बैंकों ने रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति का स्वागत किया

By: | Last Updated: Saturday, 21 September 2013 9:30 AM

<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<b>मुंबई:</b>
बैंक अधिकारियों ने रिजर्व
बैंक की मौद्रिक नीति
घोषणाओं का स्वागत किया है.
उन्होंने रिजर्व बैंक की
मौद्रिक समीक्षा को संतुलित
तथा आगे की ओर ले जाने वाला
कदम करार देते हुए कहा है कि
इससे बैंकों की कर्ज लेने की
लागत कम होगी.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
हालांकि, देश के सबसे बड़े
भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई)
ने कुछ अलग ही रुख अपनाते हुए
कहा है कि इससे ब्याज दरें
बढ़ेंगी. एसबीआई के चेयरमैन
प्रतीप चौधरी ने कहा कि अब
व्यस्त सीजन शुरू होने जा रहा
है और कर्ज की भारी मांग है.
ऐसे में बैंकों को जमा की
काफी जरूरत है.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
उन्होंने कहा, ‘मेरा मानना है
कि जमा पर ब्याज दरें बढ़ेंगी
और बाद में उसी के हिसाब से
कर्ज पर ब्याज दरों में इजाफा
होगा.’ एसबीआई ने कल अपनी आधार
दर में 0.10 प्रतिशत की बढ़ोतरी
की है.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
आईसीआईसीआई बैंक की प्रमुख
चंदा कोचर ने बयान में कहा, ‘यह
एक संतुलित नीति है जिसमें
निकट भविष्य की चिंता पर
ध्यान दिया गया है. इसे
दीर्घावधि के आर्थिक
वातावरण के लिए सकारात्मक
दृष्टि से देखा जाना चाहिए.'<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
फेडरल बैंक के प्रबंध निदेशक
एवं मुख्य कार्यकारी श्याम
श्रीनिवासन ने कहा कि सीमांत
स्थायी सुविधा में कटौती से
उधारी की लागत कम होगी.
हालांकि, रेपो दर में बढ़ोतरी
से इसका लाभ सिमट जाएगा.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक के
मुख्य कार्यकारी सुनील कौशल
ने कहा कि महंगाई पर रिजर्व
बैंक का ध्यान देना स्वागत
योग्य है. विनिमय दरों में
उतार-चढ़ाव तथा बढ़ती महंगाई
के मद्देनजर गवर्नर ने एक
कठिन लेकिन जरूरी कदम उठाया
है.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
एचडीएफसी बैंक ने कहा कि
बाजार में शुरुआत में इससे
निराशा हुई, लेकिन वास्तव में
हम इससे संतुष्ट हैं.<br />
</p>

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: बैंकों ने रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति का स्वागत किया
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017