Review: सिर्फ 6 मिनट की शॉर्ट फिल्म 'जय हिंद' आपको बता जाती है आजादी के मायने

By: | Last Updated: Friday, 14 August 2015 3:22 PM
Raveena Tandon and Manoj Bajpayee remind short film Jai Hind review

नई दिल्ली: क्या आपको आजादी के मायने पता हैं? क्या आपने कभी सोचा है कि अगर भारत 1947 में अगर आजाद नहीं हुआ होता तो आप किस तरह की जिंदगी गुजार रहे होते? आज आप जो खुल कर कर पा रहे हैं क्या आजादी के बिना भी यह कर रहे होते?

 

इन्हीं सवालों के जवाब देती अभिनेत्री रवीना  टंडन और मनोज बाजपेयी की एक शॉर्ट फिल्म इस स्वतंत्रता दिवस से पहले रिलीज हुई है. इस फिल्म ने यह बताने की कोशिश की है कि अगर आपको आजादी की महत्ता नहीं पता तो उसे समझिए, जानिए. जय हिंद के नाम से रिलीज इस फिल्म की अवधि सिर्फ 6 मिनट है. इतने कम समय में ही यह फिल्म आपको आजादी का मतलब सीखा जाती है.

 

जय हिंद में एक मध्यमवर्गीय पति-पत्नी की कहानी को दिखाया गया है. यह कपल एक स्कूटर पर डिनर के लिए जा रहे हैं और बातचीत कर रहे हैं. इसी बीच एक कार आती है और उन्हें टक्कर मारकर चली जाती है. टक्कर लगते ही ये दोनों स्कूटर से गिर जाते हैं. उस कार से एक विदेशी आदमी निकलता है और उनकी मदद करने की बजाय ब्लडी इंडियन कहकर चला जाता है. इसके बाद मनोज वाजपेयी अपनी बीवी की हेल्प के लिए लोगों के सामने चिखता चिल्लाता है लेकिन वहां पर खड़ा हर शख्स सिर्फ तमाशा देखता है लेकिन आगे कोई नहीं आता.

 

इसके बाद मनोज अपनी बीवी रवीना को लेकर वहीं मौजूद एक रेस्टोरेंट में जाता है. इस रेस्त्रां के बाहर लिखा होता है- ‘डॉग्स एंड इंडियंस आऱ नॉट अलाउड’ (कुत्ते और भारतीय लोगों का आना मना है). यहां पर मनोज को पीट-पीट कर बाहर निकाल दिया जाता है. इन दोनों को वहां पर मौजूद लोग सड़क पर फेंक देते हैं.

 

इस फिल्म में दिखाया गया है कि शायद ऐसा ही होता अगर आज भारत आजाद नहीं होता. इसके बाद फिल्म रिवर्स करके एक्सीडेंट तक दिखाया  जाता है. इसके बाद एक लाइन आती है, ‘कितने खुशनसीब हैं हम कि हमारा जन्म एकआजाद देश में हुआ है, कि हम एक आजाद देश में जी रहे हैं, आजाद भारत में..आजादी के 68 साल पूरे होने पर हर एक स्वतंत्रता सेनानी को कोटि कोटि नमन. उन्होंने अपना सब कुछ  न्यौछावर कर दिया ताकि हम एक स्वतंत्र भारत में सांस ले सकें, जय हिंद.’

 

इसके निर्देशक विनयजायसवाल हैं, जिन्होंने भूतनाथ फिल्म को भी डायरेक्ट किया था. OYO Rooms ने एक अभियान के तहत इस शॉर्ट फिल्म को बनाया है. इन्होंने फिल्म खत्म होने के बाद लोगों से यह भी कहा है कि वे तस्वीरों को उन्हें भेजें और बताएँ कि आजादी उनके लिए क्या मायने रखती है. इस फिल्म को 12  अगस्त को यू-ट्यूब पर रिलीज किया गया था जिसे अब तक करीब चार लाक अस्सी हजार बार देखा जा चुका है.

 

इस शॉर्ट फिल्म को मनोज वाजपेयी और रवीना टंडन ने अपने बेहतरीना अभिनय से जीवंत कर दिया है.  इन दोनों ने इससे पहले अक्श फिल्म में एक साथ काम किया था. 14 साल बाद इन दोनों एक्टर्स ने एक बार फिर एक साथ दिखे हैं.

 

यह क्लिक करके ये शॉर्ट फिल्म देखें-