शशि थरूर को नहीं नहीं भेजा गया नोटिस: दिल्ली पुलिस

By: | Last Updated: Thursday, 8 January 2015 10:09 AM
Sunanda case: No legal notice served to Tharoor, says Bassi

मौत से दो दिन पहले ही पति-पत्नी के बीच का झगड़ा दुनिया के सामने आया था. झगड़ा एक पाकिस्तानी महिला को लेकर था. वह पाकिस्तानी पत्रकार, मेहर तरार हैं. क्या वाकई शशि थरूर औऱ मेहर तरार के बीच कोई रिश्ता था? कितना गहरा रिश्ता था? ऐसा क्या होने वाला था जिसने सुनंदा को हिला कर रख दिया था? कब होने वाला था? क्या बताया था सुनंदा ने अपने दोस्तों को? जांच रिपोर्ट में सब बयान दर्ज हैं.

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस आयुक्त बीएस बस्सी ने आज स्पष्ट किया कि उन्होंने सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में उनके पति और कांग्रेसी सांसद शशि थरूर को कोई कानूनी नोटिस नहीं भेजा है.

बस्सी ने कहा, ‘‘हमने शशि थरूर को उनकी पत्नी की मौत की जांच के संबंध में कोई औपचारिक कानूनी नोटिस नहीं भेजा है. जांच के लिए जो कुछ जरूरी है, वह किया जा रहा है.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘जांच अधिकारी को और जानकारियां हासिल करनी हैं तथा सभी सबूतों की जांच और सत्यापन किया जा रहा है.’’ वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के हवाले से आई खबरों में कल कहा गया था कि दिल्ली पुलिस ने थरूर को नोटिस भेजकर उनसे उनकी पत्नी की मौत की जांच में शामिल होने के लिए कहा है.

 

खबरों के अनुसार, केरल में मौजूद थरूर से जल्द से जल्द जांच में शामिल होने के लिए कहा गया था. दिल्ली पुलिस ने सुनंदा का पोस्टमार्टम करने वाले एम्स के डाक्टरों के मेडिकल बोर्ड की अंतिम रिपोर्ट के बाद इस मामले में कुछ दिन पहले हत्या का मामला दर्ज किया था.

 

पुलिस ने इस मामले में जांच के लिए एसआईटी का गठन किया.

 

कब हुई मौत?

सुनंदा पुष्कर का शव रहस्यमयी हालात में साल 17 जनवरी 2014 को दिल्ली के पांचसितारा होटल लीला पैलेस के उस कमरे में मिला था जहां वो अपने पति शशि थरूर के साथ ठहरी हुई थीं. सुनंदा की मौत की जानकारी 17 जनवरी को शाम करीब साढ़े सात बजे खुद शशि थरूर के जरिए लोगों के सामने आई थी. इसके बाद हुए पोस्टमार्टम और विसरा की जांच के बाद जुलाई 2014 में आई अंतरिम मेडिकल रिपोर्ट में ही साफ हो गया था कि सुनंदा की मौत सामान्य नहीं है और उनकी मौत जहर से हुई है.

जिस मामले को पहले खुदकुशी करार दिया जा रहा था उसे हत्या करार देने में दिल्ली पुलिस को करीब एक साल का वक्त लग गया. मामला हाईप्रोफाइल था और राजनीति से जुड़ा था ऐसे में विरोधी शशि थरूर और सुनंदा के बीच उलझे रिश्तों के बहाने उन पर हत्या का शक जताते रहे हैं.

 

हत्या का मामला दर्ज होने के बाद बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने थरूर को फिर से घेरने की कोशिश की है. बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने इस मामले में पहले भी गृहमंत्री को चिट्ठी लिखकर मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी. अब स्वामी उस जहर का नाम भी बता रहे हैं जो दिल्ली पुलिस भी साफ तौर पर नहीं बता रही है.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Sunanda case: No legal notice served to Tharoor, says Bassi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017