अब स्टेज पर दिखेगा 'जख्म', मुख्य भूमिका में होंगे इमरान जाहिद

By: | Last Updated: Wednesday, 20 August 2014 7:33 AM
‘Zakhm’ to be adopted on stage

नई दिल्ली: अभिनेता इमरान जाहिद बॉलीवुड के मशहूर निर्माता निर्देशक महेश भट्ट की पसंद बन चुके हैं. ‘डैडी’ प्ले के सफल मंचन के बाद महेश भट्ट एक बार फिर फिल्म ‘जख्म’ का नाट्य रूपांतरण लाने को तैयार हैं. महेश भट्ट ने इस नाटक में मुख्य भूमिका के लिए इमरान जाहिद को चुना है. 

 

इमरान जाहिद इससे पहले महेश भट्ट की फिल्म ‘अर्थ’ और ‘डैडी’ के थियेटर वर्जन का सफल मंचन कर चुके हैं. ‘डैडी’ फिल्म के लिए में अनुपम खेर और पूजा भट्ट मुख्य भूमिका में थे और उन्हें इस फिल्म के लिए भी नेशनल अवार्ड मिला था. अनुपम खेर की भूमिका को मंच पर फिर से चरितार्थ करने में इमरान जाहिद पूरी तरह सफल रहे. इसके अलावा महेश भट्ट के नाटक ‘द लास्ट सैल्यूट’ और ‘ट्रायल ऑफ एरर’ में मुख्य भूमिका निभा चुके हैं. इन सभी नाटकों के मंचन ने के बाद इमरान जाहिद के अभिनय को लोगों ने खूब सराहा.  

 

अब महेश भट्ट अब जख्म को स्टेज पर देखना चाहते हैं. ‘जख्म’ में अभिनेता अजय देवगन ने मुख्य भूमिका निभाई थी. इस फिल्म के लिए देवगन को पहला नेशनल अवार्ड भी मिला था. 

 

‘जख्म’ के नाट्य रूपांतरण की खबर को सही बताते हुए महेश भट्ट ने कहा, “हां, यह खबर सौ फीसदी सच है. ‘जख्म’ में अजय देवगन की भूमिका को मंचित करने के लिए इमरान जाहिद पूरी तरह तैयार हैं. इमरान एक प्रतिभावान अभिनेता हैं. मुझे उम्मीद है कि वह इस प्रोजेक्ट के साथ न्याय कर पाएंगे.” 

 

इस प्रोजेक्ट के लिए फिमेल लीड की तलाश जारी है. आपको बता दें कि फिल्म ‘जख्म’ में दो समुदायों के बीच हुए सांप्रदायिक तनाव को दिखाया गया था. यह फिल्म 1998 में एनडीए सरकार दौरान रिलीज हुई थी.   महेश भट्ट ने बताया, “इस फिल्म को रिलीज करने के समय मैं बहुत ही मुश्किल दौर से गुजरा. यह फिल्म बहुत ही जुनून के साथ बनाई गई थी और मुझे खुशी है कि अजय देवगन को इस फिल्म के लिए नेशनल अवार्ड मिला.”

 

दिलचस्प यह है कि जब इस फिल्म का मंचन होना है उस समय भी एनडीए की ही सरकार है. लेकिन अब महेश भट्ट को उम्मीद है कि ‘जख्म’ के नाट्य रूपांतरण में किसी तरह की कोई परेशानी खड़ी नहीं होगी.    

 

अजय देवगन की भूमिका को चरितार्थ करने के लिए इमरान जाहिद कमर कस चुके हैं. इस चुनौती के बारे में इमरान ने कहा, “’जख्म’ में अजय देवगन के बचपन की कठिनाइयों और मां के साथ उनके अनूठे बंधन को फ्लैशबैक में दिखाया गया था. फिल्म में अपने दर्द को जिस तरह अजय देवगन ने बयां किया था उसे कोई और अभिनेता नहीं कर सकता. अजय देवगन ने फिल्म में अपने दर्द को अपनी आंखो से बयां कर दिया था इसलिए मेरे लिए उनकी भूमिका को निभाना एक बहुत बड़ी चुनौती है.”

Bollywood News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ‘Zakhm’ to be adopted on stage
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

नवाजुद्दीन ने 'बाबूमोशाय बंदूकबाज' को दिल्ली में किया प्रमोट
नवाजुद्दीन ने 'बाबूमोशाय बंदूकबाज' को दिल्ली में किया प्रमोट

नई दिल्ली : बॉलीवुड अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने अपनी आगामी फिल्म ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’...

लोगों को सामाज का मन समझने में समय लगता है : अक्षय कुमार
लोगों को सामाज का मन समझने में समय लगता है : अक्षय कुमार

मुंबई : सामाजिक संदेश देने वाली फिल्मों के लिए प्रसिद्ध अक्षय कुमार का मानना है कि लोगों को...

Box Office : जानें पहले दिन 'बरेली की बर्फी' ने की है कितनी कमाई?
Box Office : जानें पहले दिन 'बरेली की बर्फी' ने की है कितनी कमाई?

मुंबई : कृति सैनन, आयुष्मान खुराना और राजकुमार राव अभिनीत फिल्म ‘बरेली की बर्फी’ ने...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017