प्रियंका ने संयुक्त राष्ट्र में लड़कियों के सशक्तीकरण पर जोर दिया

प्रियंका ने संयुक्त राष्ट्र में लड़कियों के सशक्तीकरण पर जोर दिया

अभिनेत्री ने तस्वीर के साथ लिखा, "संयुक्त राष्ट्र महासभा में 'ग्लोबल गोल्स अवार्ड्स' में शामिल होकर सम्मानित महसूस कर रही हूं. यह पुरस्कार लड़कियों द्वारा अपने जीवन को बदलने में निभाई गई भूमिका और सतत विकास लक्ष्यों को हासिल करने की दिशा में की गई प्रगति को दर्शाते हैं."

By: | Updated: 21 Sep 2017 08:48 AM

न्यूयॉर्क: संयुक्त राष्ट्र की सद्भावना दूत अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने यहां संयुक्त राष्ट्र महासभा में 'ग्लोबल गोल्स अवार्ड्स' के दौरान लड़कियों के सशक्तीकरण के बारे में बोला और तेजाब हमलों की शिकार महिलाओं की मदद मुहैया कराने के संबंध में काम कर रही एक महिला की तारीफ की.


बच्चियों के अधिकारों व लैंगिक समानता को लेकर मुखर रहने वाली प्रियंका ने बुधवार को सोशल मीडिया पर कार्यक्रम में अपनी मौजूदगी वाली एक तस्वीर साझा की, जिसमें एक लड़की द्वारा सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में बढ़ने को लेकर निभाई गई महत्वपूर्ण भूमिका को दर्शाया गया है.


अभिनेत्री ने तस्वीर के साथ लिखा, "संयुक्त राष्ट्र महासभा में आज रात (मंगलवार) 'ग्लोबल गोल्स अवार्ड्स' में शामिल होकर सम्मानित महसूस कर रही हूं. यह पुरस्कार लड़कियों द्वारा अपने जीवन को बदलने में निभाई गई भूमिका और सतत विकास लक्ष्यों को हासिल करने की दिशा में की गई प्रगति को दर्शाते हैं."


 



In the words of Mahatma Gandhi… “If we are to teach real peace in this world, and if we are to carry on a real war against war, we shall have to begin with the children.” It was an honor to speak at the UN Global Goals Awards on the importance of empowering girls; addressing global leaders and influencers from the United Nations, philanthropy, media, non-profits and business. We all need to come together and work to empower, educate, create opportunities and impart skill sets so that we can be their catalysts for change and to help them build their brave new world. If possible, a safe one where they can live their dreams and laugh together as one.  I had the opportunity to meet @muzoonalmellehan, @unicef’s youngest goodwill ambassador, who is doing such amazing work advocating education for Syrian girls. All in all, this was a very inspiring and uplifting night. #GlobalGoals #UNGA #ForEveryChild Please swipe for more.


A post shared by Priyanka Chopra (@priyankachopra) on






प्रियंका ने भारतीय युवती रिया शर्मा को लीडरशिप पुरस्कार प्रदान किया, जो तेजाब हमले से पीड़ित महिलाओं की मदद करती है और कहा कि उन्हें उन (रिया) पर गर्व है.

रिया 'मेक लव नॉट स्कार्स' की संस्थापक हैं.

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अभिनेत्री ने कहा कि लड़कियों के सशक्तीकरण का महत्व विषय पर बोलना और वैश्विक नेताओं को संबोधित करना उनके लिए सम्मान की बात रही.

 





Honored to have participated in the Global Goals Awards tonight at the UN General Assembly in NYC. These awards highlight the role girls play in changing their lives and in making progress towards achieving the Sustainable Development Goals (SDGs). Equally proud to have presented the Leadership Award to the amazing @ria13sharma from India for her stellar work for acid attack survivors. Ria founded Make Love Not Scars (MLNS) which is an organization that actively supports survivors of acid attacks physically and mentally, and campaigns to raise awareness of the issue. Ria’s efforts are contributing to change the lives of many women who have survived acid attacks. MLNS have ensured that survivors receive free treatment under the Supreme Court order for the welfare of acid victims passed in April 2015. #globalgoals #unga #foreverychild @unicef Please swipe for more.

A post shared by Priyanka Chopra (@priyankachopra) on



प्रियंका ने कहा कि उन्हें यूनिसेफ की सबसे कम उम्र की सद्भावना दूत मुजून अल-मेलेहान से मिलने का अवसर मिला, जो सीरियाई लड़कियों की शिक्षा के लिए अद्भुत कार्य कर रही हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Bollywood News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story अमिताभ बच्चन ने मां को दिया अपने स्टाइल का श्रेय