‘लव स्टोरी-सीज़न 2’: जिया का सूरज पर शक करने के पीछे कोई ख़ास वजह थी?

By: | Last Updated: Saturday, 23 August 2014 3:47 PM
love story_Jiah khan_suraj

 

नई दिल्ली : मशहूर अभिनेत्री जिया खान को ज़िंदगी की मुश्किलों और प्यार के दर्द में रोज़ाना मरना मंज़ूर नहीं था. वह अपने प्यार से जुदा हुईं, फिर करियर के सपने बिखर गए और आख़िरकार ज़िंदगी को ही अलविदा कह दिया. अभिनेत्री जिया ख़ान और सूरज पंचोली की लव स्टोरी का अंत बेहद दर्दनाक हुआ.

 

कई सवाल उठे. जिया की मौत का ज़िम्मेदार क्या वाक़ई बॉयफ्रेंड सूरज थे? या फिर हालात से जूझते-जूझते ख़ुद ही हार गई जिया? कई सवाल हैं. जिया की मौत से जुड़ा केस अदालत में चल रहा है, शायद सही वजह सामने आ भी जाए. मगर आज इन सवालों से परे, ज़िक्र जिया और सूरज की मोहब्बत का. शुरुआत उस दौर से, जब ये लव स्टोरी शुरू नहीं हुई थी. जब आंखों में सपने लिए जिया ख़ान ने बॉलीवुड में क़दम रखा था.

 

20 फरवरी 1988 को न्यूयॉर्क में जन्मी जिया ख़ान का असली नाम नफ़ीसा था. उनकी मां राबिया खान 80 और 90 के दशक में हिंदी फिल्मों में छोटे-मोटे रोल कर चुकी हैं. अपनी शुरुआती पढ़ाई लंदन में करने के बाद जिया ने न्यूयॉर्क में अभिनय की ट्रेनिंग ली और फिर क़िस्मत आज़माने बॉलीवुड आ गईं.

 

शुरुआती संघर्ष के बाद जिया को आख़िरकार बॉलीवुड में अपना पहला बड़ा ब्रेक मिल गया. ये फिल्म थी रामगोपाल वर्मा की निशब्द और उनके हीरो और कोई नहीं खुद महानायक अमिताभ बच्चन थे.

 

रिलीज़ से पहले फिल्म की ज़बरदस्त चर्चा थी. मगर 2007 में रिलीज़ हुई निशब्द दर्शकों के लिए ज़रूरत से ज़्यादा बोल्ड साबित हुई. अमिताभ और जिया के अच्छे अभिनय के बावजूद फिल्म बुरी तरह फ़्लॉप हो गई.

 

जिया को आने वाले दिनों की स्टार बताने वाले फिल्म निर्माता, अब उनकी चौखट पर आने से क़तराने लगे. ये जिया के सपनों के बिखरने की शुरुआत थी. निशब्द में लीड हीरोइन का किरदार निभाने के बावजूद, आगे जिया को फिल्म गजनी और हाउसफुल जैसी बड़ी फिल्मों में छोटे छोटे रोल ही मिले.

 

फिल्में तो ब्लॉकबस्टर थीं लेकिन जिया को इनसे कोई ख़ास फ़ायदा नहीं हुआ. उनका करियर उम्मीद के मुताबिक आगे नही बढ़ रहा था. हमेशा हंसने-मुस्कुराने वाली जिया को ये बातें तनाव में रखने लगी थी. इन हालात में जिया को किसी ऐसे दोस्त की ज़रूरत थी जो उनका साथ दे सके. उनकी परेशानी को बांट सके. और फिर, इंटरनेट पर चैटिंग करते हुए उनकी मुलाक़ात हुई सूरज पंचोली से. बातचीत आगे बढ़ी, फिर मुलाक़ातें हुई और लगने लगा कि दोनों साथ आ जाएं तो ज़िंदगी में ख़ुशियां आ जाएंगी. लव स्टोरी शुरू हो चुकी थी.

 

23 साल के सूरज पंचोली बॉलीवुड अभिनेता आदित्य पंचोली और अभिनेत्री ज़रीना वहाब के बेटे हैं और शुरुआत से मुंबई में ही रहे हैं. आजकल वह अपनी पहली फिल्म हीरो की तैयारी में जुटे हैं, जिसका निर्माण सलमान ख़ान कर रहे हैं. उम्र में जिया से 2 साल छोटे सूरज, जिया की ज़िंदगी में खुशियों का झोंका लेकर आए थे.

 

23 जुलाई 2013 को टाइम्स ऑफ़ इंडिया को दिए एक इंटरव्यू में उन खूबसूरत दिनों को याद करते हुए सूरज ने बताया था कि मैं 10 महीने पहले जिया से फेसबुक के जरिए मिला था. वह बहुत ही अच्छी इंसान थी. शांत, छोटी-छोटी चीजों से खुश होने वाली लडकी जो मेरा बहुत खयाल रखती थी. मिलते ही हम दो बार डिनर पर गए थे.

 

नज़दीकियां बढ़ रही थी कि अचानक इस रिश्ते की शुरुआत में ही एक अजीब घटना हुई. सूरज के मुताबिक उन्हें जिया का एक मैसेज मिला. मुझे उसका एक मेसेज मिला जिसमें लिखा था ‘सूरज मुझे मदद चाहिए, मेरे हाथ से खून बह रहा है. क्या तुम आ सकते हो?’ मैं उस समय कहीं और था और वह जूहू के सागर संगीत में रहती थी जो कि मेरे घर से तीन मिनट की दूरी पर ही था तो मैंने अपने स्टाफ को लगभग 11.30 बजे उसके घर भेजा. उसने दरवाजा खोला और बेहोश हो गई. उसने अपनी कलाई काट ली थी, लगभग 3 इंच का कट था.”

 

सूरज के मुताबिक ये खबर मिलते ही वह सबकुछ छोड़कर जिया के घर जा पहुंचे. तब तक डॉक्टर जिया की कलाई पर टांके लगा चुका था. सूरज के मुताबिक जिया बस उन्हें देखती रही, लेकिन वह कुछ बोली नहीं. सूरज बताते हैं कि बाद में जिया ने अपने दिल की बातें सूरज के साथ बांटी. दोनों क़रीब आ गए. इन दिनों जिया की मां राबिया लंदन में थीं और अकेलापन अंदर ही अंदर जिया को खाए जा रहा था. जब जिया की ये हालत सूरज से देखी नहीं गई, तो उन्होंने जिया की मां को लंदन फोन कर दिया.

 

सूरज ने बताया कि मैने उन्हें बताया कि आंटी जिया डिप्रेशन में है और उसको आपकी और उसकी बहनों की जरुरत है. उन्होंने कहा- बेटा मैं 2 महीने बाद आऊंगी, प्लीज उसका खयाल रखना. लेकिन वह 4 महीने बाद आई. उन चार महीनों में मुझे जिया से प्यार हो गया.

 

अपने इंटरव्यू में सूरज ने बताया कि उन चार महीनों में उन्होंने जिया के साथ बहुत वक़्त बिताया, उनकी हर ज़रूरत का खयाल रखा. कोशिश की कि उन्हें परिवार की कमी महसूस ना हो. ये वह समय था जब दोनों एक-दूसरे से बेहद मोहब्बत करने लगे थे. सूरज के मुताबिक जिया ठीक तो होने लगी थीं लेकिन उनका बर्ताव कभी-कभी अजीब सा हो जाता था, जिसकी वजह सूरज ने जिया के डिप्रेशन को बताया.

 

सूरज पंचोली के मुताबिक जिया अंदर ही अंदर ऐसी परेशानियों से जूझ रही थीं जिसने उन्हें बेहद कमजोर बना दिया था. जिया ने सूरज को बताया कि वह काम न मिलने की वजह से डिप्रेशन में हैं. सूरज के मुताबिक अपने परिवार से भी जिया के रिश्ते अच्छे नहीं थे. उनके पिता ने उन्हें बेदखल कर दिया था.

 

सूरज के मुताबिक उसने मुझे बताया कि कैसे उसके पुराने ब्वॉयफ्रेंड उसे प्रताड़ित करते थे, और कैसे लंदन में उससे एक बड़ी उम्र के आदमी ने बलात्कार किया था. तब जिया सिर्फ 14 साल की थी. जिया अपने परिवार और आसपास के लोगों से प्यार और सम्मान चाहती थी. मैं उसकी वे सारी जरुरतें पूरी नहीं कर सकता था. हालांकि मैं 21 साल की उम्र के हिसाब से उसके लिए काफी कुछ कर चुका था. वह हर रात रोती थी. मुझसे मिलने के बाद वह कभी भी अकेली नहीं रही.

 

सूरज बताते हैं कि उनका साथ पाकर जिया संभलने लगी थीं. वो अक्सर सूरज के घर भी आने-जाने लगी. शुरुआत में सूरज के पिता आदित्य पंचोली ने उनके रिश्ते पर एतराज़ जताया. वह अक्सर मेरे घर आती थी. शुरुआत में मेरे पिता हमारे रिश्ते से सहमत नहीं थे क्योंकि जिया की काफी सेक्सी इमेज थी लेकिन बाद में जब मैंने उन्हें उससे मिलाया तो वह मान गए.

 

इन्हीं दिनों सूरज अपनी पहली फिल्म की तैयारी में जुट गए. पहले जिया के साथ काफ़ी वक़्त बिताने वाले सूरज का ज़्यादातर समय अब ट्रेनिंग क्लासेज़ में बीतने लगा था. शुरुआत में तो जिया शिकायत करती रहीं. लेकिन सूरज के मुताबिक जल्द ही इस बात को लेकर दोनों में झगड़े तक होने लगे. जिया सूरज पर शक करने लगी थीं.

एक दिन मैंने उससे कहा कि जिया मैं एक इंडियन मैन हूं, मैंने अपने परिवार में बहुत कुछ देखा है, मैं तुम्हारा ख्याल रखने की कोशिश कर रहा हूं, तुम रोज मेरे सामने रोती हो, मैं फिर भी तुमसे प्यार करता हूं. प्लीज मुझ पर भरोसा करो. मैं तुम्हें अपनी मां, पिता और बहन से ज्यादा प्यार करता हूं. अगर मैं तुमसे तीन दिन नहीं भी मिलूं तो भी मेरा प्यार तुम्हारे लिए सिर्फ बढ़ेगा.

 

क्या अपनी ज़िंदगी के पुराने अनुभवों की वजह से जिया इतनी इनसेक्यूर थीं? या वाक़ई सूरज पर शक करने के पीछे कोई ख़ास वजह थी? सूरज कहते हैं कि जिया के ओवपोसेसिव नेचर ने उनके रिश्ते को लगातार कमज़ोर कर रहा था. वहीं जिया के किसी का नाम लिए बग़ैर, अपने आख़िरी ख़त में लिखा कि मामला उनके क़रीबी दोस्त की बेवफाई का था. वैसे तो हर लव स्टोरी में अक्सर ऐसी पज़ेसिवनेस, झगड़े और उतार-चढ़ाव होते हैं, मगर ये कहानी किस खतरनाक अंजाम की तरफ़ बढ़ रही थी. इसका अंदाज़ा किसी को नहीं था.

 

सूरज के मुताबिक अक्सर होते झगड़ों के बावजूद दोनों बेहद क़रीब थे. जन्मदिन मनाने दोनों साथ-साथ गोवा भी गए. लेकिन इस रिश्ते को लेकर असुरक्षा की भावना जिया का पीछा नहीं छोड़ रही थी. इसी दौरान एक और वाक्या हुआ जिसने सूरज को डरा दिया. सूरज के मुताबिक एक दिन जिया सुबह-सुबह सूरज से मिलने उनके घर पहुंच गईं. वह रो रही थीं. उनके हाथ पर चोट के निशान थे. उन्होंने सूरज को बताया कि उनका अपनी मां से झगड़ा हुआ है. सूरज जिया को अपने ही घर में छोड़कर, फौरन उनकी मां से मिलने चले गए. सूरज के इंटरव्यू के मुताबिक जिया की मां राबिया मे उन्हें बताया कि उन्होंने तो अपनी बेटी पर कभी भी हाथ नहीं उठाया है. मैंने जिया की मां को बताया कि उनकी बेटी की हालत ठीक नहीं है और उसे इलाज के साथ उनकी मदद की ज़रूरत है. मैं उसकी मदद करने की कोशिश कर रहा हूं. लेकिन उन्होंने मुझसे कहा कि बेटा जिया ऐसा सिर्फ सबका ध्यान अपनी तरफ खींचने के लिए करती है. उसके दूसरे बॉयफ्रेंडस भी इसीलिए उसे छोड़ कर भाग गए. वह खुद को नहीं मारेगी, वह 11 साल की उम्र से ऐसा ही कर रही है.

 

सूरज के मुताबिक जिया की मां की ये बात सुनकर उन्हें झटका लगा. उसने जिया को ये बात बताई, जिसके बाद जिया ने अपने घर जाकर अपनी मां से बात की. और फिर. कुछ ही देर बाद सूरज के पास जिया की मां का एक मैसेज आया. उस मैसेज में लिखा था- “सूरज मैं चाहती हूं कि तुम मेरी बेटी से कोई रिश्ता ना रखो.” मैं नहीं चाहता था कि मेरी वजह से मां-बेटी के रिश्ते ख़राब हों. इसके अलावा उसके रोज़ के रोने-धोने और मुझपर विश्वास ना करने से मैं बहुत थक चुका था. अगले 20 दिनों में मैंने उससे मिलना-जुलना बेहद कम कर दिया.

 

ये लव स्टोरी जो एक दूसरे का साथ हमेशा निभाने के वादे के साथ शुरू हुई थी. वह ख़त्म होने की कगार पर थी. अपने करियर पर फोकस कर रहे सूरज के लिए इस रिश्ते का तनाव झेलना मुश्किल होता जा रहा था. उन्होंने जिया से अलग होने का फैसला कर लिया. इन्हीं दिनों जिया ने फोन करके सूरज को बताया कि वो अगले दिन हैदराबाद जा रही हैं जहां उन्हें एक नई फिल्म मिलने की उम्मीद है. बहुत समय बाद वह बेहद ख़ुश थीं. दूर ही सही. लेकिन जिया को शायद उम्मीद की किरण नज़र आ रही थी.

 

1 जून 2013, शनिवार के दिन सूरज के पास जिया का मैसेज आया. हैदराबाद जाने से पहले जिया सूरज से मिलकर अपनी खुशी बांटना चाहती थीं. सूरज ने अपने इंटरव्यू में बताया कि तब तक वो इस रिश्ते को खत्म करने का मन बना चुके थे. लेकिन फिर भी वो एक बार उससे मिलने को तैयार हो गए. जिया ने मुझे फ़ोन किया और कहा कि मैं हैदराबाद जा रही हूं. मुझे एक फिल्म मिलने वाली है. उसने कहा मैं ये संडे तुम्हारे साथ बिताना चाहती हूं. मैंने कहा ठीक है, लेकिन मैं तुमसे अलग होने का दर्द और नहीं झेलना चाहता. इसलिए ये हमारी आख़िरी मुलाकात होगी.

 

जिया से ये बात कहते समय शायद सूरज को ख़ुद भी ये अंदाज़ा नहीं था कि उनकी ये मुलाक़ात वाक़ई जिया के साथ उनकी आख़िरी मुलाक़ात होने वाली है. संडे को दोनों ने साथ समय बिताया.

 

अगली सुबह यानि सोमवार, 3 जून 2013 को सूरज ने जिया को ऑल द बेस्ट के संदेश के साथ फूलों का गुलदस्ता भेजा. ये शायद अलविदा कहने का सूरज का तरीक़ा था. लेकिन उसी शाम जिया ने फिर सूरज को फोऩ करके कहा कि वह उनसे मिलना चाहती हैं. सूरज उनसे नहीं मिलना चाहते थे. मैंने उससे कहा कि मैं तुमसे नहीं मिल सकता और मैंने उसे एक मैसेज भेज दिया. नफीसा( जिया) अब ये सब नहीं करते. इसके बाद मैंने अपना फोन बंद कर दिया. ये आखिरी बार था जब मेरी उससे बात हुई.

 

जिया शायद सूरज से अलग होने का झटका बर्दाश्त करने की हालत में नहीं थीं. जिया के ज़ेहन में इसके जो कुछ घटा उसे जानना बेहद मुश्किल है क्योंकि जिया के बारे में जो अगली ख़बर सूरज को मिली वह जिया की मौत की थी. जिया से फोन पर हुई बातचीत के 2 घंटे बाद ही सूरज के पिता आदित्य पंचोली ने उसे बताया कि जिया नहीं रहीं.

 

मुंबई के जुहू में सागर संगीत अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 102 में जिया की लाश पंखे से झूलती हुई मिली. जिस वक़्त जिया की मौत हुई, वो अपने घर में अकेली थीं. उनकी  की मां राबिया खान और बहन. एक्ट्रेस अंजू महेन्द्रू के घर पार्टी में गई थीं .

 

पुलिस की शुरुआती जांच में जो सामने आया उससे यही ज़ाहिर हो रहा था कि जिया ने खुदकुशी की है. प्रेम कहानी यूं बिखर गई. सूरज का बुरा हाल था. लेकिन जिया और सूरज की लव स्टोरी का अब तक ये बस एक पहलू था जो सूरज के बयानों के ज़रिए सामने आया था. जिया की मौत के बाद इस मोहब्बत की किताब के वो पन्ने सामने आए जिन्होंने खुद जिया के प्रेमी सूरज को ही सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया. दिल का दर्द दुनिया के सामने लाने वाला, ये जिया का आख़िरी ख़त था. ग़ौर से सुनिएगा ये बस एक ख़त नहीं. उस जिया का दास्तान है, जो प्यार में अपनी ज़िंदगी ही हार गई.   

 

जिया की मौत के बाद जिया की मां राबिया, जिया के लिखे एक ख़त को सामने लाई. इस ख़त में दर्ज जिया के लफ़्जों ने सूरज की प्यार की कहानी पर ही सवाल खड़े कर दिए. जिया के इस खत में किसी का नाम तो नहीं था लेकिन राबिया खान के मुताबिक जिया का इशारा सूरज की तरफ ही था.

 

जिया के इस खत में बेवफाई की ऐसी कहानी है जो सूरज के इंटरव्यू में कहीं सामने नहीं आई थी. जिया के इस आख़िरी खत के मुताबिक वो अपने प्रेमी के साथ पूरी जिंदगी बिताना चाहती थी, लेकिन उसका प्रेमी किसी भी तरह की कमिटमेंट के लिए तैयार ही नहीं था. आगे इस ख़त में जिया ने साफ़ कहा कि किस तरह उसके प्यार ने उसकी खुशियां छीन ली, किस तरह उसने प्यार में वफ़ा की और बदले में उसे सिर्फ़ बेवफ़ाई मिली.

 

ख़त में लिखी बातें दिल दहला देने वाली थीं. जिया ने खत में ये भी लिखा कि वह प्रेमी जिससे वह बेइंतेहा प्यार करती थी वो उसे मारता था, दूसरों के सामने उसे नीचा दिखाने की कोशिश करता था और इन्हीं घटनाओं ने जिया का आत्मविश्वास टुकड़े-टुकड़े कर दिया था. आख़िर ऐसा बर्ताव जिया क्यों बर्दाश्त करती रही? प्यार के लिए? ये प्यार था? जिया का इस ख़त में उनके अबॉर्शन की बात भी दर्ज थी जो इससे पहले दुनिया के सामने नहीं आई थी.

 

जिया के इस तथाकथित खत के आधार पर 10 जून 2013 को जिया खान के प्रेमी सूरज पंचोली को गिरफ्तार कर लिया गया. सूरज पर जिया को खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप लगा. इसके बाद सूरज को 23 दिन तक जेल में भी रहना पड़ा. लेकिन फिर ब़ॉम्बे हाईकोर्ट ने खत की कहानी को ही खारिज कर दिया. सूरज अब ज़मानत पर जेल की सलाखों से बाहर आ चुका है. और अब अपनी जिंदगी जी रहा है. टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में सूरज ने कहा कि वो बेगुनाह है और उसने जिया के साथ कभी कुछ गलत नहीं किया लेकिन जिया की यादें अब भी उसे रुला जाती हैं.

 

यादें ही बची हैं जिया की. शायद इन्हीं यादों के लिए जिया की मां राबिया अपनी बेटी की मौत को बार-बार हत्या बताकर, पूरा आरोप सूरज पंचोली पर ही लगाती हैं. इस केस में कई मोड़ आए और हर घटना कई और सवाल खड़े करती गई.  

 

जिया की मां, जिया की मौत के बाद की कुछ तस्वीरें मीडिया के सामने लाईं जिनमें साफ तौर जिया के शरीर पर चोट के निशान दिखाई दिए. फारेंसिक रिपोर्ट और फोटोग्राफ्स से तो यही ज़ाहिर हुआ कि मौत से पहले जिया की किसी से जबरदस्त लड़ाई हुई थी. बचाव में जिया के नाखून उस शख्स के जिस्म में लगे. और फिर उसके खून और मांस का टुकड़ा जिया के नाखूनों में समा गया. सवाल यही है क्या जिया खान किसी गहरी साजिश की शिकार बनी?

 

क्या 3 जून की रात किसी ने जिया की हत्या की और इसके बाद हत्या की कहानी पर पर्दा डालने के लिए उसकी लाश को पंखे से लटका दिया गया? ताकि मामला खुदकुशी का लगे. जिया की मां के मुताबिक जिया की लाश फ्लैट के गेस्ट रूम में पंखे से लटकती मिली थी. लेकिन गेस्ट रूम में पंखे तक पहुंचने के लिए कोई स्टूल या टेबल नहीं था. तो फिर 5 फुट 6 ईंच लंबी जिया खान 8 फुट उंचे पंखे तक कैसे पहुंची . और इसी सवाल ने जिया की मौत के राज़ को और गहरा कर दिया .

 

एक मोहब्बत. खुदकुशी और हत्या के सवालों में उलझ कर रह गई? जिया की मां अपनी बेटी की मौत के रहस्य से पर्दा हटाने की हर कोशिश कर रही हैं. एक मां के इल्ज़ामों का जवाब देने इसका जवाब देने आख़िरकार, एक और मां सामने आ गई. सूरज पंचोली की मां ज़रीना वहाब. अपने बच्चों के लिए इंसाफ मांग रही दोनों माओं ने एक-दूसरे पर जमकर इल्ज़ाम लगाए.

 

जरीना वहाब ने एबीपी न्यूज़ को दिए ख़ास इंटरव्यू में बताया कि जब अपने बेटे सूरज के प्यार की खबर लगी तो वो चौंक पड़ी थीं क्योंकि उन्होंने सुन रखा था कि जिया खान का पहले भी किसी से अफेयर था. और ब्रेकअफ के बाद से वो डिप्रेशन में रहती थी .

 

वहीं जिया की मां राबिया का आरोप है कि सूरज पंचोली गुस्सैल और हिंसक मिजाज का था . राबिया की माने तो उन्हें इस बात से कोई एतराज नहीं था कि उनकी बेटी और सूरज के बीच रिश्ते हैं. लेकिन सूरज की मां जरीना को जब ये पता चला कि जिया खान सूरज से शादी करना चाहती है तो उसने इस फैसले पर आपत्ति जताई .

 

जरीना का ये भी आरोप है कि राबिया अपनी बेटी की शादी किसी अमीर शख्स से करना चाहती थी. जरीना की माने तो ये बात खुद उनके बेटे सूरज ने बताई थी . जरीना वहाब ने जिया के आखिरी दिन की जो कहानी सुनाई . उसने दोनों मांओं को अब आमने -सामने कर दिया है.

 

सूरज पंचोली की मां जरीना बहाव की मानें तो जिया और सूरज के रिश्ते में ऐसा कुछ भी नहीं था जिससे दुश्मनी की कोई कहानी जुड़ी हो. ऐसे में कोई जिया का मर्डर भला क्यों करेगा. जरीना बहाव के मुताबिक पुलिस की तहकीकात में ये साफ हो चुका है कि जिया ने खुदकुशी की है. लेकिन इसके बाद भी जिया की मां राबिया खान उसकी मौत के हत्या करार देने पर तुली हैं. लेकिन राबिया खान अब भी यही कह रही हैं. जिया की मौत का जिम्मेदार सूरज ही है.

 

जिया और सूरज ने कभी एक ख्वाब देखा था कि किसी दिन उनका रिश्ता दोनों परिवारों को क़रीब ले आएगा. लेकिन जिया की मौत के साथ ही वो ख्वाब टूटकर चकनाचूर हो गया. दोनों परिवार अब आमने-सामने हैं. अपने अपने बच्चों को इंसाफ़ दिलाने के लिए की जद्दोजहद में जुटे. सवाल ही सवाल है. जवाब नहीं मिलते. 

 

जिया खान की मां अपनी बेटी की मौत का सच लोगों के सामने लाना चाहती है. राबिया का आरोप है कि पुलिस गवाहों को तोड़-मरोड़ रही है. उन्हें केस वापस लेने के लिए धमकियां भी मिल रही है. इसके बावजूद सच्चाई सामने लाने के लिए राबिया ने खुद सबूत जुटाने की पहल की. राबिया ने सभी गवाहों का स्टिंग किया जियमें पुलिस की करतूत सामने आ गई. और इन्ही स्टिंग ऑपरेशन के आधार पर बाम्बे हाईकोर्ट ने जिया की मौत जांच का जिम्मा सीबीआई को सौंपने का आदेश दिया है. कुछ ही दिन पहले 13 अगस्त 2014 को सीबीआई ने जिया ख़ान की मौत का केस दर्ज कर तहकीक़ात शुरू कर दी है.

 

सीबीआई की जांच और अदालत में जिया ख़ान की मौत की हक़ीकत जब भी सामने आए, लेकिन जिया अब कभी वापस नहीं आएंगी. उनकी यादें उनके परिवार को रोज़ाना सताती हैं. और शायद सूरज को भी. हम यही चाहते हैं कि कोई भी लव स्टोरी ऐसे दर्दनाक अंजाम तक कभी ना पहुंचे.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: love story_Jiah khan_suraj
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: jiah khan Love Story Sooraj pancholi
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017