नोटबंदी के दौरान कितनी रकम आई? RBI की वेबसाइट पर है दिलचस्प जानकारी !

RBI दस्तावेज के मुताबिक नोटबंदी के पूरे समय के दौरान बैंकों के ग्रॉस डिपॉजिट में सालाना आधार पर 14.5 फीसदी की बढ़ोतरी हुई. जबकि एक साल पहले इसी दौरान (11 नवंबर से 30 दिसंबर, 2015 के दौरान) इसमें 10.3 फीसदी की ही बढ़त दर्ज की गई थी.

Banks got how much cash during Demonetization Period, here is the Info

नई दिल्लीः नोटबंदी के दौरान देश में बैंकों में कितना पैसा आया इसका आधिकारिक आंकड़ा भले ही अभी जारी नहीं हुआ पर आरबीआई की वेबसाइट पर एक दिलचस्प जानकारी मिली है.

नोटबंदी के दौरान देश के अलग-अलग बैंकों में 1.6 से 1.7 लाख करोड़ रुपये की ‘‘असामान्य’’ कैश राशि जमा की गई. रिजर्व बैंक की वेबसाइट पर रखे गए एक रिसर्च पेपर में यह निष्कर्ष निकाला गया है. रिसर्च पेपर (शोध-पत्र) में यह भी कहा गया है कि नोटबंदी के बाद देश के बैंकिंग सिस्टम में अनुमानित 2.8 से लेकर 4.3 लाख करोड़ रुपये तक की रकम कैश में जमा हुई है.

‘नोटबंदी और बैंक जमा में वृद्धि’ नाम के इस रिसर्च पेपर में कहा गया है, ‘‘कुछ खास खातों में कुल मिला कर 1.6- 1.7 लाख करोड़ रुपये के दायरे में ‘‘असामान्य’’ कैश जमा हुआ है. ये खाते ऐसे हैं जिनमें लेनदेन आमतौर पर कम ही होता रहा है.’’ आरबीआई रिजर्व बैंक का ये रिसर्च पेपर बैंक के मौद्रिक नीति विभाग में निदेशक भूपाल सिंह और सांख्यिकी और सूचना प्रबंधन विभाग में निदेशक इंद्रजीत राय ने तैयार किया है.

इसमें कहा गया है कि नोटबंदी के दौरान (11 नवंबर 2016 से 30 दिसंबर 2016) के दौरान बैंकिंग सिस्टम में अतिरिक्त कैश डिपॉजिट में वृद्धि 4 से 4.7 फीसदी के बीच रही है. यदि इसमें फरवरी मध्य 2017 तक की अवधि को भी शामिल कर लिया जाये तो यह इजाफा 3.3 से 4.2 फीसदी के दायरे में रही है. इस टाइम पीरियड को कुछ और बढ़ा कर मार्च 2017 के आखिर तक के रुझानों को देखा जाए तो यह 3.0-3.8 फीसदी के दायरे में रहेगी.

दस्तावेज के मुताबिक नोटबंदी के पूरे समय के दौरान बैंकों के ग्रॉस डिपॉजिट में सालाना आधार पर 14.5 फीसदी की बढ़ोतरी हुई. जबकि एक साल पहले इसी दौरान (11 नवंबर से 30 दिसंबर, 2015 के दौरान) इसमें 10.3 फीसदी की ही बढ़त दर्ज की गई थी.

इसमें कहा गया है कि कुल मिलाकर, नोटबंदी के दौरान बैंक डिपॉजिट में उल्लेखनीय वृद्धि हुई. आरबीआई का रिसर्च पेपर साफ ये कहता है कि यदि इस स्थिति को इसी तरह बनाये रखा जाएगा तो वित्तीय बाजार में इसका अच्छे कामों के लिए इस्तेमाल किया जा सकेगा. यानी इसका बचत और पूंजी बाजार में पॉजिटिव असर देखा जाएगा.

नोटबंदी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले साल 8 नवंबर को 500 और 1000 रुपये के नोट को चलन से हटाने की घोषणा की. इन नोटों की कुल कीमत 15.4 लाख करोड़ रुपये थी. उस समय प्रचलन में रहने वाले कुल नोटों में 500-1000 रुपये के नोटों का 86.9 फीसदी हिस्सा था. नोटबंदी को कालाधन, नकली करेंसी और भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत सरकार का बड़ा कदम माना गया था.

पी चिदंबरम का सरकार पर तंज: ‘नोटबंदी की कीमत में 50,000 करोड़ रुपये और जोड़ें’

GOOD NEWS: गरीबों के लिए रसोई गैस सिलेंडर पर सब्सिडी जारी रहेगी

 

अब बिना PUC सर्टिफिकेट के कार इंश्योरेंस रिन्यूएल नहीं: सुप्रीम कोर्ट

 

BE ALERT: बैंक का काम करते हैं तो जान लें: 22 अगस्त को देशव्यापी हड़ताल

 

बड़ी गाड़ियां, SUV खरीदनी हैं तो देरी न करें: सेस बढ़ा तो महंगी होंगी कारें

 

रेल टिकट की बुकिंग के लिये आधार अनिवार्य नहीं: सरकार

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Banks got how much cash during Demonetization Period, here is the Info
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

सहारा को झटकाः एंबी वैली प्रोजेक्ट की नीलामी शुरू, रिजर्व प्राइस 37,392 करोड़ रुपये
सहारा को झटकाः एंबी वैली प्रोजेक्ट की नीलामी शुरू, रिजर्व प्राइस 37,392 करोड़...

नई दिल्लीः सहारा समूह के लिए आज बड़े झटके की खबर है. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के 3 दिन बाद आज...

जेपी इंफ्रा की संपत्ति बेच अटकी परियोजनाएं पूरी करने की संभावनाएं खंगालने में जुटी सरकार
जेपी इंफ्रा की संपत्ति बेच अटकी परियोजनाएं पूरी करने की संभावनाएं खंगालने...

नई दिल्लीः राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा और ग्रेटर नोएडा में जेपी इंफ्राटेक के घर...

जुलाई में थोक मंहगाई दर 1.88 फीसदी बढ़ी, खाने-पीने की चीजें हुईं महंगी
जुलाई में थोक मंहगाई दर 1.88 फीसदी बढ़ी, खाने-पीने की चीजें हुईं महंगी

नई दिल्लीः देश के थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित महंगाई दर जुलाई में बढ़कर 1.88 फीसदी रही. वाणिज्य...

बिहार में बाढ़ की स्थिति भयावह, नीतीश कुमार ने सेना, वायुसेना की मदद मांगी
बिहार में बाढ़ की स्थिति भयावह, नीतीश कुमार ने सेना, वायुसेना की मदद मांगी

नई दिल्लीः बिहार में बाढ़ की स्थिति लगातार भयावह बनी हुई है और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़...

AC रेस्टोरेंट के बिना एसी वाले एरिया से खाना पैक कराने पर भी 18% जीएसटी
AC रेस्टोरेंट के बिना एसी वाले एरिया से खाना पैक कराने पर भी 18% जीएसटी

नई दिल्ली: किसी होटल का एक हिस्सा अगर एयर कंडीशनर (एसी) है तो वहां से खाना पैक कराकर ले जाने या...

पी चिदंबरम का सरकार पर तंज: 'नोटबंदी की कीमत में 50,000 करोड़ रुपये और जोड़ें'
पी चिदंबरम का सरकार पर तंज: 'नोटबंदी की कीमत में 50,000 करोड़ रुपये और जोड़ें'

नई दिल्ली: नोटबंदी को लेकर कोई न कोई चर्चा बीच-बीच में उठती ही रहती है. नोटबंदी को लेकर केंद्र...

जेपी इंफ्राटेक के घर खरीदारों को दावा ठोकने के लिए 24 अगस्त तक का समय
जेपी इंफ्राटेक के घर खरीदारों को दावा ठोकने के लिए 24 अगस्त तक का समय

नई दिल्लीः दिवालिया होने की कगार पर पहुंची जेपी इंफ्राटेक की आवासीय परियोजनाओं में पैसा लगाने...

औद्योगिक विकास दर दो सालों के निचले स्तर पर
औद्योगिक विकास दर दो सालों के निचले स्तर पर

नई दिल्लीः औद्योगिक विकास का पहिया थम सा गया है, क्योंकि जून के महीने में औद्योगिक विकास दर...

पैन से आधार को जोड़ने की नहीं है कोई आखिरी तारीख: अरुण जेटली
पैन से आधार को जोड़ने की नहीं है कोई आखिरी तारीख: अरुण जेटली

नई दिल्ली: आधार को पैन से जोड़ने के लिए अब आपको जल्दबाजी करने की जरूरत नहीं है. सरकार ने आज साफ कर...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017