकांत की Wife के स्कूल पर जड़ दिया ताला

स्कूल अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने इमारत मालिक के खिलाफ ‘‘ स्कूल की प्रतिष्ठा को ठेस...

Video: 'बरेली की बर्फी' के सितारों से एबीपी न्यूज़ की खास बातचीत, देखें
Video: 'बरेली की बर्फी' के सितारों से एबीपी न्यूज़ की खास बातचीत, देखें

इस हफ्ते सिनेमाघरों में फिल्म ‘बरेली की बर्फी’ रिलीज होने वाली है. इस फिल्म के सितारों...

'बाबुमोशाय बंदूकबाज' में सेंसर बोर्ड ने लगाए थे 48 कट, अब सिर्फ 8 कट्स के साथ मिली रिलीज की मंजूरी
'बाबुमोशाय बंदूकबाज' में सेंसर बोर्ड ने लगाए थे 48 कट, अब सिर्फ 8 कट्स के साथ...

'बाबूमोशाय बंदूकबाज' को फिल्म एफसीएटी ने सिर्फ आठ 'मामूली एवं खुद स्वीकार किए गए' कट के साथ फिल्म...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017