कर्ज में डूबी किंगफिशर के नौ ट्रेडमार्क बिक्री के लिये पेश

कर्ज में डूबी किंगफिशर के नौ ट्रेडमार्क बिक्री के लिये पेश

By: | Updated: 01 Jan 1970 12:00 AM
मुंबई: किंगफिशर को कर्ज देने वाले वित्तीय संस्थानों ने बकाये की वसूली के लिये विमानन कंपनी से जुड़े नौ ट्रेडमार्क को बिक्री के लिये पेश किया है. किंगफिशर पर करोड़ों रपये बकाया हैं और उसका परिचालन भी बंद है.

 

जिन ट्रेड मार्कों को बिक्री के लिये रखा गया है, उसमें फ्लाई किंगफिशर तथा फ्लाई किंगफिशर लेबल शामिल हैं. ये दोनों केएफए के नाम पर पंजीकृत हैं और इसकी वैधता 10 जनवरी 2017 तक है. इसके अलावा फ्लाई माडल्स को बिक्री के लिये रखा गया है. यह यूनाइटेड ब्रेवरीज :एयरलाइन की प्रवर्तक: के नाम से पंजीकृत है और छह अगस्त 2014 तक वैध है.

 

एसबीआई कैप्स ट्रस्टीज ने सार्वजनिक नोटिस में कहा कि अन्य ट्रेड मार्क फ्लाई द गुड टाइम्स एंड फनलाइनर :केएफए के नाम से पंजीकृत और छह अगस्त 2014 तक वैध हैं:, किंगफिशर :लेबल: :यूबी के नाम पर पंजीकृत तथा एक नवंबर 2014 तक वैध:, प्लाइंग बर्ड डिवाइस :यूबी के नाम से पंजीकृत तथा 5 नवंबर 2014 तक वैध: को बिक्री के लिये रखा है.

 

भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई वाले 17 सदस्यीय समूह ने विजय माल्या की कंपनी किंगफिशर पर बकाये की वसूली के लिये एसबीआई कैप्स को जिम्मेदारी सौंपी हैं जो 7,500 करोड़ रपये से अधिक है. इसमें कहा गया है, ‘‘ट्रेड मार्क के मूल्य निर्धारण तथा इसमें रूचि रखने वाले पक्षों की पहचान के लिये सिक्योरिटी इंटरेस्ट :इनफोर्समेंट: रूल्स, 2002 के तहत नोटिस जारी किया गया है.’’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story CBI और ED ऐसे करेंगे नीरव-मेहुल से 11,500 करोड़ रुपये की वसूली