चुनावी तोहफे में कार, टू-व्हीलर, टीवी और कंप्यूटर भी होंगे सस्ते

By: | Last Updated: Monday, 17 February 2014 4:11 PM

नई दिल्ली: वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने आमागी आम चुनावों से पहले मध्यम वर्ग पर कुछ बोझ हल्का करने के इरादे से कुछ वस्तुओं पर उत्पाद शुल्क घटाया है जिससे कार, एसयूवी तथा दोपहिया वाहन समेत टीवी और रेफ्रिजरेटर जैसे अन्य उपभोक्ता सामान सस्ते होंगे.

 

हालांकि उन्होंने अन्य उपभोक्ता उत्पादों पर कर में वृद्धि का कोई प्रस्ताव नहीं किया है, लेकिन सभी श्रेणी के मोबाइल फोन पर लगने वाले उत्पाद शुल्क को युक्तिसंगत बनाने से 2,000 रपये से कम लागत वाले मोबाइल फोन की कीमत में मामूली वृद्धि होगी.

 

वित्त वर्ष 2014-15 का अंतरिम बजट पेश करते हुए चिदंबरम ने कहा, ‘‘नकारात्मक वृद्धि से जूझ रहे वाहन उद्योग को राहत देने के लिये, मैं उत्पाद शुल्क घटाने का प्रस्ताव करता हूं…’’ उनके प्रस्ताव के तहत छोटी कार, मोटरसाइकिल, स्कूटर्स तथा वाणिज्यिक वाहनों पर उत्पाद शुल्क 12 प्रतिशत से घटाकर 8 प्रतिशत किया गया है.

 

इसी प्रकार, स्पोर्ट्स यूटिलिटी वीकल्स :एसयूवी: पर मौजूदा 30 प्रतिशत के बजाए 24 प्रतिशत उत्पाद शुल्क लगेगा. वहीं बड़ी कार पर 27 प्रतिशत की जगह 24 प्रतिशत उत्पाद शुल्क लगेगा. इतना ही नहीं मध्यम आकार की कार पर उत्पाद शुल्क को घटाकर 24 प्रतिशत करने का प्रस्ताव किया गया है.

 

वाहन क्षेत्र को राहत देते हुए चिदंबरम ने कहा, ‘‘मैं चेसिस तथा ट्रेलर्स पर उत्पाद शुल्क घटाने का प्रस्ताव करता हूं.’’ इसके अलावा वित्त मंत्री ने केंद्रीय उत्पाद शुल्क अधिनियक के अध्याय 83 और 85 में शामिल पूंजीगत वस्तुओं तथा उपभोक्ता गैर-टिकाउ वस्तुओं पर उत्पाद शुल्क घटाने का प्रस्ताव किया.

 

इसमें टेलीविजन, रेफ्रिजरेटेर्स, कंप्यूटर्स, प्रिंटर्स, कीबोर्ड, माउस, हार्ड डिस्क्, स्कैनर्स, वैक्यूम क्लीनर्सय, डिश वाशर्स, वाटर कूलर्स, टार्च लाइट, डिजिटल कैमरा, हेयर ड्रायर, इलेक्ट्रज्ञनिक आयरन, माइक्रोवेव ओवेन, एमपी3 प्लेससय तथा डीवीडी प्लयेर्स शामिल हैं.

 

मोबाइल हैंडसेट के स्थानीय विनिर्माण को प्रोत्साहन देने के इरादे से चिदंबरम ने कहा, ‘‘मोबाइल फोन के घरेलू उत्पादन जो घट रहा, को प्रोत्साहित करने तथा आयात जो बढ़ रहा है, पर निर्भरता कम करने के लिये मैं सभी श्रेणी के मोबाइल फोन पर उत्पाद शुल्क पुनर्गठित करने का प्रस्ताव करता हूं. सेनवेट क्रेडिट के साथ दर 6 प्रतिशत या बिना सेनवेट क्रेडिट के एक प्रतिशत होगा.’’ हालांकि इससे 2,000 रपये से कम लागत वाले मोबाइल हैंडसेट की कीमत थोड़ी बढ़ेगी जो मुख्य रूप से चीन और ताइवान जैसे देशों से आयात किया जाता है.

 

इसके अलावा देश में विनिर्मित दैनिक उपयोग के सामान साबुन भी सस्ता हो सकता क्योंकि वित्त मंत्री ने औद्योगिक स्ता के गैर-खाद्य तेल तथा उसके अवयवों, फैटी एसिड तथा फैटी अल्कोहल पर लगने वाले सीमा शुल्क ढांचे को युक्तिसंगत बनाकर 7.5 प्रतिशत करने का प्रस्ताव किया है.

 

इन सबके अलावा विनिर्दिष्ट सडक निर्माण मशीनरी का घरेलू उत्पादन प्रोत्साहित करने के लिए चिदंबरम ने आयातित मशीनरी पर लगने वाली सीवीडी से छूट समापत करने का प्रस्ताव किया. करेंसी नोटों के मुद्रण के लिए प्रतिभूति कागज के प्रयोग किये जाने वाले स्वदेशी उत्पादन को प्रोत्साहित करने हेतु उन्होंने बैंक नोट पेपर मिल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा आयातित पूंजी माल पर 5 प्रतिशत रियायती सीमा शुल्क लगाने का प्रस्ताव भी किया.

 

साथ ही वित्त मंत्री ने कोर्ड ब्लड बैंक को सेवा कर से मुक्ति के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुरोध को स्वीकार कर लिया. उन्होंने चावल की लदाई, उतराई, पैकिंग, भंडारण और भंडारगृह को सेवा कर से छूट का प्रस्ताव भी किया.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: चुनावी तोहफे में कार, टू-व्हीलर, टीवी और कंप्यूटर भी होंगे सस्ते
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017