रीडर्स रिव्यू: 'हीरो' देखना पैसों की बर्बादी है

By: | Last Updated: Tuesday, 15 September 2015 5:53 AM
Readers Review: HERO

नई दिल्ली: एबीपी न्यूज़ ने अपने दर्शकों और पाठकों को फिल्म रिव्यू लिखने का मौका दे रहा है. फिल्म ‘हीरो’ का रिव्यू भी बहुत सारे पाठकों ने हमें लिखकर भेजा है. उनमें से पांच पाठकों के रिव्यू जो बेहतर हैं उऩ्हें यहां पर पब्लिश  कर रहे हैं.

 

Pulkit Sharma: ‘हीरो’ देखना पैसों की बर्बादी है

सलमान नसर ने अपने खुद के प्रॉडक्शन में इन एक्टर्स को लॉन्च किया है लेकिन ये फिल्म उम्मीदों पर खरी नहीं उतरती. इसका कारण है कि फिल्म में कोई कहानी ही नहीं है. ये सिर्फ दो कलाकारों के बच्चों को लॉन्च करने का एक जरिया है. ना इसमें कोई कहानी है ना ही कोई एक्टिंग. अगर इसमें सलमान खान होते तो जरूर ये फिल्म 300 करोड़ पार कर लेती क्योंकि उनकी फिल्मों को चलाने के लिए उनका नाम ही काफी है. 

फिल्म देखने के बाद पता चलता है कि पुरानी फिल्म हीरो का रिमेक बनाने की कोई जरूरत नहीं थी. लेकिन अगर यह फिल्म थोड़ी भी कामयाब होती है तो सिर्फ इसके गाने और एक्शन सीन की वजह से होगी. इसमें इंटरटेनमेंट नाम की कोई चीज नहीं  है और ना ही कोई कहानी है.  इसे देखना पैसे की बर्बादी है.

 

Kabir Khan: पुरानी हीरो से इसकी तुलना न करें

मेरे लिए अच्छी मूवी है. लोग इसे जैकी श्रॉफ की फिल्म से तुलना न करे क्योंकि इसमें नए कलाकार हैं. इन एक्टर्स ने अभी इससे डेब्यू किया है. इनकी केमेस्ट्री भी अच्छी है. फिल्म में सलमान ने एक गाना भी गाया है. फिल्म हाई बजट की नहीं है इसलिए मेरे हिसाब से मूवी अच्छी है. फिल्म अच्छी कमाई भी करेगी. मैं इसे 3.5 स्टार देता हूं.

 

Rajulraj Vatsgotri:  इसे टीवी पर देखें

एक बार जो मैंन कमिटमेंट कर ली तो फिर मैं अपने आप की भी नहीं सुनता.. शायद ये डॉयलॉग इस फिल्म पर फिट बैठती है. इसमें सिर्फ कॉस्टूयम पर ध्यान दिया गया है. एक्टिंग तो हाफ स्टार लायक भी नहीं है. सूरज पंचोली की बॉडी शो ऑफ हुई है. फिल्म काफी धीमी गति से चलती है और खत्म होने का इंतजार करना पड़ता है. गाने भी एवरेज हैं. बस इतना ही कहूंगा कि इस फिल्म को टीवी पर ही देखें इसमें पैसा ना खर्च करें. मैं इसे 1.5 स्टार देता हूं.

 

Veer Rathore: युवाओं को एक्शन पसंद आएगा

‘हीरो’ में फर्स्ट सॉंग से लेकर सलमान खान के टाइटल ट्रैक तक करीब 6 गाने हैं जो कि सभी काफी एंटरटेनिंग हैं. सूरज और आथिया के डांसिंग ट्रैक और ग्रुप डांस काफी मजेदार है.  सूरज पंचोली-आथिया शेट्टी की कैमिस्ट्र सूरज पंचोली और आथिया शेट्टी की कैमिस्ट्री आपको पहले ही सीन से नजर आ जाएगी. फिल्म में दोनों जब भी स्क्रीन पर साथ नज़र आए उनकी मासूमियत, उनका चुलबुलाबन एक दूसरे को काफी कॉम्प्लीमेंट करता नजर आया.

 

फिल्म में एक नयी जोड़ी नजर आई और स्टोरी में काफी फ्रेशनेस थी. आजकल नये स्टारकास्ट को लेकर जो भी फिल्में बनती हैं अक्सर उसमें सिर्फ रोमांस डालकर जबरदस्ती दर्शकों को परोस दिया जाता है जबकि हीरो में एक्शन का भी बराबर का तड़का था. एक्शन सीक्वेंस आजकल के यंगस्टर्स को एक्शन काफी भाता है. पिछले साल आई हीरोपंती में भी टाइगर श्रॉफ के एक्शन को लोगों ने काफी पसंद किया था. इस बार सूरज पंचोली ने बेहतरीन एक्शन सीक्वेंस दिये हैं. फिल्म की एडिंग हीरो की एंडिंग काफी मसालेदार है. फिल्म के अंत के 15 मिनट आपको सलमान खान की दबंग की याद दिला देंगे. इन आखिरी के पलों में जो एक्शन दिखाया है वो बस तालियों के लायक ही है.

 

Rima Sharma: ‘हीरो’ की पैकेजिंग अच्छी है

फिल्म के पहले से ही बता दिया जाता है कि फिल्म का हीरो सूरज पंचोली वह है तो गुंडा, लेकिन दिल का नेक है. जरूरतमंदों की मदद करता है. बॉडी बनाना उसका शगल और शौक है,  जो अच्छा बनने के दौरान पेशा बन जाता है. आप पर्दे पर कैसे दिखते हैं? फाइट और डांस में कैसे हैं? आप की जींस की फिटिंग कैसी है? हिंदी फिल्मों के हीरो की यही शर्तें हैं. इस लिहाज से सूरज निराश नहीं करते. उनकी अच्छी पैकेजिंग की गई है. उनकी बॉडी आज के किसी भी पॉपुलर स्टार से कमतर नहीं है. वे रितिक रोशन और शाहिद कपूर की तरह डांस कर सकते हैं. फाइट सीन में वे लात और मुक्का मारने में जेनेविन लगते हैं. नवोदित स्टार से पहली ही फिल्म में इमोशन, ड्रामा और एक्सप्रेशन की उम्मीद करना थोड़ी ज्यादती होगी. दस-बारह फिल्मों के बाद वह सब आ जाएगा. चल गए तो वैसे भी उन पर कौन गौर करेगा? हिंदी का उच्चारण सही नहीं है तो भी क्या फर्क पड़ता है?

 

आथिया शेट्टी को भी करीने से पेश किया गया है. बताया गया है कि वह भी आज की हिरोइनों के समान नाच-गा सकती हैं. हीरो की बांहों में उछल-कूद सकती हैं. सीन की जरूरत के मुताबिक एटीट्यूड दिखा सकती हैं. हां, आथिया पर उतनी मेहनत नहीं की गई है और न ध्यान ही रखा गया है. फिर भी पूरी फिल्म दोनों की खूबियों को बताने और कमियों को छिपाने के हिसाब से रची गई है. निखिल ने सौंपी गई जिम्मेदारी निभाई है. कह सकते हैं कि उन्होंने अपना काम ढंग से कर दिया है.

 

‘हीरो’ का रिव्यू यहां क्लिक करके देखें

वीडियो मूवी रिव्यू: ‘हीरो’ 

 

आपका वीकेंड खराब कर सकती है फिल्म ‘हीरो’, जानें क्यों ना देखें 

 

डिस्क्लेमर: ये रिव्यू लेखकों ने खुद लिखकर एबीपी न्यूज़ को भेजी है. लेख में पेश किए गए फैक्ट्स के लिये एबीपी न्यूज़ ज़िम्मेदार या जवाबदेह नहीं है.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Readers Review: HERO
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017