नारीवाद का मतलब पुरुषों को धमकाना नहीं : प्रियंका चोपड़ा

नारीवाद का मतलब पुरुषों को धमकाना नहीं : प्रियंका चोपड़ा

उन्होंने आगे कहा, "नारीवाद का मतलब यह कि जो निर्णय मैं लेती हूं उसके आधार पर आंके बगैर मुझे अवसर दीजिए, जिसकी आजादी पुरुष वर्ग को सदियों से मिली हुई है. नारीवाद को पुरुषों की आवश्यकता है."

By: | Updated: 12 Oct 2017 08:14 AM
लॉस एंजेलिस: अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने खुद को नारीवादी बताया और कहा कि लोगों को यह नहीं सोचना चाहिए कि इस शब्द का मतलब पुरुषों को धमकाना या उनसे नफरत करना होता है. प्रियंका ने वेरायटी डॉट कॉम से कहा, "नारीवाद का मतलब यह नहीं है कि आप पुरुषों को धमकाएं, उनसे नफरत करें या यह सुनिश्चित करने की कोशिश करें कि हम उनसे बेहतर हैं."

उन्होंने आगे कहा, "नारीवाद का मतलब यह कि जो निर्णय मैं लेती हूं उसके आधार पर आंके बगैर मुझे अवसर दीजिए, जिसकी आजादी पुरुष वर्ग को सदियों से मिली हुई है. नारीवाद को पुरुषों की आवश्यकता है."

प्रियंका तब निराश महसूस करती हैं, जब कोई नारीवाद को नकारता है.

priyanka-chopra

उन्होंने कहा, "मेरी बहुत-सी ऐसी दोस्त हैं, जो कहती हैं कि वह नारीवादी नहीं है. मैं यह समझ नहीं पाती हूं. नारीवाद की आवश्यकता ही इसलिए है, क्योंकि महिलाओं को समान अधिकार नहीं थे. इसलिए यहां कोई मनुष्यवाद नहीं है, क्योंकि उनके पास यह हमेशा से था."

प्रियंका ने कहा कि उनके माता-पिता ने उनकी परवरिश एक खुले विचार का इंसान बनने के लिए की थी.

उन्होंने कहा, "मेरी परवरिश निडर बनने के लिए की गई थी. मेरे पिता मुझसे हमेशा कहते थे कि महिलाओं को हमेशा से सही तरीके से रहने, सही कपड़े पहनने या सही से बात करने को कहा जाता है. लेकिन मेरे माता-पिता हमेशा कहते थे कि हमें अपनी परवरिश में भरोसा है, तुम ठीक रहोगी."

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Bollywood News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story सामने आई शादी के बाद हुई पार्टी की तस्वीर, लाल चूड़े में बला की खूबसूरत लगीं अनुष्का