गीता की गुजारिश पर सांकेतिक भाषा में डब होगी ‘बजरंगी भाईजान’

By: | Last Updated: Tuesday, 20 October 2015 5:10 AM

इंदौर: विशेष जरूरत वाले लोगों के लिये यहां चलाया जा रहा पुलिस सहायता केंद्र बॉलीवुड सितारे सलमान खान की मुख्य भूमिका वाली फिल्म ‘बजरंगी भाईजान’ को सांकेतिक भाषा में डब करने की तैयारी में जुटा है. यह अनूठी मुहिम भारतीय मूक.बधिर महिला गीता की गुजारिश पर शुरू की गयी है, जो दशक भर से ज्यादा वक्त पहले गलती से सीमा लांघ कर पाकिस्तान पहुंच गयी थी.

 

मूक.बधिरों और विकलांग लोगों के लिये स्थानीय तुकोगंज थाने में चलाये जा रहे पुलिस सहायता केंद्र के प्रमुख ज्ञानेंद्र पुरोहित ने आज बताया, ‘इन दिनों पाकिस्तान के कराची शहर में रह रही गीता से मैंने हाल ही में इंटरनेट पर वीडियो कॉल के जरिये सांकेतिक भाषा में बातचीत की थी. तब उसने मुझसे कहा था कि फिल्म बजरंगी भाईजान को सांकेतिक भाषा में डब किया जाना चाहिये, ताकि वह और उसके जैसे हजारों मूक.बधिर लोग इस बॉलीवुड शाहकार के संवादों और गीतों को अच्छी तरह समझ सकें.’

 

पुरोहित ने बताया कि वह गीता की स्वदेश वापसी के मामले में पिछले तीन महीने से भारतीय विदेश मंत्रालय के संपर्क में हैं. सांकेतिक भाषा विशेषज्ञ ने कहा, ‘गीता की गुजारिश पर हम फिल्म बजरंगी भाईजान को सांकेतिक जुबान में डब करने जा रहे हैं. हम चाहते हैं कि डबिंग के बाद जब पहली बार इस फिल्म का प्रदर्शन किया जाये तब सलमान और गीता, दोनों मौजूद रहें.’

 

पुरोहित ने बताया कि गीता सलमान की बहुत बड़ी प्रशंसक है. वीडियो कॉल के जरिये हुई सांकेतिक जुबान में हुई हालिया बातचीत में उसने यह इच्छा भी जतायी थी कि भारत वापसी के बाद वह अपने परिवार के साथ सलमान से मिलना चाहती है. उन्होंने कहा, ‘सलमान के लिये गीता के दिल में खास जगह है. ऐसा इसलिये है क्योंकि इस मूक.बधिर महिला के जीवन की सच्ची कहानी सलमान की मुख्य भूमिका वाली फिल्म ‘बजरंगी भाईजान’ की सिनेमाई पटकथा की बुनियादी तासीर से काफी हद तक मिलती.जुलती है.’ गीता के भारत लौटने की संभावित तारीख 26 अक्तूबर है. भारत सरकार ने उसे वापस लाने की प्रक्रिया लगभग पूरी कर ली है.

 

कबीर खान के निर्देशन में बनी ‘बजरंगी भाईजान’ 17 जुलाई को परदे पर उतरी थी. इस फिल्म के भारतीय नायक ‘बजरंगी’ के रूप में सलमान पाकिस्तान की उस मूक.बधिर बच्ची को उसके मुल्क सही.सलामत पहुंचाकर आते हैं, जो अपने परिजन से बिछड़कर भारत में ही छूट जाती है.

 

पुरोहित ने बताया कि विशेष जरूरत वाले लोगों की खातिर इंदौर में चलाये जा रहे पुलिस सहायता केंद्र के लिये उन्होंने गुजरे बरसों में ‘शोले’ (1975), ‘गांधी’ (1982), ‘मुन्नाभाई एमबीबीएस’ (2003) और ‘तारे जमीन पर’ (2007) जैसी मशहूर फिल्मों को सांकेतिक भाषा में डब किया है. सांकेतिक भाषा विशेषज्ञ ने स्पष्ट किया कि डबिंग के बाद इन फिल्मों का किसी भी तरह व्यावसायिक इस्तेमाल नहीं किया गया है.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: On Geeta’s wish, “Bajrangi Bhaijaan” to be dubbed in sign lang
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Bajrangi Bhaijaan geeta Salman Khan
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017