लॉन्च होते ही विवादों के घेरे में आया एयरटेल का मुफ्त इंटरनेट देने का 'जीरो प्लान'

By: | Last Updated: Tuesday, 7 April 2015 8:10 AM

न्ई दिल्ली: देश की जानी मानी टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल ने हाल ही में मुफ्त इंटरनेट प्लान ‘एयरटेल जीरो’ लॉन्च किया है. इस प्लान के तहत ग्राहक को मुफ्त इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी.

 

इस प्लान को लॉन्च करने के बाद एयरटेल ने बताया कि ग्राहकों को यह पसंद आएगा क्योंकि इसके जरिये वे कई एप्लिकेशन्स को बिना किसी डेटा चार्ज के ही इस्तेमाल कर सकेंगे. लेकिन यहां पर ग्राहक केवल उसी वेबसाइट को ब्राउज या डाउनलोड कर सकेंगे जो एयरटेल के साथ रजिस्टर्ड होंगी. इसके लिए वे वेबसाइट्स एयरटेल को पेमेंट करेंगी. एयरटेल के साथ इस प्लान में रजिस्टर होने वाली फ्लिपकार्ट पहली बेवसाइट है. अभी तक फ्लिपकार्ट ने कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की है.

 

आपके लिए फायदा या नुकसान?

इसका आपके लिए फायदा या नुकसना की बात यह है कि अगर ऐसा होता है तो एयरटेल के यूजर तो फ्री में फ्लिपकार्ट यूज कर पाएंगे लेकिन वोडाफोन या दूसरे सर्विस प्रोवाइडर यूजर्स के लिए यह महंगा  साबित हो सकता है.

 

हालांकि  कुछ एप्‍स ऐसे हैं, जिनके लिए आपको डाटा खर्च करना पड़ सकता है. फिलहाल कंपनी ने अभी इस बात की पुष्टि नहीं की है कि कौन-कौन से एप यूजर्स को फ्री में एक्‍सेस करने को मिलेंगे. एयरटेल के कंज्‍यूमर बिजनेस सेक्‍शन के डायरेक्‍टर श्रीनि गोपालन का कहना है कि, “एयरटेल जीरो प्लान लॉन्‍च करते हुए हमें काफी खुशी हो रही है. यह इंडिया के सभी डेवलपर्स के लिए एक ओपन मार्केटिंग प्रोवाइड कराएगा.”

 

क्यों है विवाद?

जहां ग्राहक इस खबर से खुश हैं वहीं दूसरी तरफ इसे लेकर एयरटेल विवादों के घेरे में आ गया है. दरअसल इसमें कुछ ही एप्‍स ऐसे होंगे, जिन्‍हें यूजर्स फ्री में एक्‍सेस कर सकेंगे जबकि अन्य के लिए आपको डाटा चार्ज देना होगा. अगर एयरटेल का यह प्लान नेट न्यूट्रेलिटी के नियम को तोड़ता है. इसी वजह से इस पर विवाद हो रहा है लेकिन एयरटेल ने इस प्लान के द्वारा नेट न्यूट्रेलिटी के कॉन्सेप्ट को तोड़ने की खबर का खंडन किया है. एयरटेल के मुताबिक उनका प्लान हर इंटरनेट ट्रैफिक के लिए समान ट्रीटमेंट करेगा.

 

इकॉनॉमिक टाइम्स से बातचीत में इंटरनेट & मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के प्रवक्ता ने कहा, ‘सभी एप्लिकेशन्स बिना किसी भेदभाव के सभी यूजर्स के लिए उपलब्ध होनी चाहिए ना कि कुछ.’ उनका कहना है, ‘हम नेट न्यूट्रेलिटी के लिए लड़ेंगे.’

 

एयरटेल ने इस प्लान के द्वारा नेट न्यूट्रेलिटी के कॉन्सेप्ट को तोड़ने की खबर का खंडन किया है. एयरटेल के मुताबिक उनका प्लान हर इंटरनेट ट्रैफिक के लिए समान ट्रीटमेंट करेगा.

 

क्या है नेट न्यूट्रेलिटी-

नेट न्यूट्रेलिटी एक ऐसा प्रिंसिपल है जिसके द्वारा इंटरनेट कपंनियां और सरकार हर तरह के डेटा को एक समान रूप से व्यवहार करेंगीं और यूजर्स से हर एप्लिकेशन या इंटरनेट ब्राउज करने के लिए एक ही जैसा चार्ज लिया जाएगा.

 

फिलहाल किसी भी एप्लिकेशन को इस्तेमाल करने के लिए आपको एक ही इंटरनेट प्लान चाहिए, लेकिन अगर ये ‘जीरो प्लान’ लागू हुआ तो आपको एप्स के लिए अलग प्लान लेना होगा.

 

टेलीकॉम कंपनियों का कहना है कि वॉइस कॉल देने वाली एप्स से उनका रेव्न्यू घटा है, इसलिए उनकी मांग हैं कि ये कमाई उन्हें मिले. इससे कंपनियों को तो फायदा होगा, लेकिन यूजर्स के लिए परेशानी खड़ी हो जाएगी.

 

ट्राई ने फिलहाल नेट न्यूट्रेलिटी पर कोई फैसला नहीं लिया है. ट्राई ने नेट न्यूट्रेलिटी के संबंध में दूरसंचार कंपनियों से 24 अप्रैल और यूजर्स से 8 मई तक सुझाव देने के लिए कहा है.

 

अगर नेट न्यूट्रेलिटी को लागू किया जाता है तो व्हाट्सएप, स्काईप, वाइबर, चैट ऑन, इंस्टाग्राम, हाइक, वीचैट, ई-कॉमर्स साइट्स (अमेजन, फ्लिपकार्ट आदि), फेसबुक मैसेनजर, ओला, ब्लैकबैरी मैसेनजर, ऑनलाइन वीडियो गेम्स सबके लिए आपको अलग से इंटरनेट प्लान लेना होगा.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Airtel offers free internet access under ‘Zero’ plan
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017