रिजर्व बैंक ने रेपो रेट 0.25 प्रतिशत बढ़ाया, आपकी EMI बढ़ सकती है, इस साल विकास दर 5 फीसदी से नीचे रहने का अनुमान

By: | Last Updated: Tuesday, 28 January 2014 6:29 AM

मुंबई. भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने महंगाई रोकने के लिए मुख्य नीतिगत ब्याज दरों में मंगलवार को 0.25 प्रतिशत की वृद्धि की है. इससे आवास, वाहन और अन्य ऋण महंगे हो जाएंगे.

 

रिजर्व बैंक ने भले रेपो रेट बढ़ा दिया हो लेकिन जानकारों का कहना है कि अभी हाल-फिलहाल बैंक कर्ज पर ब्याज दरें नहीं बढ़ाएंगे. अगले वित्तीय साल में ही कर्ज की दरों में फेरबदल होगा.

 

आरबीआई गवर्नर रघुराम ने कहा है कि अर्थव्यवस्था में नरमी चिंताजनक होती जा रही है. उर्जित पटेल समिति के सुझावों के मुताबिक मौद्रिक नीति की समीक्षा हर दो महीने पर होगी.

 

आऱबीआई की क्रेडिट पॉलिसी में वित्तीय साल 2013-14 में मौजूदा वित्तीय घाटा डीजीपी का 2.5 फीसदी रहने का अनुमान है जबकि पिछले साल ये जीडीपी का 4.8 फीसदी था.

 

सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर वित्त वर्ष 2013-14 में घटकर पांच प्रतिशत से कम रहने का अनुमान है. रिजर्व बैंक ने मौजूदा वित्तीय साल में विकास दर पांच फीसदी के नीचे रहने का अनुमान लगाया है. हालांकि ये भी कहा है कि अगले वित्तीय साल यानी 2014-15 में ये साढ़े पांच से 6 फीसदी तक जा सकती है. अगले वित्त वर्ष में बढ़कर 5.5 प्रतिशत होगी. रिजर्व बैंक ने रिवर्स रेपो और कैश रिजर्व रेशियो यानी सीआरआर में कोई बदलाव नहीं किया है। रिवर्स रेपो रेट सात फीसदी और सीआऱआर 4 फीसदी ही रहेगा.

 

रिजर्व बैंक की क्रिडेट पॉलिसी के एलान के बाद शेयर बाजार में लगातार गिरावट देखी जा रही है. दोपहर तक सेंसेक्स करीब सौ अंक नीचेचल रहा है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: रिजर्व बैंक ने रेपो रेट 0.25 प्रतिशत बढ़ाया, आपकी EMI बढ़ सकती है, इस साल विकास दर 5 फीसदी से नीचे रहने का अनुमान
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017