'ब्योमकेश बख्शी' में 1943 के कोलकाता का दोबारा सृजन करना चुनौती थी :दिबाकर

By: | Last Updated: Monday, 24 November 2014 3:15 AM
Recreating 1943 Kolkata in ‘Byomkesh’ a challenge: Dibakar

पणजी: राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता निर्देशक दिबाकर बनर्जी ने कहा कि 1940 के दशक के कोलकाता की पृष्ठभूमि में बन रही उनकी आगामी फिल्म ‘डिटेक्टिव ब्योमकेश बख्शी’ के लिए उस युग के शहर का फिर से सृजन करना उनके लिए चुनौती थी.

 

फिल्म में सुशांत सिंह राजपूत ‘डिटेक्टिव ब्योमकेश’ की भूमिका निभा रहे हैं जबकि आनंद तिवारी और बांग्ला अभिनेत्री स्वास्तिक मुखर्जी अन्य महत्वपूर्ण किरदार निभा रहे हैं.

 

दिबाकर ने कहा, ‘ब्योमकेश बख्शी मेरे करियर की सर्वाधिक चुनौतीपूर्ण फिल्म है. (तत्कालीन कलकत्ता) का फिर से सृजन करना चुनौतीपूर्ण कार्य था क्योंकि उसी वक्त कोलकाता पर जापान ने बमबारी की थी. हमने सड़क, ट्राम्स और उस युग के प्रसिद्ध चाइना टाउन का दोबारा सृजन किया. इन सबकी आवश्यकता फिल्म का चित्रण वाकई विश्वसनीय तरीके से करने के लिए थी.’

 

1940 के समय के कलकत्ता का दोबारा सृजन करने के लिए दिबाकर को काफी शोध करना पड़ा.

 

उन्होंने कहा, ‘इसपर मैंने दो साल तक शोध कार्य किया. मैंने उस समय की बेहतर समझ के लिए कई पुस्तकें पढ़ी हैं. मैंने कई लोगों से भी बातचीत की जो उस समय के शहर को याद करते हैं. मैंने 1000 तस्वीरों के जरिए शोध किया.’

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Recreating 1943 Kolkata in ‘Byomkesh’ a challenge: Dibakar
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017