बिहार चुनाव: क्या राघोपुर में तेजस्वी यादव दिखा पाएंगे अपना 'तेज'

By: | Last Updated: Tuesday, 27 October 2015 3:36 AM
Bihar election: litmus test for lalus son tejasvi yadav

हाजीपुर: बिहार विधानसभा चुनाव में राजनीति के दिग्गज लालू प्रसाद अपनी राजनीतिक विरासत अपने दोनों बेटों को सौंपने की कोशिश में हैं. लालू के पुत्र क्रिकेटर तेजस्वी यादव राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की परंपरागत सीट राघोपुर से पहली बार चुनावी दंगल में हाथ आजमा रहे हैं.

 

यह सीट वैशाली जिले में पड़ती है। प्राचीन काल में वैशाली से ही लिच्छवी साम्राज्य ने गणतंत्र की बुनियाद रखी थी. यह दीगर बात है कि आज यह धरती लोकतंत्र में परिवारवाद को भी झेल रही है लालू के दूसरे पुत्र तेज प्रताप इसी जिले के महुआ विधानसभा क्षेत्र से चुनाव मैदान में हैं.

 

गंगा और गंडक की गोद में बसे वैशाली जिले के राघोपुर विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व 15 वर्ष तक लालू प्रसाद और उनकी पत्नी राबड़ी देवी ने किया है, मगर राघोपुर की जनता आज भी समस्याओं के मकड़जाल में फंसी है. पिछले चुनाव में राबड़ी देवी यहां से चुनाव हार गई थीं.

 

राघोपुर के दियारा क्षेत्र के लोगों के लिए सात महीने तक आवागमन का एकमात्र साधन नाव ही है. नाव से ही यहां के लोग पटना और हाजीपुर जाते हैं। हालत यह है कि यहां की नावों पर मोटरसाइकिल और ऑटो भी लदे मिल जाएंगे.

 

राघोपुर दियारा के अमन कहते हैं, “राघोपुर में कई चुनाव से सबसे बड़ा मुद्दा पुल रहा है और इस चुनाव में भी यही बड़ा मुद्दा है. पुल बनाने का वादा कर नेता यहां के वोट तो ले लेते हैं, लेकिन आज तक पुल नहीं बना.”

 

वे बताते हैं कि दिसंबर से जून तक राघोपुर दियारा को पटना की ओर से पीपा पुल से जोड़ा जाता है और इसी छह महीने के दौरान ही इस क्षेत्र में विवाह भी होते हैं.

 

सैदाबाद के रहने वाले रवींद्र राय कहते हैं कि यहां के छात्र-छात्राएं पटना के कॉलेजों में नामांकन तो करा लेते हैं, मगर आवागमन की सुविधा नहीं होने के कारण वे प्रतिदिन कॉलेज नहीं जा पाते. सप्ताह में एक दिन भी चले गए, तो बड़ी बात है. राघोपुर दियारा में कॉलेज नहीं है.

 

राय कहते हैं, “यहां चुनाव के समय नेता तो तरह-तरह के वादे करते हैं. उनके वादे पर विश्वास किया जाए तो लगता है कि चुनाव के बाद राघोपुर में रामराज्य आने वाला है, मगर चुनाव समाप्त होते ही नेता वादे भूल जाते हैं.”

 

राघोपुर में मिले राजद के एक कार्यकर्ता अनिल राय कहते हैं कि यह सीट नेता लालू की रही है और फिर से रहेगी. वे कहते हैं कि भाजपा को यहां कोई जानता तक नहीं. वे इशारों ही इशारों में कह गए कि राजद पूरे राज्य में जीत जाए, मगर राघोपुर में हार जाए तो यह राजद की हार होगी, महागठबंधन की नहीं.

 

पिछले चुनाव में सतीश कुमार ने अपने निकटवर्ती प्रतिद्वंदी राजद की राबड़ी देवी को 13 हजार से ज्यादा मतों के अंतर से हराकर बड़ा उलटफेर किया था, लेकिन इस चुनाव में निवर्तमान विधायक सतीश जद (यू) को छोड़कर भाजपा के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं.

 

करीब 3.15 लाख मतदाताओं वाले राघोपुर विधानसभा क्षेत्र में इस चुनाव में ऐसे तो कुल 20 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं, लेकिन मुख्य मुकाबला सत्ताधारी महागठबंधन की ओर से राजद के नेता तेजस्वी यादव और राजग की तरफ से सतीश के बीच मानी जा रही है.

 

जानकार कहते हैं कि यादव बहुल राघोपुर में किसी भी उम्मीदवार को जीतने के लिए जातीय समीकरण मजबूत करना ही मूलमंत्र है.

 

हाजीपुर के बीएम़बी कॉलेज के प्रोफेसर प्रकाश कुमार कहते हैं कि राजद के परंपरागत वोट बैंक मुसलमान और यादव मतदाता रहे हैं. यह समीकरण यहां काफी मजबूत माना जाता है. राजद के अलावा कोई अन्य पार्टी का उम्मीदवार जब तक इस समीकरण में सेंध नहीं लगा पाता, तब तक यहां जीत पाना उसके लिए मुश्किल है.

 

उनका कहना है कि पिछले चुनाव में यादव मतदाताओं में बिखराव हुआ था, जिस कारण सतीश यहां से विजयी हुए थे.

 

वैशाली जिले के वरिष्ठ पत्रकार रविशंकर सिंह कहते हैं कि राघोपुर विधानसभा क्षेत्र का राजनीतिक गणित पूरी तरह से जातिगत हिस्सेदारियों पर आधारित है. इस क्षेत्र में यादव के बाद अन्य सभी जातियां राजपूत, कोइरी और कुर्मी के अलावा अति पिछड़ा वर्ग में शामिल जातियों के मतदाताओं की संख्या एक जैसी है.

 

सिंह कहते हैं कि इस चुनाव में नीतीश कुमार और लालू प्रसाद साथ-साथ हैं, इसलिए उम्मीद की जानी चाहिए कि राघोपुर का राजनीतिक गणित उनके फार्मूले के हिसाब से एक दम निशाने पर लगे, लेकिन सतीश एकबार फिर यादव मतदाताओं में सेंध लगाने की कोशिश में हैं. राजपूत और पासवान जाति के मतदाताओं का झुकाव भी सतीश की ओर है। ऐसे में राघोपुर में मुकाबला कांटे का है.

 

बहरहाल, मतदाता मतदान से पहले कुछ भी खुलकर नहीं बोल रहे हैं, लेकिन इतना तय है कि 28 अक्टूबर को यहां के मतदाता बड़ी संख्या में मतदान केंद्र पहुंचेंगे और अपना मत देंगे.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Bihar election: litmus test for lalus son tejasvi yadav
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

2 बैंकों ने दिया ग्राहकों को झटकाः घटा दी सेविंग खातों पर ब्याज दरें
2 बैंकों ने दिया ग्राहकों को झटकाः घटा दी सेविंग खातों पर ब्याज दरें

नई दिल्लीः अब बैंक भी ब्याज दरें घटाकर ग्राहकों को झटका दे रहे हैं. आज देश के दूसरे सबसे बड़े...

दिवालियेपन के कगार पर पहुंची जेपी इंफ्रा के घर खरीदारों के लिए दावा ठोकना हुआ आसान
दिवालियेपन के कगार पर पहुंची जेपी इंफ्रा के घर खरीदारों के लिए दावा ठोकना...

नई दिल्लीः जेपी इंफ्राटेक की परियोजनाओं में घर के लिए पैसा लगाने के लिए राहत की खबर. सरकार ने...

19 अगस्त से जयपुर में ऑनलाइन होंगे सभी वाहन प्रदूषण जांच केन्द्र
19 अगस्त से जयपुर में ऑनलाइन होंगे सभी वाहन प्रदूषण जांच केन्द्र

नई दिल्ली: देश में प्रदूषण नियंत्रण के मुद्दे पर जयपुर में नागरिकों को बड़ी सुविधा मिलने वाली...

निफ्टी 9900 के ऊपर बंद होने में कामयाब, सेंसेक्स 25 अंक ऊपर बंद
निफ्टी 9900 के ऊपर बंद होने में कामयाब, सेंसेक्स 25 अंक ऊपर बंद

नई दिल्लीः घरेलू शेयर बाजार की चाल आज सपाट रही है. ग्लोबल बाजारों से मिलेजुले संकेतों का असर...

GST के बाद रेंस्टोरेंट बिल में दिख रहे हैं SGST, CGST अलग-अलगः जानें क्यों
GST के बाद रेंस्टोरेंट बिल में दिख रहे हैं SGST, CGST अलग-अलगः जानें क्यों

नई दिल्लीः जैसा कि आप जानते ही हैं कि 1 जुलाई से जीएसटी लागू हो चुका है यानी एक देश-एक टैक्स की...

सेंसेक्स में 300 अंकों का शानदार उछाल, निफ्टी फिर 10,000 के करीब
सेंसेक्स में 300 अंकों का शानदार उछाल, निफ्टी फिर 10,000 के करीब

नई दिल्लीः आज शेयर बाजार में शानदार उछाल के साथ कारोबार बंद हुआ है. सेंसेक्स और निफ्टी दोनों...

जेपी विवाद पर बोले वित्त मंत्री: 'जिन लोगों ने पैसा लगाया है, उन्हें फ्लैट मिलना चाहिए'
जेपी विवाद पर बोले वित्त मंत्री: 'जिन लोगों ने पैसा लगाया है, उन्हें फ्लैट...

नई दिल्लीः एनसीआर में जेपी इंफ्राटेक के प्रोजेक्ट्स में घर खरीदारों के लिए थोड़ी राहत की किरण...

हिमाचल के लोगों को तोहफाः सरकार ने डीए में 4 फीसदी बढ़ोतरी का ऐलान किया
हिमाचल के लोगों को तोहफाः सरकार ने डीए में 4 फीसदी बढ़ोतरी का ऐलान किया

हिमाचल: हिमाचल प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों को आज राज्य सरकार ने तोहफा दिया है. हिमाचल प्रदेश...

नोटबंदी के बाद लोन हुए सस्ते, बैंकों की ब्याज दरें घटीं: पीएम मोदी
नोटबंदी के बाद लोन हुए सस्ते, बैंकों की ब्याज दरें घटीं: पीएम मोदी

नई दिल्ली: आज स्वतंत्रता दिवस पर देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017