ट्रेलर रिव्यू : ‘बजरंगी भाईजान’

By: | Last Updated: Thursday, 18 June 2015 12:27 PM

नई दिल्ली:  ये सिर्फ़ सलमान ख़ान के ज़बरदस्त स्टारडम का करिश्मा ही है कि पिछले तीन दिन से ट्विटर पर #BajrangiBhaijaanTrailerDay  ट्रेंड कर रहा था. आज बजरंगी भाईजान का ट्रेलर लॉन्च हो गया है. हम आपको बताते हैं कि ये ट्रेलर साल की इस सबसे बड़ी फिल्म के बारे में क्या बयान कर रहा है? क्या उम्मीद जगा रहा है ये ढाई मिनट का ट्रेलर?

 

ट्रेलर की शुरुआत होती है एक छोटी सी बच्ची मुन्नी से जो पाकिस्तान की सरहद पार करके किसी तरह भारत में आ गई है. मुश्किल ये है कि मुन्नी बोल नहीं सकती. क़िस्मत से मुन्नी की मुलाक़ात हो जाती है दिल्ली के चांदनी चौक में रहने वाले पवन कुमार चतुर्वेदी यानि सलमान ख़ान से, जिन्हे प्यार से सब बुलाते हैं बजरंगी भाईजान. बजरंगी कभी झूठ नहीं बोलता. मुन्नी की हालत देखकर वो उसके सामने भारत के अलग अलग शहरों के नाम लेता कि किसी शहर को पहचान ले. लेकिन मुन्नी इशारा करती है कि वो तो पाकिस्तान से आई है.

 

बजरंगी ठान लेता है कि वो मुन्नी को किसी भी तरह उसके पाकिस्तान में उसके घर छोड़कर आएगा. मगर मुन्नी के पास ना तो पासपोर्ट है, ना ही वीज़ा. और फिर सलमान बोलते हैं वो डायलॉग जिसपर थिएटर में सबसे ज़्यादा सीटियां और तालियां बजने वाली हैं-

 

“हमारे पास पासपोर्ट नहीं है, ना वीजा लेकिन हम वादा करते हैं कि अब तो हम मुन्नी को उसके घर छोड़कर ही आएंगे…”

 

और जब सलमान ऐसा कह रहे हैं तो तर्क-वितर्क की गुंजाइश कहा रह जाती है. वो कह रहे हैं कि बिना पासपोर्ट-वीज़ा के पाकिस्तान में घुस जाएंगे तो घुस जाएंगे. इससे पहले हमारे सनी पाजी (सनी देओल) भी ऐसा कर चुके हैं (ग़दर) और अकेले पाकिस्तानियों के छक्के छुड़ा चुके हैं. सलमान ख़ान तो वैसे भी सनी से कहीं बड़े स्टार हैं. अब वो ऐसा कैसे करेंगे ये फिल्म में देख लीजिएगा.

 

ज़ाहिर है कहानी में सस्पेंस भी नहीं है. हां इस फिल्म में उनके साथ उनकी मदद करने वाले पाकिस्तानी पत्रकार के रोल में बहुत अच्छे एक्टर नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी दिखाई दे रहे हैं. नवाज़ को फिल्म में कई कॉमेडी सीन दिए गए हैं.

 

स्टाइल

सलमान हर फिल्म में कुछ अलग स्टाइल देकर जाते हैं. कभी कलाई में नीला ब्रेसलेट, कभी कॉलर के पीछे फंसा चश्मा और बजरंगी भाईजान में है गले में पड़ा हनुमान जी की गदा वाला लॉकेट. इसमें कोई शक नहीं है कि आने वाले दिनों में उनके लाखों फैन्स ऐसे लॉकेट पहने नज़र आने वाले हैं.

 

वैसे सलमान की फिल्मों में हीरोइन का ज़िक्र ज्यादा नहीं होता लेकिन यहां पर करीना कपूर हैं जिन्हें शुरुआत में सलमान बहन जी कहकर संबोधित कर रहे हैं. करीना उनसे कहती है मेरा नाम बहनजी नहीं रसिका है. उनकी केमेस्ट्री में कॉमेडी नज़र आ रही है और दोनों साथ में अच्छे लग रहे हैं.

 

फिल्म की कहानी सलमान कि पिछले कुछ सालों में रिलीज़ हुई फिल्मों से अलग है और बेहतर है. लेकिन फिल्म तो सलमान की ही है तो ज़ाहिर है सलमान को चुलबुल बनाएं या प्रेम, पवन या बजंरगी, पर्दे पर वो सलमान ख़ान ही नज़र आते हैं. हो भी क्यों ना, उनके फैन्स उनके किरदार को नहीं बल्कि उन्हें ही देखने जाते हैं. 

 

तो जैसा कि ट्रेलर में गाने की आख़िरी लाइन कहती है-

“ऐसे हैं भइया बंजरंगी”

इंतज़ार कीजिए फिल्म का…