2जी स्पेक्ट्रम की नीलामी खत्म, सरकार को मिले करीब 61 हजार करोड़ रुपये

By: | Last Updated: Thursday, 13 February 2014 4:48 PM
2जी स्पेक्ट्रम की नीलामी खत्म, सरकार को मिले करीब 61 हजार करोड़ रुपये

नई दिल्ली. 2जी स्पेक्ट्रम की नीलामी खत्म हो गई है. नीलामी से सरकार को 61 हजार करोड़ रुपये मिले हैं. 10 दिन तक चली 2जी स्पेक्ट्रम नीलामी में वोडाफोन और एयरटेल जैसी बड़ी कंपनियों छाई रहीं.

 

दिल्ली, मुंबई, कोलकाता जैसे बड़े शहरों में वोडोफोन और एयरटेल ने स्पेक्ट्रम की नीलामी जीती. इस नीलामी में 900 मेगाहर्ट्ज बैंड पूरा बिक गया और बेस प्राइस से कहीं ज्यादा बोलियां लगाई गईं.

 

वहीं 1800 मेगाहर्ट्ज में पूरा बैंड तो नहीं बिका है लेकिन करीब 80 फीसदी बिक चुका है जो सरकार की उम्मीद से काफी ज्यादा है. मध्य प्रदेश, मुंबई सर्किल के लिए काफी ज्यादातर मांग देखने को मिली. सरकार को इस नीलामी से 61 हजार 162 करोड़ की कमाई हुई है.

 

उम्मीद से बेहतर स्पेक्ट्रम की नीलामी होने से सरकार काफी खुश है. टेलीकॉम मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा है कि असली खुशी तभी होगी जब उपभोक्ताओं को लाभ मिलेगा.

 

दूसरी पीढ़ी (2जी) के स्पेक्ट्रम की नीलामी में सरकार को 61,162.22 करोड़ रुपये राजस्व हासिल हुआ. यह जानकारी यहां दूरसंचार सचिव एम.एफ. फारूकी ने दी. 900 मेगाहर्ट्ज और 1,800 मेगाहर्ट्ज बैंड में पिछले कुछ दिनों से चल रही नीलामी गुरुवार को 68 चक्रों के बाद पूरी हो गई.

सरकार को 1,800 मेगाहर्ट्ज बैंड में 37,572.62 करोड़ रुपये हासिल हुए और 900 मेगाहर्ट्ज बैंड में 23,589.62 करोड़ रुपये हासिल हुए.

 

दूरसंचार सचिव ने कहा, “नीलामी समुचित तरीके से पूरी हुई. मेरे खयाल से बाजार ने पूरी प्रतिस्पर्धात्मक बोली के जरिए कीमत तय की है.”

 

नीलामी तीन फरवरी को शुरू हुई थी और इसमें आठ दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनियों ने हिस्सा लिया. इस नीलामी में 900 मेगाहर्ट्ज बैंड में 46 मेगाहर्ट्ज और 1,800 मेगाहर्ट्ज बैंड में 385 मेगाहर्ट्ज के लिए बोली लगाई गई.

 

फारूकी ने कहा कि 1,800 मेगाहर्ट्ज बैंड में कुल पेश किए गए स्पेक्ट्रम में 80 फीसदी बिक गए और 900 मेगाहर्ट्ज बैंड में सभी पेश स्पेट्रम बिक गए.

 

उन्होंने कहा, “मौजूदा कारोबारी साल में सरकार को इस नीलामी से 18,296.36 करोड़ रुपये मिलेंगे.”

 

संचार मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा, “मैं वित्त मंत्री और उपभोक्ताओं के चेहरे पर मुस्कान देखना चाहता हूं और वह तभी दिखाई देगा, जब कंपनियों द्वारा पेश सेवा अच्छी और वाजिब कीमत पर होगी.”

 

इस नीलामी के जरिए लाइसेंस 20 सालों के लिए 2034 तक के लिए दिए गए हैं.

 

उन्होंने कहा, “इस क्षेत्र में अकूत संभावना है. हमने अभी 3जी क्रांति और डाटा क्रांति की संभावना को नहीं देखा है.”

 

नीलामी में बोली लगाने वाली कंपनियों में शामिल थीं : रिलायंस कम्युनिकेशंस, रिलायंस जियो, भारती एयरटेल, वोडाफोन, टेलीविंग्स, एयरसेल, टाटा टेलीसर्विसेज और आईडिया सेल्युलर.

 

फारूकी ने कहा कि दूरसंचार विभाग विजेताओं के नाम पर काम कर रहा है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: 2जी स्पेक्ट्रम की नीलामी खत्म, सरकार को मिले करीब 61 हजार करोड़ रुपये
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017