बिन्नी बंसल होंगे फ्लिपकार्ट के नए सीईओ

By: | Last Updated: Monday, 11 January 2016 4:50 PM
Binny Bansal is the new CEO of Flipkart

ऩई दिल्ली: जानी मानी ई कॉमर्स कंपनी, फ्लिपकार्ट में शीर्ष स्तर पर बड़ा बदलाव हुआ है. कम्पनी के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सचिन बंसल अब कार्यकारी अध्यक्ष होंगे. साथ ही पहले की ही तरह वो कंपनी बोर्ड की कमान संभालते रहेंगे. वहीं सह-संस्थापक और मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) बिनी बंसल नए सीईओ होंगे.

कंपनी के वेबसाइट पर दी गयी जानकारी के मुताबिक, सचिन आला अधिकारियों के लिए ‘मेंटॉर’ की भूमिका में होंगे. निवेश की नयी संभावनाएं तलाशेंगे और कम्पनी को नयी दिशा देने में मदद करेंगे. दूसरी ओर बिन्नी कंपनी के पूरे प्रदर्शन के लिए जवाबदेह होंगे. कॉमर्स, ई कार्ट औऱ माइन्त्रा अब सीधे-सीधे बिन्नी के अधीन होंगे. इसके साथ ही सभी प्रमुख विभाग जैसे मानव संसाधन, वित्त, विधि, कॉरपोरेट कम्युनिकेशन और कॉरपोरेट डेवलपमेंट के प्रभारी सीधे-सीधे बिन्नी को रिपोर्ट करेंगे.

15 अरब डॉलर की इस कम्पनी में ये बदलाव ऐसे समय में हुआ है जब अमेजॉन और स्नैपडील से मुकाबला गरमा रहा है. साथ ही कम्पनी नए सिरे से पैसा जुटाने की तैयारी में भी है.

बदलाव पर सचिन का कहना है कि ई कॉमर्स काफी रोमांचक दौर से गुजर रहा है और अब तक के सफर में फ्लिपकार्ट की अहम भूमिका रही है. दूसरी ओर बिन्नी ने दावा किया कि आज मोबाइल कॉमर्स के बाजार में कंपनी की हिस्सेदारी 60 फीसदी है. कंपनी के करीब पांच करोड़ ग्राहक हैं और ये स्मार्टफोन और फैशन के क्षेत्र में औरों के मुकाबले सबसे आगे है. बिन्नी ने ये भी दावा किया कि कंपनी के पास बेहतरीन प्रतिभा और तकनीक है जो ई कॉमर्स कारोबार के अगले दौर में भी मुखिया बने रहने में मदद करेंगे.

कंपनी ने ये भी ऐलान किया कि मुकेश बंसल कॉमर्स प्लेटफॉर्म के प्रमुख बने रहेंगे. मुकेश माइन्त्रा के चेयरमैन भी बने रहेंगे.

Business News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Binny Bansal is the new CEO of Flipkart
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Binny Bansal CEO FlipKart India
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017