मूवी रिव्यू: शौच के लिए दकियानूसी सोच से जूझती इंटरटेनिंग फिल्म है 'टॉयलेट: एक प्रेम कथा'

'टॉयलेट: एक प्रेम कथा' एक ऐसी फिल्म है जो लोगों की उस अंधविश्वासी और दकियानूसी सोच पर अटैक करती है जो अपने हिसाब से सभ्यता और संस्कृति को परिभाषित कर लेते हैं.

toilet ek prem katha movie review Akshay Kumar Bhumi pednekar Starrer Movie Latest Released Movie Review

स्टार कास्ट: अक्षय कुमार, भूमि पेडनेकर, अनुपम खेर, दिव्येंदु शर्मा, सुधीर पांडे, 

डायरेक्टर: श्रीनारायण सिंह

रेटिंग: 2.5 स्टार

‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ एक ऐसी फिल्म है  जो लोगों की उस अंधविश्वासी और दकियानूसी सोच पर अटैक करती है जो अपने हिसाब से सभ्यता और संस्कृति को परिभाषित कर लेते हैं. ये बहुत ही साधारण फिल्म है जो उन्हीं चीजों को बड़े पर्दे पर दिखाती है जो हमारे आस पास हो रही हैं या फिर हम काफी समय से देखते आ रहे हैं. चाहें वो बात बिल्ली के रास्ता काट जाने के बाद वो रास्ता बदल लेने का हो या फिर ब्याह के समय कुंडली और दोष को ध्यान में रखकर शादी रचाने का हो. उस सोच का ही नतीजा है कि आज भी घर में शौचालय की बात आते ही ये सुनने को मिलता है कि ‘जिस आंगन में तुलसी है वहां शौचालय कैसे बन सकता है.’ इस फिल्म के जरिए ये लोगों को ये घर में शौचालय के महत्व को एक प्रेम कहानी के जरिए समझाने की कोशिश की गई है.

akshay-kumar_640x480_81496930356

सदियों से ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाएं हो शौच के लिए सुबह-शाम बाहर खेतों में जाती हैं. मर्द तो खुले में कहीं भी बैठ जाते हैं लेकिन औरतों को तो पेट पकड़कर शाम होने का इंतजार करना पड़ता है. लेकिन वो आखिर कब तक ऐसा करेंगी. जब कोई एजुकेटेड महिला घर में टॉयलेट की मांग करे तो उसे ये ताना मारा जाता है कि पढ़ने लिखने के बाद दिमाग खराब हो जाता है, सभ्यता की कद्र नहीं होती… इत्यादि-इत्यादि. यहां ये संदेश देने की कोशिश की गई है कि महिलाओं को खुद की इज्जत करनी चाहिए और बाहर जाने से ऐतराज जताना चाहिए. महिलाओं को घर से बाहर जाने की आजादी हो लेकिन वो शौच के लिए नहीं.

कहानी

आपने घर में टॉयलेट ना होने पर पति से तलाक की कई खबरें पढ़ी होंगी. ये कहानी भी कुछ ऐसी है लेकिन थोड़ी बॉलीवुड टाइप की है. साइकिल की दुकान चलाने वाले केशव (अक्षय कुमार) को अमीर खानदार की लड़की जया से पहली नज़र में ही प्यार हो जाता है. प्यार परवान चढ़ता है और दोनों शादी कर लेते हैं. शादी की पहली रात ही जब महिलाएं सुबह होने से पहले जया को शौच के लिए खेतों के जाने के लिए जगाती हैं तो उसे पता चलता है कि घर में शौचालय नहीं है.

jaya

जया का कहना है कि उसे घर में टॉयलेट चाहिए. केशव की मुश्किल उसके पिता हैं जो घर में पंडित हैं और वो मानते हैं कि जिस आंगन में तुलसी है वहां टॉयलेट नहीं बन सकता है. वैसे तो ये कोई बड़ी बात नहीं है कि जैसे सारी महिलाएं लोटा लेकर खेतों में चली जाती हैं वैसे जया भी चली जाए लेकिन वो ऐसा नहीं करती है. वो केशव को छोड़कर मायके चली जाती है और फिर शुरू होती है केशव की शौचालय बनवाने के लिए घर, परिवार और समाज से लड़ाई. बात जया और केशव के तलाक तक पहुंच जाती है लेकिन शौचालय नहीं बन पाता. यहां केशव डायलॉग भी मारता है, ‘आशिकों ने तो आशिकी के लिए ताजमहल बना दिया, हम एक संडास ना बना सके.’ इसके बाद केशव अपना प्यार बचाने और लोगों की सोच से लड़ने के लिए क्या-क्या करता है यही पूरी कहानी है.

एक्टिंग

जया की भूमिका में भूमि पेडनेकर ने कमाल कर दिया है. इस फिल्म में उन्होंने खुद बेहतरीन साबित कर दिया है. इससे पहले ‘दम लगाके हईशा’ फिल्म में भी भूमि को एक्टिंग के लिए भी बहुत तारीफ मिली थी. इस फिल्म में भी भूमि ने बहुत ही शानदार एक्टिंग की है.

toilet-ek-prem-katha-movie-still

केशव के भाई की नरू की भूमिका में दिव्येंदु शर्मा हैं  और उन्होंने दिल जीत लिया है. इससे पहले प्यार का पंचनामा और चश्मे बद्दूर में अपनी एक्टिंग के लिए खूब तारीफें बटोर चुके दिव्येंदु इस फिल्म में अक्षय पर भी भारी पड़ते हैं.

अक्षय कुमार भी अपनी भूमिका के साथ न्याय करते हैं. फिल्म में उनकी एक्टिंग हो या फिर लुक दोनों में ही वो  36 साल के 12 वीं पास युवक की भूमिका के साथ न्याय कर लेते हैं. भूमि के साथ अक्षय की केमेस्ट्री भी बहुत ही दमदार है.

Sudhir-Pandey-In-Toilet-Ek-Prem-Katha-Movie-Wallpapers

इसके अलावा सुधीर पांडे ने पंडित की अपनी भूमिका में ऐसी जान डाल दी है कि उन्हें देखते समय उनसे चिढ़ हो जाती है.

म्यूजिक और कहानी

इस फिल्म की कहानी सिद्धार्थ सिंह और गरिमा बहाल ने लिखी है जो इससे पहले ‘गोलियों की रासलीला: रामलीला’ लिख चुके हैं. इस फिल्म के गाने भी इन्होंने ही लिखे हैं. इस फिल्म के एक गाने ‘गोरी तु लट्ठ मार’ में दीपिका-रणवीर के ‘लहू मुंह लग गया’ की झलक भी मिलती है.

कमियां

इस फिल्म की सबसे बड़ी परेशानी ये है कि ये अपने विषय के हिसाब से बहुत ही लंबी है. ये फिल्म 2 घंटे 35 मिनट की है जो देखते समय खत्म ही नहीं होती. फिल्म का मुद्दा तो वास्तविक है लेकिन इसका क्लाइमैक्स उतना ही फिल्मी है. फिल्म में एक साथ बहुत सारे मुद्दों को समेटने की कोशिश की गई है और इसी चक्कर में फिल्म बहुत ही ज्यादा लंबी हो गई है. कभी-कभी लगता है कि फिल्म अब खत्म हो जाती चाहिए.

akshay-kumar-

ये फिल्म पीएम मोदी के स्वच्छता अभियान को प्रमोट करने के लिए बनाई गई है जिसे अक्षय कुमार और नीरज पांडे ने प्रोड्यूस किया है. इस फिल्म में कुछ ऐसी भी बातें दिखाई गई हैं जो बहुत ही हास्यास्पद हैं. फिल्म में एक जगह दिखाया गया है कि टॉयलेट स्कीम के लिए फाइलें कई दफ्तरों से होकर गुजरती हैं जिसमें  बहुत समय लगता है. अगर जल्दी काम कराना है तो पहले उन अधिकारियों को सबक सिखाने की जरूरत है. ऐसे में एक डायलॉग आता है, ‘अगर हमारे प्रधानमंत्री देश की भलाई के लिए नोटबंदी करा सकते हैं तो हम शौचालय बनवाने के लिए सरकारी अफसरों के टॉयलेट में ताले क्यों नहीं लगवा सकते.’ तभी तो उन्हें समझ आएगा और वो काम जल्दी करेंगे. फिल्म में कई जगहों पर सरकार के बचाव वाली ऐसी लाइनें भी देखने को मिलती हैं. यही बात अखरती है कि फिल्म को फिल्म ही रहने देना चाहिए था इसे सरकार के प्रचार का जरिया बनाने की क्या जरूरत थी.

क्यों देखें-

ये एक बहुत ही साधारण सी लव स्टोरी है जो बॉलीवुड की अब तक की फिल्मों से थोड़ी अलग है. इस वीकेंड इसे फैमिली के साथ देखा जा सकता है. यहां एक सामाजिक संदेश भी है और इंटरटेनमेंट भी.

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: toilet ek prem katha movie review Akshay Kumar Bhumi pednekar Starrer Movie Latest Released Movie Review
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

गुलज़ार के जन्मदिन पर फैन्स को मिला तोहफ़ा, 1988 में बनी फिल्म ‘लिबास’ होगी रिलीज
गुलज़ार के जन्मदिन पर फैन्स को मिला तोहफ़ा, 1988 में बनी फिल्म ‘लिबास’ होगी...

मुंबई : जाने माने गीतकार और फिल्म निर्देशक गुलज़ार के 83वें जन्मदिन के मौके पर आज उनके फैन्स के...

माधुरी पर बनने वाले अमेरिकी शो की प्रोड्यूसर होंगी प्रियंका
माधुरी पर बनने वाले अमेरिकी शो की प्रोड्यूसर होंगी प्रियंका

मुंबई : बॉलीवुड की धक-धक गर्ल व डासिंग क्वीन के नाम से मशहूर अभिनेत्री माधुरी दीक्षित ने उनके...

धर्मेंद्र ने ट्विटर पर की शुरुआत
धर्मेंद्र ने ट्विटर पर की शुरुआत

मुंबई : दिग्गज अभिनेता धर्मेंद्र ने सोशल मीडिया वेबसाइट ट्विटर पर शुरुआत की है, जिस पर बेटे...

Watch : रिलीज हुआ 'भूमि' का पहला गाना 'ट्रिप्पी ट्रिप्पी', दिखा सनी का बोल्ड अंदाज
Watch : रिलीज हुआ 'भूमि' का पहला गाना 'ट्रिप्पी ट्रिप्पी', दिखा सनी का बोल्ड अंदाज

नई दिल्ली : संजय दत्त की आने वाली फिल्म ‘भूमि’ का पहला गाना ‘ट्रिप्पी ट्रिप्पी’ रिलीज हो...

मूवी रिव्यू: फीकी है 'बरेली की बर्फी'
मूवी रिव्यू: फीकी है 'बरेली की बर्फी'

स्टार कास्ट: आयुष्मान खुराना, कृति सैनन और राजकुमार राव, पंकज त्रिपाठी, सीमा पाहवा डायरेक्टर:...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017