ATM से लेन-देन सीमित करना बैंकों के लिये फायदेमंद नहीं: विशेषज्ञ

By: | Last Updated: Sunday, 16 February 2014 12:23 PM

नई दिल्ली: एटीएम से नकदी निकासी की संख्या सीमित करने का प्रस्ताव बैंकों के लिए शायद ही फायदे का सौदा हो क्योंकि विश्लेषकों का कहना है कि एटीएम के मुकाबले शाखाओं के जरिये पैसे का लेन-देन न केवल महंगा है बल्कि इससे बैंक कर्मचारियों पर बोझ भी बढ़ता है.

 

सरकार ने पिछले सप्ताह संसद में कहा था, ‘‘आईबीए ने रिजर्व बैंक को एटीएम से लेन-देन करने की संख्या सीमित करने और एटीएम शुल्क बढ़ाने का प्रस्ताव किया है. हालांकि, इस पर अभी कोई निर्णय नहीं हुआ है.’’ सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने ‘भाषा’ से कहा, ‘‘एटीएम से लेन-देन की संख्या सीमित करना बैंक उद्योग के लिये वाजिब नहीं होगा.

 

बैंक ‘ट्रांजेक्शन वाउचर स्टैटिक्स’ के अनुसार शाखा में जाकर लेन-देन की औसत लागत करीब 58 रपये है जबकि एटीएम से लेन-देन पर केवल 22 रपये लागत आती है.’’ ट्रांजेक्शन वाउचर स्टैटिक्स – बैंकों के एटीएम और बैंक शाखा से होने वाले लेनदेन की लागत से जुड़े आंकड़े हैं.

 

पिछले साल नवंबर में बेंगलूर में कारपोरेशन बैंक एटीएम में एक महिला पर बर्बर हमले के बाद बैंकों को अपने एटीएम पर 24 घंटे सशस्त्र सुरक्षा बल रखने को कहा गया. बैंकों का मानना है कि एटीएम पर हर समय सुरक्षा बल रखना आर्थिक रूप से व्यवहारिक नहीं है और इससे उनका खर्च बढ़ेगा. इसको ध्यान में रखकर भारतीय बैंक संघ :आईबीए: ने रिजर्व बैंक को एटीएम से होने वाले लेन-देन की संख्या सीमित करने तथा शुल्क बढ़ाने का प्रस्ताव किया है.

 

हालांकि, विशेषज्ञों का कहना है कि एटीएम से लेन-देन सीमित करने या उस पर शुल्क बढ़ाने से फायदा नहीं होगा. एटीएम के मुकाबले शाखाओं के जरिये लेन-देन महंगा है.

 

बैंक ऑफ इंडिया के इस अधिकारी ने कहा, ‘‘वास्तव में एटीएम के जरिये लेन-देन पर कोई प्रतिबंध नहीं होना चाहिए. इससे लेन-देन और धन का प्रवाह बढ़ेगा. अगर एटीएम से धन निकासी की संख्या को सीमित किया जाता है तो बैंक शाखाओं पर बोझ पड़ने के साथ मुद्रा प्रचलन पर भी असर पड़ेगा.’’ इस समय कोई भी ग्राहक अपने बैंक के एटीएम का उपयोग एक महीने में कई बार कर सकता है जबकि दूसरे बैंकों के एटीएम पर महीने में पांच बार लेन-देन किया जा सकता है.

 

बैंकों के बारे में जानकारी देने वाली पोर्टल ‘बैंकिंग ऑनली डॉट कॉम’ के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अमित कुमार ने भी कहा कि एटीएम से लेन-देन सीमित करने का कोई मतलब नहीं है. उन्होंने कहा, ‘‘अगर इस पर अमल होता है तो बैंकों कर्मचारियों पर बोझ बढ़ेगा और दीर्घकाल में बैंकों को कर्मचारियों की संख्या बढ़ानी होगी.’’

 

एटीएम पर 24 घंटे सुरक्षाकर्मी तैनात किये जाने पर खर्च में वृद्धि के बारे में पूछे जाने पर अधिकारी ने कहा, ‘‘खर्च को कम करने के लिये एटीएम का उपयोग बढ़ाया जाना चाहिए. इसके जरिये चेक जमा, धन हस्तांतरण, नकदी जमा करने जैसी सुविधाएं भी उपलब्ध करानी चाहिए.

 

इससे बैंक शाखाओं पर दबाव कम होगा और एटीएम को और भी फायदेमंद बनाया जा सकता है.’’ रिजर्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार नवंबर 2013 तक देश में एटीएम की संख्या 1.37 लाख से अधिक हो गयी है. इसमें बैंक शाखाओं से लगे एटीएम :आनसाइट: की संख्या 69,179 है जबकि शाखाओं से दूर एटीएम :ऑफसाइट: की संख्या 67,901 है.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ATM से लेन-देन सीमित करना बैंकों के लिये फायदेमंद नहीं: विशेषज्ञ
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

2 बैंकों ने दिया ग्राहकों को झटकाः घटा दी सेविंग खातों पर ब्याज दरें
2 बैंकों ने दिया ग्राहकों को झटकाः घटा दी सेविंग खातों पर ब्याज दरें

नई दिल्लीः अब बैंक भी ब्याज दरें घटाकर ग्राहकों को झटका दे रहे हैं. आज देश के दूसरे सबसे बड़े...

दिवालियेपन के कगार पर पहुंची जेपी इंफ्रा के घर खरीदारों के लिए दावा ठोकना हुआ आसान
दिवालियेपन के कगार पर पहुंची जेपी इंफ्रा के घर खरीदारों के लिए दावा ठोकना...

नई दिल्लीः जेपी इंफ्राटेक की परियोजनाओं में घर के लिए पैसा लगाने के लिए राहत की खबर. सरकार ने...

19 अगस्त से जयपुर में ऑनलाइन होंगे सभी वाहन प्रदूषण जांच केन्द्र
19 अगस्त से जयपुर में ऑनलाइन होंगे सभी वाहन प्रदूषण जांच केन्द्र

नई दिल्ली: देश में प्रदूषण नियंत्रण के मुद्दे पर जयपुर में नागरिकों को बड़ी सुविधा मिलने वाली...

निफ्टी 9900 के ऊपर बंद होने में कामयाब, सेंसेक्स 25 अंक ऊपर बंद
निफ्टी 9900 के ऊपर बंद होने में कामयाब, सेंसेक्स 25 अंक ऊपर बंद

नई दिल्लीः घरेलू शेयर बाजार की चाल आज सपाट रही है. ग्लोबल बाजारों से मिलेजुले संकेतों का असर...

GST के बाद रेंस्टोरेंट बिल में दिख रहे हैं SGST, CGST अलग-अलगः जानें क्यों
GST के बाद रेंस्टोरेंट बिल में दिख रहे हैं SGST, CGST अलग-अलगः जानें क्यों

नई दिल्लीः जैसा कि आप जानते ही हैं कि 1 जुलाई से जीएसटी लागू हो चुका है यानी एक देश-एक टैक्स की...

सेंसेक्स में 300 अंकों का शानदार उछाल, निफ्टी फिर 10,000 के करीब
सेंसेक्स में 300 अंकों का शानदार उछाल, निफ्टी फिर 10,000 के करीब

नई दिल्लीः आज शेयर बाजार में शानदार उछाल के साथ कारोबार बंद हुआ है. सेंसेक्स और निफ्टी दोनों...

जेपी विवाद पर बोले वित्त मंत्री: 'जिन लोगों ने पैसा लगाया है, उन्हें फ्लैट मिलना चाहिए'
जेपी विवाद पर बोले वित्त मंत्री: 'जिन लोगों ने पैसा लगाया है, उन्हें फ्लैट...

नई दिल्लीः एनसीआर में जेपी इंफ्राटेक के प्रोजेक्ट्स में घर खरीदारों के लिए थोड़ी राहत की किरण...

हिमाचल के लोगों को तोहफाः सरकार ने डीए में 4 फीसदी बढ़ोतरी का ऐलान किया
हिमाचल के लोगों को तोहफाः सरकार ने डीए में 4 फीसदी बढ़ोतरी का ऐलान किया

हिमाचल: हिमाचल प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों को आज राज्य सरकार ने तोहफा दिया है. हिमाचल प्रदेश...

नोटबंदी के बाद लोन हुए सस्ते, बैंकों की ब्याज दरें घटीं: पीएम मोदी
नोटबंदी के बाद लोन हुए सस्ते, बैंकों की ब्याज दरें घटीं: पीएम मोदी

नई दिल्ली: आज स्वतंत्रता दिवस पर देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017